Monday, March 18, 2019
BREAKING NEWS
कर्मगढ़ गांव में शहीद रमेश कुमार लाइब्रेरी का उद्घाटन शिक्षा ही सबसे बड़ा धन-रामनिवास सुरजाखेड़ा हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों पर खिलेगा कमल-कृष्ण बेदीकाग्रेस नेत्री विद्या रानी दनोदा ने किए गांवों के दौरे ेदेश व प्रदेश में काग्रेस लहराएगी परचम-विद्या रानी दनोदा क्षमता से अधिक भंडारण पाए जाने पर राजस्व बिभाग की टीम ने की कार्यवाहीदेश में 53 जवान शहीद हो गए और बीजेपी सरकार उनकी शहादत पर गौरव यात्रा निकल रही है, जोकि बड़ी ही निंदनीय बात है-दुष्यंत चौटालालोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी पूरी तरह तैयार: गौरव गोयलगेस्ट टीचरों के 58 साल तक स्थायीत्व व छह माह में महंगाई भत्ता देने की मांग को सरकार ने गंभीरता से लिया है।पिता अपने दोनों बच्चों समेत ट्रेन के आगे कूदा, पिता-पुत्र की मौतलुहारी गांव में 109 परिवारों ने जताई भाजपा में आस्था, मोदी को बताया सशक्त प्रधानमंत्रीचप्पे-चप्पे पर चप्पल की चर्चा: दुष्यंत चौटाला

Crime

करनाल में व्यापारी को हनी टै्प में फंसा कर एक करोड़ रूपये मांगने वाले गिरोह के सदस्य

December 07, 2018 06:34 PM
प्रवीण कौशिक
करनाल में  व्यापारी को हनी टै्प में फंसा कर एक करोड़ रूपये मांगने वाले गिरोह के सदस्य 
 करनाल, (अटल हिन्द ब्यूरो )
प्रवीण  कौशिक                     
 करनाल - 06.12.18 को प्रबंधक थाना सिविल लाईन करनाल निरीक्षक मोहन लाल को करनाल के दो व्यापारीयों ने षिकायत दी कि कुछ व्यक्ति एक महिला के साथ मिलकर उन्हें ब्लैकमेल कर रहे हैं। उन्हें धमकी दे रहे हैं कि यदि उसने एक करोड़ रूपये नही दिए तो वे उस महिला द्वारा उसके खिलाफ बलात्कार की धाराओं में मामला दर्जकरवा उसे पुलिस के हवाले कर देगें। जिससे घबराकर व्यापारीयों ने उन्हें पैसे देने के लिए हां कर दी और 20 लाख रूपये में मामला निपटाने की बात हो गई। व्यापारीयों ने बताया कि दिनांक 28.11.18 को वे लोग अपनी महिला साथी गीता वासी हिसार के साथ आए और व्यापारीयों से 20 लाख रूपये ले गए। इस पर भी महिला व उसके साथीयों की संतुष्टी नहीं हुई और उन्होंने फिर से व्यापारीयों से पैसे मांगने शुरू कर दिए व बार-बार उन पर दबाव बनाने लगे। जिस पर व्यापारीयों द्वारा निरीक्षक मोहन लाल को अपनी सारी कहानी बताई गई व पुलिस की सहायता मांगी। 
     प्रबंधक थाना सिविल लाईन निरीक्षक मोहन लाल द्वारा उन्हें भरोसा दिलाया गया कि अब उनका खेल ज्यादा दिन नही चलेगा और उन्हें बहुत जल्द सलाखों के पिछे पहुंचाया जाएगा। उन्होंने उप-निरीक्षक राजेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में एक टीम का गठन किया और दोनों व्यापारीयों के साथ मिलकर आरोपीयों को पकड़ने के लिए एक योजना बनाई, जिसके आधार पर महिला व उसके साथीयों को पैसे देने की बात को मंजुरी दे दी गई और उन्हें पैसे लेने के लिए करनाल बुलाया गया। एक बार फिर से व्यापारीयों से मोटी रकम लेने के चक्कर में वे लोग दौड़े चले आए। जहां पर दिनांक 06.12.18 को कल्पना चावला मैडिकल कालेज करनाल में व्यापारीयों से 13 लाख रूपये लेकर निकलते समय राजेन्द्र सिंह व उनकी टीम द्वारा आरोपी..... सत्यवान पुत्र रणपत वासी राजथल और मनोज पुत्र पृथ्वी सिंह वासी राजथल जिला हिसार को गिरफतार कर लिया गया। पुलिस टीम द्वारा आरोपीयों के कब्जे से पिड़ितों से लिए गए 13 लाख रूपये व एक दौनाली बंदूक और 12 गोलियां बरामद की गई। 
 
