Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
क्यों करना चाहिए व किसलिए जरूरी है श्राद्ध?सावधान, क्षेत्र में एक बार फिर चोर गिरोह सक्रिय, दुकान का शटर तोडक़र उड़ाया लाखों का सामानअमेठी सांसद राहुल गांधी की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की हुयी बैठक, राज्यमंत्री सुरेश पासी भी रहे मौजूद, बैठक में कई बार नाराज हुये अमेठी सांसद, जानिए क्यों ?घरौंडा-कई घंटे की बरसात से फ्लाईओवर पर मिट्टी व सड़क धँसीनीमा महेंद्रगढ़ ईकाई की नई कार्यकारिणी गठितअनुठी पहल: अपनी मुहिम के तहत अनेकों गांवों में पौधारोपण अभियान चला किए 500 फलदार पौधे वितरितछात्र संघ चुनाव को लेकर अभाविप की जिला स्तरीय बैठक आयोजितराजकीय प्राथमिक पाठशाला ढाणी श्योपुरा में मनाया गया राष्ट्रीय पोषण दिवस
Haryana

हृदय गति रूकने से मालड़ा सराय के लाडले सैनिक लीलाराम का निधन

सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट | July 12, 2018 07:18 PM
सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट

हृदय गति रूकने से मालड़ा सराय के लाडले सैनिक लीलाराम का निधन
राजकीय सम्मान के साथ गमगीन माहौल में किया अंतिम संस्कार


महेंद्रगढ़ (प्रिंस लांबा)।

 

गत 11 जुलाई को देर रात ड्यूटी के दौरान हृदय गति रूकने से हवलदार लीलाराम का निधन हो गया। आज उनके पार्थिव शरीर का गांव मालड़ा सराय में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। जांबाज की अंतिम विदाई के मौके पर पूरा गांव व आसपास के गांव के सैकड़ों लोग उमड़ पड़े तथा लोगों ने अश्रुपूर्ण माहौल में अपने जांबाज लाडले को अंतिम विदाई दी। आर्मी की ओर से सूबेदार महेंद्र यादव 102 गार्ड रेजीमेंट अलवर की तरफ से सैनिक के शव को तिरंगे में लेकर गांव पहुंचे तथा राजकीय सम्मान प्रदान करते हुए मातमी धून बजा, शस्त्र उल्टे कर श्रद्धांजलि दी।

सूबेदार महेंद्र यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि लीलाराम आर्मी की 102 गार्ड रेजीमेंट अलवर में हवलदार के पद पर कार्यरत था। गत 11 जुलाई को वह अपनी यूनिट के साथ किसी काम से हिसार गया हुआ था जहां देर रात्रि अचानक वह बेहोश हो गया। जिसे देखकर लीलाराम के साथियों ने उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया तथा वहां पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

उन्होंने बताया कि लीलाराम बेहद अनुशासनप्रिय, होनहार व जांबाज सैनिक था तथा मिलनसार स्वभाव के चलते वह सबसे मित्रतापूर्वक व्यवहार करता था। उनकी उम्र 37 वर्ष थी। उनके पीछे उनकी माता संतरा, पत्नी व दो लडक़े रह गए हैं। जैसे ही बृहस्पतिवार शाम को ग्रामीणों को अपने जांबाज सैनिक की मौत का पता चला तो गांव में सन्नाटा छा गया तथा शौक का गमगीन माहौल बन गया। अंतिम संस्कार के इस मौके पर पूर्व जिला प्रमुख सुरेंद्र कौशिक, सरंपच बिल्लु मालड़ा सराय, जिला पार्षद प्रदीप मालड़ा, युद्धवीर पालड़ी, कनीना सरंपच एसोसिएसन के प्रधान रविंद्र गागड़वास सहित सैकड़ों ग्रामीणों ने पुष्प अर्पित कर लाडले सैनिक को श्रदांजली दी।

 


फोटो कैप्शन: पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि देते हुए यूनिट सदस्य व ग्रामवासी।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
क्यों करना चाहिए व किसलिए जरूरी है श्राद्ध?
सावधान, क्षेत्र में एक बार फिर चोर गिरोह सक्रिय, दुकान का शटर तोडक़र उड़ाया लाखों का सामान
घरौंडा-कई घंटे की बरसात से फ्लाईओवर पर मिट्टी व सड़क धँसी
नीमा महेंद्रगढ़ ईकाई की नई कार्यकारिणी गठित
अनुठी पहल: अपनी मुहिम के तहत अनेकों गांवों में पौधारोपण अभियान चला किए 500 फलदार पौधे वितरित
छात्र संघ चुनाव को लेकर अभाविप की जिला स्तरीय बैठक आयोजित
राजकीय प्राथमिक पाठशाला ढाणी श्योपुरा में मनाया गया राष्ट्रीय पोषण दिवस
डालनवास के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की 95 वर्षीय पत्नी मोहरी देवी का निधन
सफीदों में डिटेक्टिव स्टाफ ने सात अवैध हथियारों के साथ यूपी का सप्लायर किया गिरफ्तार
बहुचर्चित रेवाड़ी गैंग रेप मामले में दो मुख्य आरोपी काबू