Saturday, December 15, 2018
Follow us on
Sports

किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में रजत पदक विजेता तनिष्क वालिया का गांव फतेहपुर में पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत

कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट | November 15, 2018 06:43 PM
कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट

किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में रजत पदक विजेता तनिष्क वालिया का गांव फतेहपुर में पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत

वर्षों की मेहनत के बाद ही जाकर मिलता है कोई पदक : तनिष्क

कैथल, 15 नवम्बर (कृष्ण प्रजापति) : विश्व स्तरीय किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में सिल्वर पदक प्राप्त कर गांव फतेहपुर के तनिष्क वालिया का आज पूंडरी में पहुंचने पर खेल प्रेमियों व फतेहपुर-पूंडरी के ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया। तनिष्क को लाने के लिए फतेहपुर-पूंडरी से अनेेक खेल प्रेमी व युवा 2 किलोमीटर दूर करनाल मार्ग पर स्थित डी.ए.वी. स्कूल के नजदीक पहुंचे हुए थे और वहां से उन्हें खुली कार में बैठाकर पूंडरी तक मोटरसाईकिलों के काफिले के साथ लाए। पूंडरी पहुंचने पर सबसे पहले तनिष्क ने गिरधर अहलुवालिया चौक पर पहुंच कर शहीद गिरधर अहलुवालिया को नमन किया और पुष्पाजंलि अर्पित की। मार्कीट कमेटी के पूर्व सचिव व प्रसिद्व समाजसेवी धर्मपाल गोलन, कांग्रेस नेता प्रदीप वालिया फतेहुपर व पूर्व सरपंच लाजपत राय वालिया के पुत्र लक्की वालिया फतेहपुर, सरपँच प्रतिनिधि गौरव वालिया, योगेश उप्पल आदि ने कहा कि एक सामान्य परिवार से उठकर के तनिष्क वालिया ने अपनी मेहनत लगन के बल पर राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपने गांव, प्रदेश व देश का नाम रोशन किया है। तनिष्क ने ग्रामीणों व खेल प्रेमियों का आभार व्यक्त करते नवयुवकों को संदेश देते हुए कहा कि पदक कोई भी चाहे गोल्ड हो या कांस्य एक दिन में नहीं जीते जाते वर्षों की मेहनत के बाद ही जाकर कोई पदक मिलता है। उन्होंने अपने संदेश में देश के प्रत्येक युवा को मेहनत करने को कहा। इस मौके पर नरेंद्र गोलन, हरिश वालिया, विशाल वालिया, ज्ञानचंद वर्मा, राजकुमार गर्ग, व्यापार मंडल के अध्यक्ष योगेश उप्पल सहित अन्य मौजूद रहे।

बॉक्स--सैल्फी खिंचवाने की लगी रही होड़

मौजूद युवाओं में खिलाड़ी तनिष्क वालिया के साथ सैल्फी खिचवाने कि होड़ लगी रही और तनिष्क ने किसी भी युवा को मायूस नहीं किया और हर युवक के साथ हंसकर सैल्फी खिंचवाई। सैल्फी लेने के पश्चात अधिकतर युवाओं ने इस सैल्फी को फेसबुक पर अपलोड भी साथ की साथ कर लिया।

बॉक्स--"आज मेरे बेटे पर मुझे गर्व है"

सिल्वर मैडल विजेता तनिष्क वालिया के पिता राकेश वालिया ने कहा कि उन्हें अपने पुत्र की उपल्बिध पर बहुत गर्व है, उन्होंने यह कभी नहीं सोचा था कि उनका बेटा एक दिन अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर अपने गांव का नाम रोशन करेगा। तनिष्क की मेहनत, लगन व परिश्रम के कारण ही यह सब कुछ संभव हो पाया है, उन्होंने तो केवल तनिष्क का हर स्तर पर सहयोग ही किया है। इस मौके पर उनके साथ तनिष्क के ताऊ जयपाल वालिया, भाई अश्विनी वालिया, हैप्पी वालिया, राकेश वालिया पापा, सरोज वालिया मम्मी, चांदो देवी दादी, विमल वालिया, मनीष वालिया, अमित वालिया, पुष्पा वालिया, अनु वालिया, रितु वालिया, हर्षिता वालिया भतीजी, शुभम वालिया, प्रदीप भुक्कल, प्रवीण भुक्कल, संदीप भुक्कल व बॉबी वालिया आदि मौजूद रहे।

Have something to say? Post your comment
More Sports News
पाई की बेटियों का राष्ट्रीय स्कूली कबड्डी प्रतियोगिता के लिए हरियाणा की टीम में चयन
खेलों से व्यक्ति का सर्वांगीण विकास होता : राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य
हरियाणा प्रदेश सरकार की खेल नीति का अनुसरण दूसरे प्रदेशों की सरकारें भी कर रही हैं-मुख्यमंत्री
जगजीत सिरोहा बने मिस्टर यूनिवर्स बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप के उप-विजेता
नेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता में रावमावि सतनाली में विद्यार्थियों ने जीते 3 स्वर्ण पदक
कुश्ती फेडरेशन ने की पहलवानों की सूची जारी, ढाढोत के दो खिलाड़ी चयनित
जिलास्तरीय प्रतियोगिता में मेडल जीतने वाले खिलाडिय़ों को किया सम्मानित
महाराणा प्रताप बॉक्सिंग अकेडमी सतनाली के बच्चों ने जिलास्तरीय प्रतियोगिता में झटके 1 गोल्ड व 3 सिल्वर मेडल
राठधना के बॉडी बिल्डर जगजीत बने बॉडी बिल्डिंग में मिस्टर वल्र्ड
एशियार्ड गेम्स पर टिकी भीम अवार्डी संदीप पुनियां की निगाहें, गोल्ड मेडल लाने का लक्ष्य