    आज इस बारे में जानकारी देते हुए निरीक्षक मोहन लाल ने बताया कि आरोपी सत्यवान ने साल 2005 से साल 2010 तक करनाल के एक व्यापारी के पास ड्ाईवर की नौकरी की थी। जिस दौरान उसे व्यापारी के कारोबार व उसकी संपति के बारे में काफी कुछ जानकारी हो गई थी। साल 2010 में उसने अपनी गाड़ी खरीद ली व इस हिसार में टैक्सी के रूप में चलाने लगा, इसी दौरान उसकी मुलाकात हिसार की रहने वाली एक महिला गीता से हुई। गीता उसकी टैक्सी किराये पर लेकर कई बार ईधर-उधर जाती थी, इसी दौराने उसे गीता के बारे में पता चला कि वह अच्छे चरित्र की महिला नहीं है, तो उसने गीता को कहा कि क्यों न एक बड़ा मुर्गा फसा लें और गीता इसके लिए तैयार हो गई। इसके बाद उसने गीता को करनाल के व्यापारी का नंबर दे दिया और गीता ने फोन के माध्यम से व्यापारी को अपने प्रेम जाल में फांस लिया। व्यापारी ने गीता को मिलने के लिए दिल्ली के होटल में बुलाया, तो वह सत्यवान की टैक्सी में चली आई, ईधर से व्यापारी भी अपने एक अन्य साथी व्यापारी के साथ वहां पहुंच गया। जहां पर उन्होंने गीता की मर्जी के साथ उसके साथ संबंध बनाए और अगली सुबह करनाल वापिस चले आए। 
 
    उन्होंने बताया कि उसके बाद से ही सत्यवान व्यापारीयों को लगातार फोन करने लगा और कहने लगा कि उनके बारे में गीता के घर वालों को पता चल गया है। अब उसके घर वाले उन्हें नही छोड़ेगें और उनके खिलाफ बलात्कार का मुकदमा दर्ज करवाएगें। जिससे व्यापारी घबरा गए और उसे मानने के लिए कहने लगे, जिसके लिए उन्होंने व्यापारीयों से एक करोड़ रूपये की मांग की। दिनांक 28.11.18 को आरोपीयों ने व्यापारीयों से 20 लाख रूपये ले भी लिए और अभी ओर पैसे ऐंठने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस ने उनके मनसुबों पर पानी फेर दिया और दूसरी बार में व्यापारीयों से लिए गए 13 लाख रूपये के साथ उन्हें धर दबोचा।  
      पुलिस टीम द्वारा आरोपीयों के खिलाफ थाना सिविल लाईन में मुकदमा नं0-1014/06.12.18  धारा 384, 389, 506, 120-बी व धारा शस्त्र अधिनियम के तहत दर्ज किया गया। आज दोनों आरोपीयों को माननीय अदालत के सामने पेषकर दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है और आरोपीयों से उनकी महिला साथी गीता व उसके नाना के संबंध में पुछताछ की जाएगी और पहली बार में लिए गए 20 लाख रूपये बरामद किए जाएगें।   

Have something to say? Post your comment

More in Crime

दिल्ली में हत्या का आरोपी भगौडा सचिन चढा कंडेला गांव में सीआइए के हत्थे

कर रहा था अफीम तस्करी पुलिस ने किया काबू

7 आरोपियों से 96 बोतल शराब बरामद

8 ग्राम स्मैक व तस्करी में प्रयुक्त बगैर नं. बाईक बरामद

नाजायज असला रखने वाले असामाजिक तत्वों की धरपकड़के लिए मुहीम

बैंक में पीओ की नौकरी के नाम पर हड़पे साढे 5 लाख रूपये

नाबालिग दोषी को कोर्ट ने सुनाई 14 साल की कैद, कहा- बन सकता है अच्छा इंसान

निजी बस ने स्कूली छात्रा को कुचला, मौके पर ही मौत

हमलावरो की गिरफ्तारी को लेकर सारन थाने में किया लोगों ने जोरदार प्रदर्शन

निलंबित एसडीओ को कोर्ट ने सुनाई सात साल की सजा,पत्नी की हत्या का दोषी पाया