Tuesday, April 23, 2019
BREAKING NEWS
ललित के समर्थन में 84 पाल ने की पंचायत, टिकट काटने में षड्यंत्र रचा गया निजी स्कूलों को मिली चेतावनी, 23 अप्रैल तक सीटों की जानकारी दें, या अन्यथा होगी कार्रवाईबेकसूर धर्म पाल 3 साल से बंद हॉन्ग कॉन्ग की जेल मेंसैंकड़ों महिला पुरूषों ने एसडीएम कार्यालय का घेराव कर सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार किया प्रदर्शनकृपया किसी भी पार्टी के प्रत्याशी वोट मांगकर शर्मिंदा न करेंवर्तमान समय में कानूनी साक्षरता का महत्व बढ़ गया है-प्रियंका सोनीकृष्णपाल गुर्जर ने चुनावी सभा में मनमोहन गर्ग को दिया विधानसभा के लिये आशीर्वाद।रोहित लामसर बने बॉडी बिल्डिंग एवं फिटनेस एसोसिएशन के मीडिया प्रभारीकैथल एसपी के साथ कैथल के गणमान्य व्यक्तियों बैठक ,कहा यातायात व्यस्था सुधारने में जनता सहयोग करे ऐलनाबाद-स्कूल संचालिका द्वारा 11वर्षीय छात्र के साथ मारपीट करने का मामला

Haryana

दीपावली पर्व पर विशेष: आज धनतेरस से शुरू होगा पांच दिवसीय पर्व

November 04, 2018 06:15 PM
सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट

दीपावली पर्व पर विशेष: आज धनतेरस से शुरू होगा पांच दिवसीय पर्व


पांच दिवसीय पर्व में प्रत्येक दिन का है विशेष महत्त्व: जयकरण शास्त्री


हिंदु धर्म के सभी त्योहारों से बड़ा माना जाता है दीपावली महोत्सव


इस पर्व के प्रत्येक दिवस पर दीपकों की रहती है विशेष भूमिका


सतनाली मंडी (प्रिंस लांबा)।

 

दीपों के त्योहार दीपावली का पांच दिवसीय पर्व सोमवार को धनतेरस से शुरू होगा। इस पांच दिवसीय पर्व में प्रत्येक दिन का विशेष महत्त्व होता है। हिंदू धर्म के सभी पर्वों में रोशनी से जगमगाता दीपावली का पर्व सबसे बड़ा माना जाता है। इस बारे में नांगलमाला निवासी वास्तु शास्त्री पंडित जयकरण शास्त्री ने बताया कि दीपोत्सव के पावन अवसर पर हर तरफ खुशियों छाई रहती हैं। यह पर्व सभी पर्वों में सबसे विशेष हैं क्योंकि पांच दिन तक इस त्योहार की रोशनी जगमगाती रहती है। लोग इस पर्व की तैयारियां माह भर पूर्व से ही आरंभ कर देते हैं। प्रत्येक त्योहार की तरह इस पर्व की भी पौराणिक कथा है।

 



धनतेरस से आरंभ होता है पांच दिवसीय पर्व:
दीपावली का पांच दिवसीय पर्व धनतेरस से शुरू होता है। धनतेरस कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाता है। इस दिन धन्वंतरि जयंती भी मनाई जाती है। धन्वंतरि को देवताओं का वैद्य तथा आयुर्वेद चिकित्सा का जनक माना जाता है। पुराणों के अनुसार समुद्र मंथन के समय धन्वंतरी सफेद अमृत कलश लेकर पृथ्वी लोक पर अवतरित हुए थे।

 



पर्व के दूसरे दिन मनाई जाती है नरक चतुर्दशी:
पांच दिवसीय पर्व में इस दिन का भी काफी महत्त्व होता है। दीपावली से एक दिन पूर्व मनाया जाने वाला यह दिन नरक चतुर्दशी के नाम से जाना जाता है। नरक चतुर्दशी कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी के दिन मनाई जाती है। इस दिन सांयकाल में भगवान कुबेर की पूजा कर दीपदान करना चाहिए तथा नरकासुर की स्मृति में चार दीपक भी जलाने चाहिएं।

 



तीसरे दिन होता है दीपों का महोत्सव दीपावली:
इस पर्व के तीसरे दिन दीपों का महोत्सव दीपावली मनाया जाता है। यह महोत्सव कार्तिक कृष्ण अमावस्या के दिन मनाया जाता है। इस दिन महालक्ष्मी तथा कुबेर की पूजा भी की जाती है। घरों में लक्ष्मी के नैवेद्य हेतु पकवान बनाए जाते हैं। शुभ मुहूर्त, गोधूलि बेला अथवा सिंह लग्न में लक्ष्मी का वैदिक या पौराणिक मंत्रों से पूजन किया जाता है। इसके बाद पूजा के पश्चात घर के सभी मंगल स्थानों पर दीपक लगाने चाहिएं।

 



पर्व के चौथे दिन की जाती है गोवर्धन पूजा:
यह महोत्सव कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा के दिन मनाया जाता है। इसे गोवर्धन पूजा या अन्नकूट महोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन गाय-बछड़ों एवं बैलों की पूजा की जाती है। गोवर्धन पूजा के दिन महिलाएं शुभ मुहूर्त में घर आंगन में गोबर से गोवर्धन बनाती हैं तथा बाद में गायों की पूजा करती हैं।

 



अंतिम दिवस को मनाया जाता है भाई दूज:
पांच दिवसीय इस पर्व के अंतिम दिन भाई दूज होता है। यह कार्तिक शुक्ल द्वितीया के दिन मनाया जाता है। इसे यम द्वितीया के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन प्रात:काल उठकर चंद्रमा के दर्शन करना चाहिए तथा बाद में बहनों द्वारा भाईयों को तिलक आदि लगाया जाता है। इस दिन भाई को अपने साम्र्थयानुसार बहन का वस्त्र, द्रव्य आदि से सत्कार करना चाहिए। जिससे धन, यश, आयुष्य, धर्म, अर्थ एवं सुख की प्राप्ति होती है।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

ललित के समर्थन में 84 पाल ने की पंचायत, टिकट काटने में षड्यंत्र रचा गया

निजी स्कूलों को मिली चेतावनी, 23 अप्रैल तक सीटों की जानकारी दें, या अन्यथा होगी कार्रवाई

सैंकड़ों महिला पुरूषों ने एसडीएम कार्यालय का घेराव कर सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार किया प्रदर्शन

कृपया किसी भी पार्टी के प्रत्याशी वोट मांगकर शर्मिंदा न करें

वर्तमान समय में कानूनी साक्षरता का महत्व बढ़ गया है-प्रियंका सोनी

रोहित लामसर बने बॉडी बिल्डिंग एवं फिटनेस एसोसिएशन के मीडिया प्रभारी

कैथल एसपी के साथ कैथल के गणमान्य व्यक्तियों बैठक ,कहा यातायात व्यस्था सुधारने में जनता सहयोग करे

ऐलनाबाद-स्कूल संचालिका द्वारा 11वर्षीय छात्र के साथ मारपीट करने का मामला

हरियाणा का 2019 चुनावी संग्राम,रोहतक का रगड़ा सबसे खतरनाक

अनाज मंडी में हुई 7 लाख 32 हजार 665 क्विंटल गेहूं की आवक