Tuesday, January 22, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
महागठबंधन.राजनैतिक दलों का देश हित चुनाव जीत कर सत्ता हासिल करने तक ही सीमित है?गोण्डा जिले के पसका मेला में सट्टेबाज व जुआरियों की रही चांदी, पुलिस प्रशासन मौन।पीएम मोदी से लोग नाराज होते तो महागठबंधन की जरुरत क्यों पड़तीः अरुण जेटलीपैरोल रद्द होने से भड़के ओ पी चौटाला ,कहा दिग्विजय ने पीठ में घोंपा छुरा बर्तन साफ कर रही महिला को गंडासे से काटकर निर्मम हत्या शहरी मतदाताओं की जुबान खुलती है बस इतनी...सारे बढिय़ा, माड़ा तो कोई नहीं कहीं भाजपा सरकार की नौटंकी तो नहीं है आईएमटी!जिला निर्वाचन अधिकारी अमेठी ने आगामी लोकसभा निर्वाचन को लेकर किया समीक्षा बैठक, अधिकारियों को दिया आवश्यक दिशा निर्देश
Sports

जगजीत सिरोहा बने मिस्टर यूनिवर्स बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप के उप-विजेता

रणबीर रोहिल्ला | October 21, 2018 05:49 PM
रणबीर रोहिल्ला

जगजीत सिरोहा बने मिस्टर यूनिवर्स बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप के उप-विजेता
मि. यूनिवर्स चैंपियनशिप के सीनियर वर्ग में जगजीत ने जीता तृतीय पुरस्कार
इसके पहले मिस्टर वल्र्ड का खिताब जीतकर जगजीत ने रचा था इतिहास
मि. यूनिवर्स प्रतियोगिता में 54 देशों के सैंकड़ों बॉडी बिल्डरों ने लिया हिस्सा


देश में प्रतिभा की नहीं कोई कमी, जरूरत है उसे सही ढंग से तराशने की : जगजीत सिरोहा
रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत।

 

