महम एसडीएम कार्यालय से 562 चोरी के वाहनों की फर्जी आरसी तैयार करवाई ?  

6 क्रेशर जोन में चल रहे चोरी के डंपर अकेले अरावली में फर्जी कागजात से बनवाईं 300 आरसी,कसेगा शिकंजा

महम एसडीएम कार्यालय के कर्मचारियों से 2016 से लेकर अब तक करीब 562 चोरी के वाहनों की फर्जी आरसी तैयार करवाई ?

चरखी दादरी(अटल हिन्द ब्यूरो )लग्जरी गाड़ी चोरी करने के साथ ही आरोपी डंपर,कैंटेनर, जेसीबी, ट्रैक्टर, बाइक व स्कूटी भी चोरी कर फर्जी कागजात बनाकर बेचते थे। चोरी कर फर्जी कागजात से तैयार डंपर व जेसीबी जिले के क्रेशर जोन में चल रहे हैं। इनकी संख्या करीबन 300 से ऊपर है। रैकेट इनके फर्जी कागजात भी महम एसडीएम कार्यालय में ही तैयार करवाते थे। यह मामला नया नहीं है इससे पहले भी रैकेट में शामिल जिले का सख्स दादरी आरटीओ कार्यालय से लग्जरी गाड़ियों के दस्तावेज तैयार करवाए थे। जैसे ही गुुरुग्राम एसटीएफ के हाथ अमित कुमार प्रोडेक्शन वारंट पर लगेगा जिले से भारी मात्रा में चोरी की लग्जरी गाड़ियां व भारी वाहनों की लिस्ट सामने आएगी।

 

 

200 लग्जरी 362 अन्य वाहनों के बने फर्जी कागजात रैकेट के मुख्य सरगना अमित महम व प्रवीण दादरी ने मिलकर महम एसडीएम कार्यालय के कर्मचारियों से 2016 से लेकर अब तक करीब 562 चोरी के वाहनों की फर्जी आरसी तैयार करवाई हैं। इनमें से 200 के करीब लग्जरी गाड़ियां हैं और बाकि 362 डंपर, कैंटेनर, जेसीबी, ट्रैक्टर, बाइक, स्कूटी शामिल हैं। एसटीएफ गुरुग्राम 200 लग्जरी गाड़ियों में से 18 गाड़ी दादरी से बरामद कर चुकी है। वहीं और भी काफी अधिक गाड़ियां जिले में अभी तक दौड़ रही हैं। जो ऊपर पहुंच वाले लोगों के पास बताई जा रही हैं। वहीं 362 में से ज्यादातर डंपर, ट्रैक्टर, कैंटेनर, जेसीबी और दुपहिया वाहन भी जिले के विभिन्न क्षेत्रों में चल रहे हैं।

 

आरोपी पुलिस की गिरफ्त में,की जा रही पूछताछ
एसटीएफ की गिरफ्त में चढ़े प्रेम नगर निवासी प्रवीण कुमार व अब महम एसडीएम कार्यालय के तीनों कर्मचारियों से हुई पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है। जिले में 6 क्रेशर जोन हैं, जहां करीब 10 हजार भारी वाहन चल रहे हैं। क्रेशर जोन में काफी ऐसे डंपर, कैंटेनर व जेसीबी चल रही हैं जो चोरी की हैं और फर्जी कागजात से नई आरसी बनवाई हुई हैं। अकेले दादरी जिले के अरावली क्षेत्र में ढाई सौ से 300 के बीच चोरी के भारी वाहन चल रहे हैं।

आरटीए कार्यालय रिकाॅर्ड की भी जांच की जाएगी
महम से फर्जी आरसी बनवाने के बाद कुछ लग्जरी गाड़ियाें को दादरी ट्रांसफर करवाया गया था। ऐसे में एसटीएफ द्वारा बरामद की 18 गाड़ियों में से 6 लग्जरी गाड़ी ऐसी हैं जो महम से दादरी ट्रांसफर करवाई हुई हैं। इसलिए एसटीएफ ने दादरी एसडीएम कार्यालय से 2017 से 2020 तक का रिकार्ड जांच के लिए मांगा है। अब चोरी के डंपर, कैंटेनर व जेसीबी रिकवर होते ही आरटीए कार्यालय का रिकार्ड जांचा जा सकता है।

दादरी आरटीए ऑफिस से भी बन चुकी आरसी
पिछले वर्ष सोनीपत एसटीएफ के तत्कालीन प्रभारी इंस्पेक्टर सतीश देशवाल ने जुलाई 2019 में दादरी जिले के गांव कोहलावास निवासी निरंजन को दबोचा था। निरंजन भी चोरी की गाड़ियों के फर्जी कागजात तैयार करवा कर बेचता था। निरंजन ने सोनीपत एसटीएफ के सामने खुलासा किया था उसने 2018 से लेकर जुलाई 2019 तक दादरी आरटीए कार्यालय के कर्मचारी से सेटिंग कर करीब 50 लग्जरी गाड़ियों के फर्जी कागजात तैयार करवाए थे।

अरावली क्षेत्र में भी चल रहे चोरी के भारी वाहन
सतीश देशवाल, एसटीएफ इंस्पेक्टर, गुरुग्राम ने कहा कि चोरी की गाड़ियों के फर्जी कागजात बनवा कर बेचने वाले रैकेट से काफी खुलासे हो रहे हैं। यह रैकेट लग्जरी गाड़ियां ही नहीं बल्कि भारी वाहन भी चोरी कर फर्जी कागजात तैयार कर बेचते थे। दादरी अरावली क्षेत्र में भारी मात्रा में चोरी के डंपर, कैंटेनर, जेसीबी, ट्रैक्टर चल रहे हैं जिनके फर्जी कागजात तैयार कराए हैं। अरावली क्षेत्र से ऐसे वाहन जब्त किए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Breaking News