Monday, November 19, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सारंगढ़ भाजपा प्रत्याशी के दिन नहीं ठीक लगातार पकड़ा रहा पैसा और शराब, फिर पकड़ाया 6 लाख से अधिकग्रहों की स्थिति के अनुसार मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हारेगी भाजपा: ज्योतिषाचार्य भारद्वाजरेपिस्ट मानसिकता वाले है मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर: जयहिन्ददुष्कर्म पर मुख्यमंत्री ने शर्मनाक ब्यान देकर महिलाओं के प्रति अपनी मानसिकता दिखाई: प्रेमवती गोयत कैथल के मुख्य रेलवे स्टेशन पर आकर रुकी तो बेरोजगार युवाओं की एक लंबी और असंख्य भीड़ रेल पर टूट पड़ी मानो उनका यह आक्रमण करने का ईशारा होअटल हिन्द वेब पोर्टल के नरवाना संवाददाता नरेंद्र जेठी सम्मानित अटल हिन्द की पत्रकार छाया शर्मा हरियाणा सरकार की मंत्री कविता जैन के साथबीजेपी विधायक के पति ने कहा मुझे सी एम योगी से जान का खतरा
Haryana

दीपावली पर्व पर विशेष: आज धनतेरस से शुरू होगा पांच दिवसीय पर्व

सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट | November 04, 2018 06:15 PM
सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट

दीपावली पर्व पर विशेष: आज धनतेरस से शुरू होगा पांच दिवसीय पर्व


पांच दिवसीय पर्व में प्रत्येक दिन का है विशेष महत्त्व: जयकरण शास्त्री


हिंदु धर्म के सभी त्योहारों से बड़ा माना जाता है दीपावली महोत्सव


इस पर्व के प्रत्येक दिवस पर दीपकों की रहती है विशेष भूमिका


सतनाली मंडी (प्रिंस लांबा)।

 

दीपों के त्योहार दीपावली का पांच दिवसीय पर्व सोमवार को धनतेरस से शुरू होगा। इस पांच दिवसीय पर्व में प्रत्येक दिन का विशेष महत्त्व होता है। हिंदू धर्म के सभी पर्वों में रोशनी से जगमगाता दीपावली का पर्व सबसे बड़ा माना जाता है। इस बारे में नांगलमाला निवासी वास्तु शास्त्री पंडित जयकरण शास्त्री ने बताया कि दीपोत्सव के पावन अवसर पर हर तरफ खुशियों छाई रहती हैं। यह पर्व सभी पर्वों में सबसे विशेष हैं क्योंकि पांच दिन तक इस त्योहार की रोशनी जगमगाती रहती है। लोग इस पर्व की तैयारियां माह भर पूर्व से ही आरंभ कर देते हैं। प्रत्येक त्योहार की तरह इस पर्व की भी पौराणिक कथा है।

 



धनतेरस से आरंभ होता है पांच दिवसीय पर्व:
दीपावली का पांच दिवसीय पर्व धनतेरस से शुरू होता है। धनतेरस कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाता है। इस दिन धन्वंतरि जयंती भी मनाई जाती है। धन्वंतरि को देवताओं का वैद्य तथा आयुर्वेद चिकित्सा का जनक माना जाता है। पुराणों के अनुसार समुद्र मंथन के समय धन्वंतरी सफेद अमृत कलश लेकर पृथ्वी लोक पर अवतरित हुए थे।

 



पर्व के दूसरे दिन मनाई जाती है नरक चतुर्दशी:
पांच दिवसीय पर्व में इस दिन का भी काफी महत्त्व होता है। दीपावली से एक दिन पूर्व मनाया जाने वाला यह दिन नरक चतुर्दशी के नाम से जाना जाता है। नरक चतुर्दशी कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी के दिन मनाई जाती है। इस दिन सांयकाल में भगवान कुबेर की पूजा कर दीपदान करना चाहिए तथा नरकासुर की स्मृति में चार दीपक भी जलाने चाहिएं।

 



तीसरे दिन होता है दीपों का महोत्सव दीपावली:
इस पर्व के तीसरे दिन दीपों का महोत्सव दीपावली मनाया जाता है। यह महोत्सव कार्तिक कृष्ण अमावस्या के दिन मनाया जाता है। इस दिन महालक्ष्मी तथा कुबेर की पूजा भी की जाती है। घरों में लक्ष्मी के नैवेद्य हेतु पकवान बनाए जाते हैं। शुभ मुहूर्त, गोधूलि बेला अथवा सिंह लग्न में लक्ष्मी का वैदिक या पौराणिक मंत्रों से पूजन किया जाता है। इसके बाद पूजा के पश्चात घर के सभी मंगल स्थानों पर दीपक लगाने चाहिएं।

 



पर्व के चौथे दिन की जाती है गोवर्धन पूजा:
यह महोत्सव कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा के दिन मनाया जाता है। इसे गोवर्धन पूजा या अन्नकूट महोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन गाय-बछड़ों एवं बैलों की पूजा की जाती है। गोवर्धन पूजा के दिन महिलाएं शुभ मुहूर्त में घर आंगन में गोबर से गोवर्धन बनाती हैं तथा बाद में गायों की पूजा करती हैं।

 



अंतिम दिवस को मनाया जाता है भाई दूज:
पांच दिवसीय इस पर्व के अंतिम दिन भाई दूज होता है। यह कार्तिक शुक्ल द्वितीया के दिन मनाया जाता है। इसे यम द्वितीया के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन प्रात:काल उठकर चंद्रमा के दर्शन करना चाहिए तथा बाद में बहनों द्वारा भाईयों को तिलक आदि लगाया जाता है। इस दिन भाई को अपने साम्र्थयानुसार बहन का वस्त्र, द्रव्य आदि से सत्कार करना चाहिए। जिससे धन, यश, आयुष्य, धर्म, अर्थ एवं सुख की प्राप्ति होती है।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
रेपिस्ट मानसिकता वाले है मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर: जयहिन्द
दुष्कर्म पर मुख्यमंत्री ने शर्मनाक ब्यान देकर महिलाओं के प्रति अपनी मानसिकता दिखाई: प्रेमवती गोयत
कैथल-कुरुक्षेत्र रोड़ पर हांसी बुटाना नहर के पास मिला लेक्चरर का शव
कैथल-सामाजिक संस्थाओं ने कैथल में बेरोजगारो के लिए लगाया लंगर, रहने की व्यवस्था भी की
आगामी विधानसभा चुनाव इनेलो की सभी प्रत्याशियों की जमानत जब्त होगी:राठौर
ढांड-कुरुक्षेत्र रोड बाईपास पर सड़कें बन रही है दुर्घटनाओ का कारण
हरियाणा की तरह ही ओडि़शा के लोग भी है प्रतिभा के धनी-राज्यपाल प्रौ० गणेशीलाल
कैथल बाईसाइकिल क्लब द्वारा आज पार्क रोड़ पर बनाई गई नेकी की दीवार पर देश प्रदेश से आए बेरोजगार युवक युवतियों के लिए लगाया ब्रेड पकौड़े व चाय का लंगर
शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग व प्राणायाम ही एकमात्र विकल्प-डा0 धूपसिंह मलिक
भाजपा के 4 साल को बेमिसाल बताकर भाजपा नेताओं ने किया सत्ता वापसी का दावा