Friday, January 18, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
सामाजिक सस्थाओं के कार्यो से प्रभावित होकर कनाडा मे रह रहे सहरावत ने बच्चो को वितरित किये वस्त्र।घरौंडा में अविश्वास प्रस्ताव के 15 दिन बाद आज पत्रकारों के समक्ष रूबरू हुए नगरपालिका प्रधान। कमीशनखोरी के चक्कर में टैंडर के बावजूद भी शुरू नही हो रहे काम तरावड़ी मेंकन्या जन्म पर नांगलमाला में किया गया कुआं पूजन कार्यक्रम का आयोजनसमाजसेवी व पत्रकार प्रिंस लाम्बा ने गौशाला में सवामणी लगा मनाया अपना 16वां जन्मदिनभूपेंद्र हुड्डा जींद के चुनावी मैदान में दिखे सुरजेवाला के साथ ,चुनाव प्रचार भी किया तरावड़ी में सप्ताह में घटी चौथी चोरी की वारदात, पुलिस नाकामअमेठीः खेममऊ ग्रामसभा में समाजवादी कार्यकर्ताओं ने लगाया चौपाल
Rajasthan

अलवर जिला: सीट 11, 8 सीटों पर बागी उम्मीदवार बिगाड़ेगा कांग्रेस-भाजपा का चुनावी गणित

धनेश विधार्थी | November 22, 2018 03:19 PM
धनेश विधार्थी

अलवर जिला: सीट 11, 8 सीटों पर बागी उम्मीदवार
बिगाड़ेगा कांग्रेस-भाजपा का चुनावी गणित


धनेष विद्यार्थी, अलवर, राजस्थान:

7 दिसंबर को राजस्थान विधानसभा के आम
चुनाव को लेकर नामांकन वापिसी का गुरूवार को अंतिम दिन है। आज 3 बजे तक
यह काम पूरा हो जाएगा। अलवर जिले की 11 सीटों पर कल तक 179 उम्मीदवारों
के नामांकन अभी सरकारी रिकाॅर्ड में जमा हैं। नामांकन वापिसी से पहले जो
स्थिति सामने है, वह साफ इषारा कर रही है कि कांग्रेस और भाजपा के बागी
उनके उम्मीदवारों का चुनावी गणित बिगाड़ रहे हैं। जिला निर्वाचन विभाग के
आंकड़ों के अनुसार अलवर जिले में 24 लाख 68 हजार 998 मतदाता पंजीकृत हैं।
इस बार 23 हजार 923 लोग नए मतदाता बने हैं। अलवर षहर में 2 लाख 47 हजार
445 जबकि सबसे कम थानागाजी विधानसभा क्षेत्र में एक लाख 96 हजार 931
मतदाता हैं। जिले में 10 विधानसभा क्षेत्रों में 2 लाख से अधिक मतदाता
पंजीकृत हैं। सांगानेर में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन जमा
कराने के लिए रामगढ़ क्षेत्र से विधायक ज्ञानदेव आहुजा ने भाजपा के
राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित षाह से बात करने के बाद अब नामांकन वापिसी का
निर्णय ले लिया है। आज नामांकन वापिसी के साथ ज्ञानदेव के निर्णय की
असलियत भी सामने आ जाएगी कि निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगे
या फिर भाजपा उम्मीदवारों का सहयोग करेंगे।
उधर आहुजा के खिलाफ रिटर्निंग अधिकारी ने चुनाव आयोग को भेजी षिकायत के
आचार संहिता के उल्लंघन की षिकायत होने के बाद भाजपा अध्यक्ष को ज्ञानदेव
को समझाना पड़ा। इसके साथ ही जिले में बिना अनुमति लाउड स्पीकर लगाकर
चुनाव प्रचार करने में अधिकांष उम्मीदवार जुटे हुए हैं लेकिन चुनाव
पर्यवेक्षकों और चुनाव से जुड़े अधिकारियों को कहीं भी आचार संहिता का
उल्लंघन नजर नहीं आ रहा है। उधर बहरोड़ विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग
अधिकारी रामअवतार कुमावत ने आचार संहिता की अवहेलना को लेकर कहा कि ऐसा
करने पर संबंधित व्यक्ति को 8 माह की सजा और 2 हजार रूपए जुर्माने की सजा
दिए जाने का प्रावधान है।
रिटर्निंग अधिकारी कुमार ने बताया कि कोई व्यक्ति बिना मुद्रक व प्रकाषक
के नाम और पते की निर्वाचन सामग्री प्रकाषित नहीं करेगा। उम्मीदवारों को
छपी हुई सामग्री की दो प्रतियां भेजनी होती हैं। हस्तलिखित दस्तावेज को
छोड़कर अन्य को प्रचार सामग्री को मुद्रि माना जाएगा।
ये हैं पाबंदी:
पेलिंग बूथ के दो सौ मीटर के दायरे में चुनावी सभाएं करने, वाहनों के लिए
इस्तेमाल करने, मतदाताओं को लालच देने, झंड़े-बैनर लगाने, धरना देने पर
पाबंदी रहेगी। मतदान अवधि से 48 घंटे में सार्वजनिक सभा करने पर भी
पाबंदी लागू रहेगी। चुनाव प्रचार के लिए धार्मिक स्थानों का इस्तेमाल
नहीं होगा। निजी भवनों पर बिना भवन मालिक की अनुमति के प्रचार सामग्री
लगाने, दीवार पर लिखने, षराब व धन या अन्य चीजें लालच देने के लिए
मतदाताओं को बांटने, दूसरे उम्मीदवार की बैठक अथवा जुलूस में बाधा डालने,
बिना अनुमति प्रचार यंत्रों का उपयोग, एक अधिक वाहन इस्तेमाल, नेताओं
अथवा प्रत्याषियों के पुतले लेकर चलने आदि पर पाबंदी लागू रहेगी।

Have something to say? Post your comment
More Rajasthan News
4 बेटियों का पिता जो पिछले 8 वर्ष से जकड़ा हुआ जंजीरों में
बाड़मेर-लोन का झांसा देकर रुपये एठने वाले वाले व्यक्ति को नही ढूंढ पा रही सदर पुलिस
मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम
आप जिताएंगे तब आगे मंत्री पद की बात है: डाॅ. कर्ण सिंह
राजस्थान रोडवेज की बस ने 6 साल की बालिका को कुचला, मौत
पूर्व डीएसपी ने की गलती, मिली मौत
अलवर जिला: 11 सीटें पर अब 145 उम्मीदवार मैदान भाजपा ने बागियों को सब्जबाग दिखा बहलाया
राजस्थान विधानसभा चुनाव -भाजपा सांसद व विधायक चुनावी टिकट नहीं मिलने से हुए बागी
चुनाव विषेष -रामगढ विधायक पर दो नंबर का पैसा लेने का आरोप
मैं सुल्तानपुर से सांसद मगर आपका भी जनप्रतिनिधि: वरूण गांधी