Friday, January 18, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
घरौंडा में अविश्वास प्रस्ताव के 15 दिन बाद आज पत्रकारों के समक्ष रूबरू हुए नगरपालिका प्रधान। कमीशनखोरी के चक्कर में टैंडर के बावजूद भी शुरू नही हो रहे काम तरावड़ी मेंकन्या जन्म पर नांगलमाला में किया गया कुआं पूजन कार्यक्रम का आयोजनसमाजसेवी व पत्रकार प्रिंस लाम्बा ने गौशाला में सवामणी लगा मनाया अपना 16वां जन्मदिनभूपेंद्र हुड्डा जींद के चुनावी मैदान में दिखे सुरजेवाला के साथ ,चुनाव प्रचार भी किया तरावड़ी में सप्ताह में घटी चौथी चोरी की वारदात, पुलिस नाकामअमेठीः खेममऊ ग्रामसभा में समाजवादी कार्यकर्ताओं ने लगाया चौपालघरौंडा -असन्तुष्ट 7 पार्षद आज एसडीएम घरौंडा से आगामी कारवाही के लिए मिले।
Rajasthan

मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम

धनेश विधार्थी | December 14, 2018 05:34 PM
धनेश विधार्थी

मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग
सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम
राजस्थान रोडवेज की बस के शीशे तोड़े


धनेश विद्यार्थी, अलवर।


राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनने से पहले मुख्यमंत्री पद को लेकर गुर्जर समुदाय के युवा, जोकि खुद सचिन पायलट के समर्थक बता रहे हैं, ठंड के इस मौसम में इनका खून जोश खा रहा है। हद तो तब हो गई जब गुस्साए युवाओं ने रोडवेज बस के शीशे तोड़ डाले और गांव घाटोली के पास युवाओं ने रोड जाम कर दिया।
उधर इस मामले पर राजस्थान के करौली जिले के एक युवक का कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अशोक गहलोत की खैर नहीं और सरेआम दिन में आग लगाने के अलावा कई अन्य बातों वाला एक वीडियो राजस्थान में तेजी से वायरल हो रहा है। देर शाम आगरा-जयपुर रोड पर गुर्जर समाज के युवाओं का भारी गुस्सा दिखाई दिया। यहां वीरवार को दो जगहों पर युवाओं ने यातायात जाम कर दिया, जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस घटनाक्रम के पीछे, मुख्य वजह कांग्रेस हाईकमान की ओर से सचिन पायलट को मुख्यमंत्री घोषित नहीं करना, बताई जा रही है। बता दें कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने वीरवार को दिल्ली में उन राज्यों के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों को बुलवाया था, क्योंकि पार्टी पर्यवेक्षकों से बातचीत के बाद कांग्रेस को मध्य प्रदेश व राजस्थान में मुख्यमंत्री और कांग्रेस विधायक दल के नेता के नाम पर अंतिम फैसला लेना था। मध्य प्रदेश में जहां कांग्रेस कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने जा रही है जबकि पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से किसी एक को राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर देखा रहा था। बुधवार को सारा दिन सीएम पद को लेकर नवनिर्वाचित विधायकों की राय जानने के लिए पार्टी के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे और वेणु गोपाल ने बैठकें ली। वीरवार को मुख्यमंत्री पद के दोनों प्रबल दावेदारों अशोक गहलोत और सचिन पायलट को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली बुलाया था। अंतिम समाचार मिलने तक सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने का गुर्जर समाज के युवाओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है। ऐसे में राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री और नई सरकार के लिए अभी से चुनौतियों का दौर शुरू हो गया है। अब देखना यह है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और नए मुख्यमंत्री इन चुनौतियों का किस प्रकार सामना कर पाते हैं।

Have something to say? Post your comment
More Rajasthan News
4 बेटियों का पिता जो पिछले 8 वर्ष से जकड़ा हुआ जंजीरों में
बाड़मेर-लोन का झांसा देकर रुपये एठने वाले वाले व्यक्ति को नही ढूंढ पा रही सदर पुलिस आप जिताएंगे तब आगे मंत्री पद की बात है: डाॅ. कर्ण सिंह
राजस्थान रोडवेज की बस ने 6 साल की बालिका को कुचला, मौत
पूर्व डीएसपी ने की गलती, मिली मौत
अलवर जिला: 11 सीटें पर अब 145 उम्मीदवार मैदान भाजपा ने बागियों को सब्जबाग दिखा बहलाया
अलवर जिला: सीट 11, 8 सीटों पर बागी उम्मीदवार बिगाड़ेगा कांग्रेस-भाजपा का चुनावी गणित
राजस्थान विधानसभा चुनाव -भाजपा सांसद व विधायक चुनावी टिकट नहीं मिलने से हुए बागी
चुनाव विषेष -रामगढ विधायक पर दो नंबर का पैसा लेने का आरोप
मैं सुल्तानपुर से सांसद मगर आपका भी जनप्रतिनिधि: वरूण गांधी