Thursday, January 17, 2019
Follow us on
Fashion/Life Style

टूटते नजर आ रहे हैं लोगों के बीच आपसी संवाद के पुल : प्रेरणा

छाया शर्मा | October 26, 2018 05:12 PM
छाया शर्मा

टूटते नजर आ रहे हैं लोगों के बीच आपसी संवाद के पुल : प्रेरणा
साबरमती से कशमीर जाने वाली संवाद यात्रा का तरावड़ी में कई जगह पर स्वागत
राजकीय सह-शिक्षा विद्यालय में 16 देशों के सदस्यों ने दिया संवाद को जोडऩे का संदेश


तरावड़ी, 26 अक्तूबर 

राष्ट्रीय संयोजन समिति की ओर से समाज को संवाद के पुल जोड़ कर रखने का संदेश देने के लिए साबरमती से कशमीर के लिए निकली संवाद यात्रा का तरावड़ी पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। संवाद यात्रा में शामिल जत्थे ने रात को तरावड़ी के शीशगंज गुरुद्वारा में विश्राम लिया। सुबह के समय तरावड़ी की किसान डेयरी फार्म में सामाजिक कार्यकत्र्ता रामसिंह चौधरी ने संवाद यात्रा में शामिल सदस्यों को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। वहां पर उनका जलपान भी किया गया। इसके बाद राजकीय माध्यमिक विद्यालय सह-शिक्षा तरावड़ी में जय भारत युवा मंडल की ओर से जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता सह-शिक्षा विद्यालय के प्रधानाचार्य अनिल शर्मा और हैडमास्टर बनारसी दास ने की। कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकत्र्ता रामसिंह चौधरी व सिरी गुरु तेग बहादुर पब्लिक स्कूल की प्राचार्य सरबजीत कौर ने विशेष रूप से शिरकत की। संवाद यात्रा मेंं उड़ीसा से रणजीत, गुजरात से मानसी, बम्बई से गुड्डी, मध्यप्रदेश से कलावती, उड़ीसा से अपराजिकता, मुंबई से पयोलि, बनारस से जागृति, उड़ीसा से भवानी, पूणे से श्रद्धा, यू.पी. से पुतुल, मुम्बई से प्रेरणा, उत्तराखंड से यशोदा, उड़ीसा से अनुराधा और मिन्नती, गुजरात से मीनाक्षी और रिंकल, दिल्ली से रूपल और मधू, रोहतक से सुरेश राठी समेत कई लोगों व महिलाओं ने हिस्सा लिया। सभी ने स्कूली बच्चों को बेटी और बेटे के महत्त्व को रूबरू करवाया। उन्हें बेटियों की रक्षा करने का संदेश दिया गया।

स्कूली बच्चों को जागरूक करते हुए उन्होंने बताया कि लोगों के बीच आपसी संवाद के पुल टूटते नजर आ रहे हैं। कहीं जाति तो कहीं धर्म, कहीं राजनीतिक पार्टी तो कहीं सांप्रदायिकता, कहीं लिंगभेद। सोशल मीडिया ओर व्हाटसएप के संदेश भी तोडऩे की मुहिम छेड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि हद तो यहां तक हो गई है कि हम अब घर-घर में भी अलग-अलग प्रकार का जीवन व्यतीत करते हैं, जिससे घर-घर में टूट हो रही है। ऐसी टूट समाज को खोखला बनाती है और हम जानते हैं कि खोखली दीवारें गिरती हैं तो घर का नामोनशान नही बचता है। इसके बाद जय भारत युवा मंडल कार्यालय में भी उन्होंने हरियाणा की जानकारी अर्जित की। इस अवसर पर राजकीय सह-शिक्षा विद्यालय के प्रधानाचार्य अनिल शर्मा, हैडमास्टर बनारसी दास, गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान प्रताप सिंह, सिरी गुरु तेग बहादुर पब्लिक स्कूल की प्राचार्य सरबजीत कौर, मोनिका, रोक्षी चौधरी, मोहन लाल, गायत्री, शारदा, अंजू, राजबीर, दिनेश, कमल, हसपिंद्र, गुरजिंद्र, सतपाल, सामाजिक कार्यकत्र्ता रामसिंह चौधरी, प्रगतिशील किसान नरेश चौधरी, एडवोकेट नवदीप, राष्ट्रीय युवा संगठन के अध्यक्ष रणदीप चौधरी, अध्यक्ष रोहित लामसर, उपाध्यक्ष संदीप कटारिया, विक्की अग्रवाल, प्रदीप गुलिया, नरेंद्र चौधरी समेत कई लोग मौजूद रहे।

बाक्स
अब समाज को सावधान होने की जरूरत :- सुरेश राठी
संवाद यात्रा के साथ रोहतक से पहुंचे समाजसेवी सुरेश राठी ने बताया कि अब समाज को सावधान होने की जरूरत है। संवाद के पुल यह एक खोज यात्रा है, हमारे परिवारों, संबधों और समाज के बीच का जो संवाद टूट गया है, उसे फिर से स्थापित करने की कोशिश की जा रही हैै। उन्होने कहा कि इस यात्रा में अगर कुछ खास है तो यह है कि यात्रा का नेतृत्व अलग-अलग देशों की 21 लड़कियों के हाथ में हैं। लड़कियां यानि हमारे समाज की वह धुर जिसके इर्द-गिर्द समाज चलता तो है पर वह न कहीं दिखाई देती हैं और न सुनाई देती हैं। न उसे कोई घर में महत्त्व दे रहा है और न ही समाज में।

Have something to say? Post your comment
More Fashion/Life Style News
साइकिल चलाने से बचेगा पर्यावरण-अजय क्रांतिकारी
बुलबुल ने सम्भाली गुरू की पदवी,पहनाया गया सोने का ताज
वीआ अवार्ड से सम्मानित होंगी डॉ सुलक्षणा अहलावत
सहेली से प्यार,10 लाख में सर्जरी कराके लडक़ी बना लडक़ा
फैशन एक्स की मॉडलों ने मिलेनियम सिटी में दिखाया जलवा
पूर्व मिस इंडिया मनस्वी ने शिकागो अमेरिका में पार्टी का आंयोजन किया
14 वर्षीय आरित गुप्ता ने उपन्यास लिख रचा इतिहास
वे तू लोंग ते मैं लाची, तेरे पिछे मैं गवाची . . . पर लगाए नन्हों ने ठुमके
शादीशुदा हैं तो जरूर बनवाएं मैरिज सर्टिफिकेट वरना बहुत पछताएंगे..इस तरह 100 रुपए में बनता है
एक सफल पत्रकार कैसे बना जाता है, बच्चों को सिखाए गए गुर