Thursday, January 17, 2019
Follow us on
Fashion/Life Style

शादीशुदा हैं तो जरूर बनवाएं मैरिज सर्टिफिकेट वरना बहुत पछताएंगे..इस तरह 100 रुपए में बनता है

अटल हिन्द ब्यूरो | December 04, 2018 11:37 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

शादीशुदा हैं तो जरूर बनवाएं मैरिज सर्टिफिकेट वरना बहुत पछताएंगे..इस तरह 100 रुपए में बनता है

नई  दिल्ली (अटल हिन्द )
(04 Dec)

शादी का सीजन चल रहा है लेकिन शादी की तैयारियों के बीच अपनी शादी से जुड़े कानूनी दस्तावेजों पर भी काम जरूर कर लें। शादी के बाद मैरिज सर्टिफिकेट जरूर बनवाएं। सुप्रीम कोर्ट ने मैरिज सर्टिफिकेट बनाना अनिवार्य कर रखा है। अब जब देश के कई राज्यों में मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट ऑनलाइन बन रहा है। शादीशुदा जोड़े को मैरिज सर्टिफिकेट की जरूरत पासपोर्ट में वैवाहिक स्टेटस को अपडेट कराने, ज्वाइंट होम लोन लेने, ज्वाइंट बैंक अकाउंट खुलवाने और कपल वीजा लेने के लिए पड़ती है। मैरिज सर्टिफिकेट आधिकारिक स्टेटमेंट हैं, जिसके तहत दो लोग शादीशुदा माने जाते हैं। देश में शादी को हिंदू मैरिज एक्ट 1955 और स्पेशलमैरिज एक्ट 1954 के तहत रजिस्टर किया जाता है। ये कानूनी तौर पर प्रूफ करता है कि आप शादीशुदा हैं।
साल 2006 में सुप्रीम कोर्ट ने शादी को रजिस्टर करना अनिवार्य बना दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए हिंदू एक्ट में मैरिज रजिस्ट्रेशन जरूरी कर दिया है।
कितने समय में मिलेगा अप्वाइंटमेंट :
हिंदू मैरिज एक्ट के तहत आपको अप्वाइंटमेंट का समय 15 दिन में मिल जाएगा। स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत 60 दिन का समय लगता है।
अप्वाइंटमेंट के समय क्या होना है जरूरी :
आपको एक ऐसा गवाह लेकर आना होगा, जो आपकी शादी में शामिल हुआ है। गवाह के पास पैन कार्ड और एडे्रस प्रूफ होना जरूरी है। साथ ही सभी डॉक्‍यूमेंट अटैस्टेड होने चाहिए।
--ऑनलाइन फॉर्म जमा करते समय इन बातों का रखे ध्यान-- वेबसाइट पर अपलोड होने वाली फाइल का साइज 100 केबी से ज्यादा नहीं होना चाहिए। यदि आपने डॉक्यूमेंट अटैच नहीं किए तो आपकी एप्लिकेशन रिजेक्ट हो सकती है। कौन से चाहिए डॉक्यूमेंट : एप्लिकेशन फॉर्म, एड्रेस प्रूफ – हसबैंड और वाइफ दोनों का, जन्मतिथि – ड्राइविंग लाइसेंस (हसबैंड और वाइफ दोनों का) हसबैंड और वाइफ की 2 पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ । एक शादी की फोटोग्राफ। आधार कार्ड सभी डॉक्यूमेंट की फोटो कॉपी सेल्फ अटे्स्टड होनी चाहिए। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए शादी का कार्ड भी चाहिए।
--इतने समय में बन जाता है मैरिज सर्टिफिकेट : दिल्ली में ‘तत्काल मैरिज सर्टिफिकेट’ बनता है। अप्रैल 2014 के बाद से ये सर्विस दिल्ली में शुरू हुई है। ‘तत्काल मैरिज सर्टिफिकेट’ में रजिस्ट्रेशन प्रोसेस एक दिन में हो जाता है। आपको इसके तहत मैरिज सर्टिफिकेट 24 घंटे में मिल जाता है। हालांकि, ‘तत्काल मैरिज सर्टिफिकेट’ बनवाने के लिए आपको 10,000 रुपए फीस पर खर्च करने होंगे।
--मैरिज सर्टिफिकेट के फायदे : शादी के बाद पासपोर्ट के लिए अप्लाई करने पर मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना होगा। शादी के बाद ज्वाइंट बैंक अकाउंट खोलने के लिए मैरिज सर्टिफिकेट की जरूरत पड़ेगी। मैरिज सर्टिफिकेट से हसबैंड और वाइफ को वीजा आसानी से मिल जाता है। विदेशी एंबेसी पुराने या आर्य समाज मंदिर के मैरिज सर्टिफिकेट को नहीं मानते। विदेश सफर कर रहे कपल्स का मैरिज सर्टिफिकेट जरूरी है। बिना इसके स्पाउस वीजा का फायदा नहीं उठा पाएंगे।
--फीस : हिंदू मैरिज एक्ट के तहत मैरिज रजिस्ट्रेशन के लिए 100 रुपए फीस है। स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत मैरिज रजिस्ट्रेशन के लिए 150 रुपए फीस है। ‘तत्काल मैरिज सर्टिफिकेट’ बनवाने के लिए 10,000 रुपए फीस लगेगी।
कोर्ट में भी बनता है सार्टिफिकेट हसबैंड-वाइफ दोनों वर्किंग डे पर सब डिविजनल मजिस्ट्रेट के पास जाकर मैरिज सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं। साइन के साथ एप्लिकेशन फॉर्म भरकर, अप्वाइंटमेंट के समय अपने सभी डॉक्यूमेंट के साथ अपने लोकल मैरिज रजिस्ट्रेशन के ऑफिस पर चले जाइए। साथ में जिसने शादी अटेंड की हो ऐसा उस गवाह लेकर जाना होगा। गैजेट्ड ऑफिसर के साथ एडीएम के दफ्तर जाइए। आपको मैरिज सर्टिफिकेट तुरंत मिल जाएगा।

Have something to say? Post your comment