डॉ रमेश पूनिया ने किया बड़ा खुलासा मेयर की कोरोना रिपोर्ट जबरन नैगेटिव घोषित करने का डाला गया दबाव

डॉ रमेश पूनिया ने किया बड़ा खुलासा मेयर की कोरोना रिपोर्ट जबरन नैगेटिव घोषित करने का…

हरियाणा में चौंकाने वाली घटना रहस्यमय ढंग से कई किलोमीटर तक फटी जमीन

हरियाणा के नारनौल में चौंकाने वाली घटना रहस्यमय ढंग से कई किलोमीटर तक फटी जमीन नारनौल…

हरियाणा कोई बडा प्रोजेक्ट नही कर्ज बढ़ कर हो गया 185548 करोड़ 

    हरियाणा कोई बडा प्रोजेक्ट नही कर्ज बढ़ कर हो गया 185548 करोड़ हरियाणा पर…

कौन बनेगा मार्केट कमेटी चेयरमैन राव इंद्रजीत और जरावता के बीच होगा पहला राजनीतिक परीक्षण

कौन बनेगा मार्केट कमेटी चेयरमैन राव इंद्रजीत और जरावता के बीच होगा पहला राजनीतिक परीक्षण पटौदी…

अगर भूपेंद्र हुड्डा हरियाणा गठबंधन सरकार के बारे में सही बोल रहे है तो मतदान से पहले जनता को वोट का महत्व समझना होगा 

पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्रदेश सरकार को दिखाया आईना कहा- हरियाणा…

haryana तीन पुलिसवालों की मौत,1 होम गार्ड घायल

तीन पुलिसवालों की मौत,1 होम गार्ड घायल फतेहाबाद(अटल हिन्द ब्यूरो ) फतेहाबाद जिले के भट्टूकलां कस्बे…

जमीन फाड़ चिल्लाया विकास … लो जी , आर ओ बी सर्विस रोड एक बार फिर धंस गया

जमीन फाड़ चिल्लाया विकास … लो जी , आर ओ बी सर्विस रोड एक बार फिर…

ऐसे दिया जा रहा है हादसे को खुला निमंत्रण !

ऐसे दिया जा रहा है हादसे को खुला निमंत्रण ! कौन होगा जिम्मेदार पालिका प्रशासन या…

हरियाणा कैबिनेट में कई बड़े फैसले,-किसानों को बड़ी राहत,सीएलयू नियमों में बदलाव

हरियाणा में सोशल मीडिया को लेकर बनी पॉलिसी, जानें कैबिनेट से पास फैसले   चंड़ीगढ़,(अटल हिन्द/राजकुमार…

बनावटी प्यार

लाख मिन्नतें मांग कर जो तुझको पाया ,
थी भूल मेरी जो अब था पछताय़ा ।
हुई थी मुलाकात रहा में जो तुमसे ,
झुकी नजरों से प्यार था जताया ।
दिन बीत जाता था कठिन डगर में ,
रातों ने हमको जगना सिखाया ।
यादों में तेरी दिल में थी जो लपटें ,
जाने कैसे था ये शोला दबाया ।
घड़ी पल तब तो लगती थी साले ,
जानें वो वक़्त कैसे था हमने बिताया ।
न जानें कैसे थी जोड़ी वो दौलत ,
रात दिन था हमने लहू बहाया ।
बड़ी मूश्क्त से जगह झोंपड़ी की ,
तेरे लिए था एक आशियाँ बनाया ।
आज रहते हो तुम रजो महल में ,
दुनिया को था हमने आईना दिखाया।
रहती थी हमसे लिपट कर ए जालिम ,
आज लगता है दुश्मन मेरा साया ।
देह जर जर हुई जो मेरी अब ,
तूने मुझपर जो कहर था ढ़ाया ।
आज मेरी चौखट हुई मुझे पराई ,
भाग दुश्मन से दामन बचाया ।
न रहा अब आसरा उसको अपने घर,
आशिक उसके ने था घर से भगाया ।
पकड़े जो तूने आवारा आशिक ,
तेरी शैह पर था मुझको डराया ।
न रह सकोगी चैन से तुम उम्र भर ,
सरे राह से था जो मुझको भटकाय़ा ।

दिलाराम भारद्वाज ‘ दिल ,
करसोग , मण्डी हिमाचल प्रदेश♥

Translate »
error: Content is protected !!
Breaking News