Tuesday, April 23, 2019
BREAKING NEWS
ललित के समर्थन में 84 पाल ने की पंचायत, टिकट काटने में षड्यंत्र रचा गया निजी स्कूलों को मिली चेतावनी, 23 अप्रैल तक सीटों की जानकारी दें, या अन्यथा होगी कार्रवाईबेकसूर धर्म पाल 3 साल से बंद हॉन्ग कॉन्ग की जेल मेंसैंकड़ों महिला पुरूषों ने एसडीएम कार्यालय का घेराव कर सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार किया प्रदर्शनकृपया किसी भी पार्टी के प्रत्याशी वोट मांगकर शर्मिंदा न करेंवर्तमान समय में कानूनी साक्षरता का महत्व बढ़ गया है-प्रियंका सोनीकृष्णपाल गुर्जर ने चुनावी सभा में मनमोहन गर्ग को दिया विधानसभा के लिये आशीर्वाद।रोहित लामसर बने बॉडी बिल्डिंग एवं फिटनेस एसोसिएशन के मीडिया प्रभारीकैथल एसपी के साथ कैथल के गणमान्य व्यक्तियों बैठक ,कहा यातायात व्यस्था सुधारने में जनता सहयोग करे ऐलनाबाद-स्कूल संचालिका द्वारा 11वर्षीय छात्र के साथ मारपीट करने का मामला

Literature

बोले सो निहाल-सत श्री अकाल धर्म हेत साका जिन किया, शीश दीया पर सिर न दिया

November 22, 2018 05:36 PM
सन्नी मग्गू

बोले सो निहाल-सत श्री अकाल
धर्म हेत साका जिन किया, शीश दीया पर सिर न दिया
गुरु नानक देव के प्रकाशोत्सव पर नगर कीर्तन का आयोजन
सन्नी मग्गू
जींद, 22 नवंबर
पूरे विश्व को एकता, भाईचारे, ऊंच-नीच का भेदभाव मिटाने वाले प्रथम पातशाही गुरु नानक देव के प्रकाशोत्सव पर वीरवार को विशाल नगर कीर्तन का आयोजन किया गया। नगर कीर्तन में विभिन्न समुदायों के लोगों ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब की पालकी साहिब के समक्ष माथा टेक कर अपनी खुशी का इजहार किया। गुरु घर के प्रवक्ता बलविंद्र सिंह के अनुसार नगर कीर्तन में श्री गुरु ग्रंथ साहिब को पालकी में शानदार ढंग से सुशोभित किया गया तथा पालकी साहिब की अगुवाई विशेष रूप से पंजाब से मंगवाए गए मिल्ट्री बैंड के साथ-साथ गुरु के पंज प्यारे कर रहे थे तथा पीछे-पीछे समुह संगत सतनाम वाहेगुरु एवं गुरबाणी का जाप करती हुई नगर कीर्तन के साथ चल रही थी। जबकि सुखमणी साहिब की सेवादार पांच प्यारों के साथ आगे-आगे सुखमणी साहिब का सिमरण करे हुए झाडू की सेवा लगा रही थी। नगर कीर्तन गुरुद्वारा तेग बहादुर साहिब से चल कर, पुरानी अनाज मंडी, टाउन हाल, फव्वारा चौंक, पालिका बाजार, मेन बाजार, पंजाबी बाजार से होता सिंह सभा गुरुद्वारा पहुंचा। इसक बाद नगर कीर्तन रुपया चौंक, बत्तख चौंक, सफीदों गेट, रानी तालाब से होते हुए गुरुद्वारा तेग बहादुर में संपन्न हुआ। यहां पर गुरुद्वारा मैनेजर बंता सिंह व गुरुद्वारा गुरुतेग बहादुर साहिब के हैड ग्रंथी ज्ञानी गुरविंद्र सिंह, जत्थेदार गुरजिंद्र सिंह द्वारा नगर कीर्तन का स्वागत किया गया। गुरुद्वारा मैनेजर बंता सिंह व गुरुद्वारा गुरुतेग बहादुर साहिब के हैड ग्रंथी ज्ञानी गुरविंद्र सिंह ने कहा कि गुरु नानक देव जी से किसी ने पूछा कि आप इतने बड़े हैं, फिर भी आप नीचे क्यों बैठते हैं तब गुरु नानक देव जी ने कहा कि नीचे बैठने वाला आदमी कभी गिरता नहीं है। ऐसे में आज गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं पर चल कर ही आम आदमी सुखमय जीवन बिता सकता है। इस अवसर पर भाई कन्हैया सेवा दल, भाई सोमाशाह सेवा दल, सभी सुखमणी सेवा सोसायटियां तथा गुरु तेग बहादुर सेवा दल की सेवादार शुरू से लेकर आखिर तक नगर कीर्तन की सेवा में लगे रहे। नगर कीर्तन में रणजीत आखाड़ा मुख्य आकर्षण का केंद्र रहा और गतके के साथ-साथ तलवारबाजी का शानदार प्रदर्शन किया। जबकि विभिन्न स्कूलों के बच्चे रंग बिरंगी पौशाकों में आकर्षक मुद्राएं पेश कर रहे थे। स्कूली बच्चों ने गिद्दा, डंबल व पीटी शो किया। प्रवक्ता बलविंद्र सिंह ने बताया कि नगर कीर्तन से पहले अमृत सवेरे श्रद्धालुओं ने गुरुद्वारा साहिब में जाकर अपने गुरु श्री गुरु ग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेका। इस मौके पर सिंह सभा गुरुद्वारा भारत सिनेमा रोड के प्रधान सरदार किरपाल सिंह, जोगेंद्र पाहवा, टहल सिंह, शोभा सिंह, सुरेंद्र सिंह टक्कर, गुरविंद्र सिंह, अनिल ठुकराल, दर्शन सिंह कोचर, महेंद्र सिंह, कुलदीप विर्क, लाडी चीमा, रामसिंह दुग्गल, हरबंस सिंह, सरदार सिंह, जसबीर सिंह टीटी, कमलजीत ग्रेवाल व अजीत सहित गुरुद्वारा तेग बहादुर पब्लिक स्कूल का स्टाफ मौजूद रहा।

Have something to say? Post your comment

More in Literature

मिश्रित फल देगा नव विक्रम सम्वत-2076, होंगे राजनैतिक परिवर्तन मिथुन, तुला और कुम्भ राशि और लग्न वालों को लाभ होगा

सिद्ध श्री बाबा बालक नाथ जी प्रचार समिति फरीदाबाद भजनो भरी शाम बाबा जी के नाम का आयोजन किया

सरस्वती अन्नपूर्णा भण्डारा सेवा समिति द्वारा सरस्वती मंदिर मे भंडारे का आयोजन किया

पिहोवा-पितरों की आत्मिक शांति के लिए सरस्वती तीर्थ पर पहुंचने लगे श्रद्धालु

6 अप्रैल से परिधावी नामक नवसंवत 2076 एवं चैत्र नवरात्रि आरंभ

होली आई रे .... होलिका दहन, 20 मार्च की रात्रि 9 बजे के बाद, रंग वाली होली 21 को।

गुरू मां सम्मेलन में मिलती है अनोखी अलौकिक शक्तियां : सुरेंद्र पंवार

खाटू श्याम में बाबा का मेला शुरू, श्याममय हुआ समूचा क्षेत्र, प्रतिदिन गुजरने लगे है श्याम प्रेमियों के जत्थे

शीश के दानी का सारे जग में डंका बाजे ने देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी एक अलग पहचान बनाई - लखबीर सिंह लख्खा

श्रीमद् भागवत कथा का प्रारंभ आज