कांग्रेस नेता (Congress leader)पंकज पूनिया की मुश्किल बढ़ी,विज ने कहा-कड़ी कार्रवाई होगी

कांग्रेस नेता पंकज पूनिया की मुश्किल बढ़ी,विज ने कहा-कड़ी कार्रवाई होगी
छिपाया गया मोबाइल पुलिस करेगी बरामद

 

Congress leader Pankaj Poonia’s difficulty increased, Vij said – strict action will be taken

 

करनाल। विवादित ट्वीट पोस्‍ट करने से फंसे कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव एवं ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सदस्य पंकज पूनिया को आज अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। पुलिस का कहना है कि आरोपित से विवादित ट्वीट में प्रयोग किया गया मोबाइल छिपा दिया है और उसे बरामद करना है। पूनिया को विवादित ट्वीट का मामला गर्माने के बाद बुधवार देर रात गिरफ्तार किया गया था। पूनिया के खिलाफ मध्‍य प्रदेश के इंदौर और उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में भी एफआइआर दर्ज की गई है। ऐसे में कांग्रेस नेता के लिए आगे मुश्किल और बढ़ सकती है। वहीं,इस मामले पर हरियाणा की सियासत भी गर्मा गई है। पनिया प्रकरण में गृह मंत्री अनिल विज ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। विज ने कहा कि पूनिया नेे जिस प्रकार की भाषा का प्रयोग किया,सभ्य समाज इसकी इजाजत नहीं देता। कानूनी प्रक्रिया के तहत पूनिया के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सैलजा ने भाजपा पर निशाना साधा
दूसरी ओर,हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा भाजपा घटिया स्तर की राजनीति पर उतर आई है। इसी सोच के साथ उसके कार्यकर्ता ने कांग्रेस अध्यक्ष अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। करनाल मेंं कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने पंकज पूनिया के इस ट्वीट से किनारा कर लिया है। उनका दावा है कि यह पूनिया का निजी ट्वीट है। पार्टी का इससे कोई लेना-देना नहीं है।

पूनिया ने मोबाइल पंचकूला में छिपाया
पुलिस का कहना है कि पूनिया ने जिस मोबाइल से विवादित ट्वीट किया था उसे पंचकूला में छिपाया है। एसपी एसएस भौरिया ने बताया कि आरोपित पंकज पूनिया को अदालत से एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। उन्होंने बताया कि देश में कुछ अन्य स्थानों पर भी उसके खिलाफ मामला दर्ज होने की बात सामने आई है।

अदालत की कार्रवाई पर संतोष:शिकायतकर्ता
शिकायतकर्ता पक्ष के वकील अभिषेक नागपाल व अशोक सिरसी ने पत्रकारों को बताया कि आरोपित को अदालत ने एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है। वहीं शिकायतकर्ता विवेक लांबा ने पुलिस व अदालत की कार्रवाई पर संतोष जताया और कहा कि उन्होंने हिंदू धर्म पर हमला करने के आरोपितों को सबक सिखाने के लिए जंग शुरू की है और वे इसे अंजाम तक पहुंचाकर ही रहेंगे। आरोपित को कम से कम दस साल कैद की सजा होनी चाहिए।
बता दें कि पंकज पूनिया ने आरएसएस और भगवान राम काे लेकर आपत्तिजनक ट्वीट किया था और इस पर काफी संख्‍या में लाेगों का गुस्‍सा फूट पडा़ था। आम लोगों के साथ कई जानी मानी हस्तियाें ने भी पूनिया को निशाने पर ले लिया था और उनकी गिरफ्तारी की मांग की थी। विवाद बढ़ने के बाद पंकज पूनिया ने ट्वीट डिलीट कर दिया था और एक अन्‍य ट्वीट पोस्‍ट कर माफी मांगी थी।
करनाल में बुधवार को पुलिस में इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई गई थी। इसके बाद देर रात पंकज पूनिया के खिलाफ आइटी एक्‍ट सहित भादसं की विभिन्‍न धाराओं तहत एफआइआर दर्ज किया गया था। बुधवार देर रात उनको गिरफ्तार किया गया था। पूरे प्रकरण में पूनिया के खिलाफ उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में भी एफआइआर दर्ज की गई और गाजियाबाद के कौशांबी थाने में भी शिकायत दी गई।

आरोपित के लिए जेल ही सही जगह : लांबा
शिकायतकर्ता विवेक लांबा ने पुलिस व अदालत की कार्रवाई पर संतोष जताया और कहा कि उन्होंने हिंदू धर्म पर हमला करने के आरोपितों को सबक सिखाने के लिए जंग शुरू की है और वे इसे अंजाम तक पहुंचाकर ही रहेंगे। आरोपित को कम से कम दस साल कैद की सजा होनी चाहिए। समाज में ऐसे व्यक्ति के लिए कोई जगह नहीं हो सकती। उन्होंने ट्वीट कर जिस प्रकार का कृत्य किया है, उसके लिए जेल में ही सही जगह है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Breaking News