Friday, October 19, 2018
Follow us on
Haryana

एसपी आस्था मोदी द्वारा 30-30 लाख रुपये के चैक प्रदान दो पुलिस कर्मचारियों की विधवाओं को

राजकुमार अग्रवाल | June 14, 2018 07:33 PM
राजकुमार अग्रवाल

दो पुलिस कर्मचारियों की विधवाओं को एसपी आस्था मोदी द्वारा 30-30 लाख रुपये के चैक प्रदान
एचडीएफसी बैंक के साथ हुए समझौते तहत दुर्घटना बीमा कवर योजना अंतर्गत प्रदान किए गये चैक

 कैथल-14 जून,
 दुर्घटना बीमा योजना तहत एचडीएफसी बैंक के साथ हुए समझौते तहत कार्यालय पुलिस अधीक्षक में 14 जून को एसपी आस्था मोदी द्वारा सडक़ दुर्घटना में जीवन गवांने वाले 2 पुलिस कर्मचारियों की विधवाओं को 30-30 लाख रुपये के चैक प्रदान किए गये। इस अवसर पर मृतक की विधवाओं ने कहा कि असमय काल के ग्रास बने उनके पति तो वापिस नहीं आ सकते, परंतु पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा एचडीएफसी बैंक के साथ किए गए समझौते को कल्याण कारी बताते हुए उन्होनें कहा कि इस राशी को वे अपने बच्चों की पढ़ाई, शादी तथा मकान बनाने सहित छोटा मोटा उधम/काम-धंधा शुरु करके बच्चों का बेहतर भविष्य बना सकती है। पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने संदेश दिया कि एचडीएफसी बैंक की मार्फत वेतन लेने वाले पुलिस कर्मचारी कम से कम 6 माह दौरान एक बार अपने एचडीएफसी डेबिट कार्ड को स्वैप करके जरुर कोई खरीददारी करें, इसके लिए वे अपने वाहन में पट्रोल पंप से डीजल-पट्रौल लेने सहित ऑन लाईन शापिंग या पैमेंट कर सकते है, ताकी दुर्घटना बीमा कवर हो सके, अन्यथा किसी अनहोनी के दृष्टिगत जीवन गवांने पर उनका परिवार मात्र 10 लाख रुपये ही कवर कर सकेगा।

 
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी द्वारा वीरवार की दोपहर कार्यालय पुलिस अधीक्षक में जींद निवासी स्वर्गीय एएसआई दिलबाग सिंह की विधवा शीला देवी तथा गांव दबलैन जिला जींद निवासी स्वर्गीय ईएएसआई जयपाल सिंह की विधवा संतरो देवी को एचडीएफसी बैंक द्वारा प्रदत 30-30 लाख रुपये के चैक भेंट किए गये। बता दें कि 18 मार्च की सुबह सहायक उपनिरिक्षक दिलबाग सिंह डयूटी पूरी करने उपरांत अपनी मारुती गाडी द्वारा घर जा रहा था, कि देबन के पास ओवरटेक कर रहे किसी वाहन की साईड लगने कारण उसकी गाडी पोल से टकरा गई, तथा दुर्घटना कारण उसकी मौका पर मौत हो गई। इससे पुर्व एक अन्य मामले में 19 फरवरी की सुबह ईएएसआई जयपाल सिंह नागरिक अस्पताल कैथल से डयूटी उपरांत बाइक पर सवार होकर मुख्य सडक पर निकला तो एक ट्रक की चपेट में आने कारण उसकी मौका पर मौत हो गई। आज चैक की मार्फत प्रदत्त की गई राशी एचडीएफसी बैंक के साथ हुए एक समझौतते तहत दुर्घटना बीमा कवर रुप में प्रदान की गई। प्रवक्ता ने बताया बैंक के माध्यम से कर्मचारियों को वेतन के भुगतान के लिए हरियाणा पुलिस और एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर अगस्त 2015 में हस्ताक्षर किए गये थे। एमओयू के अनुसार प्राकृतिक मृत्यु पर पुलिस कर्मचारी को दो लाख रुपये और दुर्घटना में मृत्यू होने पर 30 लाख रुपये दिए जाते है। इसके अतिरिक्त बैंक द्वारा शुन्य बैलेंस पर बैंक खाता, मुफ्त एटीएम निकासी, बैलेंस पुछताछ, और डिंमांड ड्राफ्ट जारी करने जैसी विभिन्न नि:शुल्क सेवाए भी प्रदान की जा रही है।

 
पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने कहा कि पुलिस कर्मचारियों की कठिन डयूटी को ध्यान में रखते हुए हरियाणा पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा समय-समय पर पुलिस कॢमयों के कल्याण के लिए अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए गये है। पुलिस विभाग और बैंक के बीच समझौते के तहत प्रदान की जा रही यह सुविधा पुलिस कॢमयों के बीच सुरक्षा की भावना पैदा करेगी। इस अवसर पर एचडीएफसी कलैस्टर हैड अजीतपाल ढुल, एचडीएफसी शाखा पेहवा चौक कैथल ब्रांच मैनेजर राजेंद्र वर्मा, डिप्टी मैनेजर अंकुश, पुलिस विभाग वैल्फेयर इंस्पेक्टर रमेश चंद्र, कार्यालय पुलिस अधीक्षक की लेखा शाखा प्रभारी सबइंस्पेक्टर सतप्रकाश तथा पुलिस प्रवक्ता रोशन लाल खटकड़ मौजूद रहे

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
अहीर रेजिमेंट यादव समाज का स्वाभिमान व अधिकार, केंद्र सरकार जल्द से जल्द करे इसका गठन: कुलदीप यादव
रोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में बिजली कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ किया विरोध-प्रदर्शन
खालड़ा फेन जनसेवा ग्रुप द्वारा सम्मान समारोह में उत्कृष्ट खिलाडिय़ों को किया सम्मानित
दुर्गा अष्टमी पर कन्या पूजा व भोजन ग्रहण करने के लिए श्रद्धालु ढूंढ़ते रहे कन्याएं!
जयकरण शास्त्री नांगलमाला को मिलेगा बुलंद आवाज अवार्ड, 2018
पहाड़ी माता का विशाल जागरण आज
समाजसेवी ओमशिव कौशिक को पितृशोक
क्षेत्र के गांव ढाणा में ग्रामीणों द्वारा चलाया गया सफाई अभियान
भगवान रामचंद्र की तरह प्रत्येक युवा को रहना चाहिए सत्य व नेकी के पथ पर अडिग: कुलदीप यादव
उद्योगपति बोले :- जागरूक होकर हमें भी बनना होगा बेटी बचाओ मुहिम का हिस्सा