अंतर्राष्ट्रीय मिस्टर यूनिवर्स चैंपियनशिप में ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए राठधना के जगजीत सिरोहा ने मास्टर वर्ग में उप-विजेता का खिताब जीतकर देश-प्रदेश व जिले का नाम रोशन किया है। साथ ही उन्होंने सीनियर वर्ग में तृतीय स्थान हासिल किया है। उनकी इस उपलब्धि पर गांव मेंं खुशी का माहौल है। सगे-संबंधी तथा सामाजिक संस्थाओं तथा गणमान्य व्यक्तियों ने उन्हें बधाई दी है।
राठधना के मूल निवासी जगजीत सिरोहा को बचपन से ही गठिला शरीर बनाने का शौक था। साथ ही उन्हें माडलिंग में भी खासी रूचि रही है। इन क्षेत्रों पहचान बनाने के लिए उन्होंने जी-तोड़ कड़ी मेेेहनत की। इसके लिए उन्होंंने फैशन-डिजायनिंग की लाइन में भी कदम रखा। उनका कहना है कि कद थोड़ा छोटा होने की वजह से उन्हें माडलिंग लाइन छोडऩी पड़ी, जिसके बाद उन्होंने बॉडी-बिल्डिंग की ओर कदम बढ़ाये। बॉडी-बिल्डिंग के जुनून ने उन्हें फैशन डिजायनिंग की लाइन छोडऩे पर विवश कर दिया, हालांकि वे एक नामी मल्टीनेशनल कंपनी में प्रतिमाह लाखों का वेतन ले रहे थे।
पिछले करीब आठ वर्षों से जगजीत सिर्फ और सिर्फ बॉडी-बिल्डिंग ही कर रहे हैं। बॉडी-बिल्डिंग में आसमान की ऊंचाइयां छूना ही उनका लक्ष्य है। वर्ष 2016 में उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। अभी तक वे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चार पदक जीत चुके हैं। पिछले कुछ माह पूर्व ही उन्होंने बॉडी-बिल्डिंग में मि. वल्र्ड का खिताब अपने नाम किया था। इसके उपरांत उन्होंने 13 अक्तूबर को टोरंटो (इटली) मेंं इंटरनेशनल बॉडी बिल्डिंग फिटनेस फेडरेशन के तत्वावधान में हुई मिस्टर एंड मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। उन्होंने मि. एंड मिस यूनिवर्स के दो समूहों मेंं हिस्सा लिया और दोनों में ही उन्होंने सफलता अर्जित की है। मि. एंड मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में 54 देशों के सैंकड़ों बॉडी-बिल्डरों ने हिस्सा लिया।
जगजीत सिरोहा ने चैंपियनशिप के मास्टर वर्ग तथा सीनियर वर्ग में हिस्सा लेते हुए सफलता के झंडे गाड़े। उन्होंने 35 से 70 वर्ष आयुवर्ग (मास्टर वर्ग) में द्वितीय स्थान हासिल किया, जबकि सीनियर वर्ग में वे तृतीय स्थान पर रहे। इसके पहले भी वे मिस्टर यूनिवर्स चैंपियनशिप में खेल चुके हैं और तब उन्होंने तृतीय स्थान प्राप्त किया था। अब उनका लक्ष्य अगले वर्ष जून-2019 में होने वाली मिस्टर वल्र्ड चैंपियनशिप में खेलते हुए स्वर्णिम प्रदर्शन करना है।
अंतर्राष्ट्रीय बॉडी बिल्डर जगजीत कहते हैं कि वे बॉडी-बिल्डिंग में देश को एक अलग पहचान दिलाना चाहते हैं, जिसके लिए जरूरी है कि सरकार युवाओं को इस दिशा में आगे बढ़ाने के अवसर प्रदान करें। उन्होंने कहा कि देश मेंं प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, किंतु जरूरत है उन्हें सही प्रकार से तराशने की। बॉडी बिल्डिंग कोई सरल कार्य नहीं है। सही खान-पान तथा सही कोच बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि सरकार ने गांवों में जिम तथा व्यायामशालाएं खोली हैं, किंतु सही कोच एवं निर्देशक के अभाव में उनका कोई लाभ नहीं है। इस दौरान जगजीत के पिता अनूप सिंह तथा मित्र सतीश कुमार ने उन्हें बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा कि निश्चित तौर पर जगजीत एक न एक दिन मि. यूनिवर्स का खिताब जीतेगा।

Have something to say? Post your comment
More Sports News
एस डी स्कूल की छात्राओं ने जीता गोल्ड।
7वीं वल्र्ड स्ट्रेंथ लिफ्टिंग चैंपियनशिप में लोहारू के संदीप और सचिन ने जीते तीन मेडल
हरियाणा की मिट्टी में रचा-बसा है खेल कबड्डी का : भूूप सिंह मटिंडू
रेनू ने राष्ट्रीय जूडो प्रतियोगिता में जीता रजत पदक
21वीं नार्थ इंडिया बॉक्सिंग चैंपियनशीप में सतनाली के खिलाड़ी विकेंद्र ने जीता गोल्ड मेडल
दिवेश ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए ओपन वेट पुरुष वर्ग में रजत पदक प्राप्त किया
नई खेल नीति से मिला युवाओं को प्रोत्साहन- मनोहर लाल
बालू गांव में कबड्डी टूर्नामेंट का हुआ आयोजन, अनीता ढुल बढसिकरी ने किया शुभारंभ
संस्था का मुख्य लक्षय शिक्षा व खेलों के स्तर को उच्चा उठाना- डॉ महेन्द्र सिंह मलिक
पाई की बेटियों का राष्ट्रीय स्कूली कबड्डी प्रतियोगिता के लिए हरियाणा की टीम में चयन