Tuesday, March 26, 2019
BREAKING NEWS
लव-अफेयर गाने का केस बना विवाद , कार्रवाई कैसे हो, पुलिस को धारा नहीं पतामनोहर की चुनावी गूंज, पानीपत की धरती में इस तरह हुआ स्वागतपार्टी उम्मीदवार की मृत्यु के बाद अगर नामांकन वापिस नहीं लिया जाता तो मतदान की प्रक्रिया स्थगित कर दी जाएगी।हरियाणा विधानसभा में नेता विपक्ष को लेकर कांग्रेस में गुटबंदी , किरण व कुलदीप सहित कई दावेदारगांव झुम्पा कलां का है मामला, ग्रामीणों का मर चुका जमीरवैश्य समाज ने फरीदाबाद से भी माँगी भाजपा की टिकटसीएम बनाओगे तो लडूंगा चुनाव -बीरेंद्र फरीदाबाद औषधि नियंत्रण विभाग ने छापा मारकर अवैध मेडिकल स्टोर का पर्दाफाश किया नोटबंदी और जी.एस.टी. ने देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ी : अजादकरनाल मेरठ रोड पर दर्दनाक सड़क हादसा,2 की मौत

Rajasthan

मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम

December 14, 2018 05:34 PM
धनेश विधार्थी

मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग
सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम
राजस्थान रोडवेज की बस के शीशे तोड़े


धनेश विद्यार्थी, अलवर।


राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनने से पहले मुख्यमंत्री पद को लेकर गुर्जर समुदाय के युवा, जोकि खुद सचिन पायलट के समर्थक बता रहे हैं, ठंड के इस मौसम में इनका खून जोश खा रहा है। हद तो तब हो गई जब गुस्साए युवाओं ने रोडवेज बस के शीशे तोड़ डाले और गांव घाटोली के पास युवाओं ने रोड जाम कर दिया।
उधर इस मामले पर राजस्थान के करौली जिले के एक युवक का कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अशोक गहलोत की खैर नहीं और सरेआम दिन में आग लगाने के अलावा कई अन्य बातों वाला एक वीडियो राजस्थान में तेजी से वायरल हो रहा है। देर शाम आगरा-जयपुर रोड पर गुर्जर समाज के युवाओं का भारी गुस्सा दिखाई दिया। यहां वीरवार को दो जगहों पर युवाओं ने यातायात जाम कर दिया, जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस घटनाक्रम के पीछे, मुख्य वजह कांग्रेस हाईकमान की ओर से सचिन पायलट को मुख्यमंत्री घोषित नहीं करना, बताई जा रही है। बता दें कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने वीरवार को दिल्ली में उन राज्यों के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों को बुलवाया था, क्योंकि पार्टी पर्यवेक्षकों से बातचीत के बाद कांग्रेस को मध्य प्रदेश व राजस्थान में मुख्यमंत्री और कांग्रेस विधायक दल के नेता के नाम पर अंतिम फैसला लेना था। मध्य प्रदेश में जहां कांग्रेस कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने जा रही है जबकि पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से किसी एक को राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर देखा रहा था। बुधवार को सारा दिन सीएम पद को लेकर नवनिर्वाचित विधायकों की राय जानने के लिए पार्टी के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे और वेणु गोपाल ने बैठकें ली। वीरवार को मुख्यमंत्री पद के दोनों प्रबल दावेदारों अशोक गहलोत और सचिन पायलट को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली बुलाया था। अंतिम समाचार मिलने तक सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने का गुर्जर समाज के युवाओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है। ऐसे में राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री और नई सरकार के लिए अभी से चुनौतियों का दौर शुरू हो गया है। अब देखना यह है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और नए मुख्यमंत्री इन चुनौतियों का किस प्रकार सामना कर पाते हैं।

Have something to say? Post your comment

More in Rajasthan

लोकसभा आम चुनाव 2019 प्रति उम्मीदवार अधिकतम 70 लाख की राशि खर्च कर सकेंगे

राजस्थान -पीएम किसान सम्मान निधि योजना की हुई शुरूआत

हत्या के मुकदमे में मुझे साजिशन नाजायज फंसाया: अकबर खान

केन्द्रीय मंत्री निहालचंद, पूर्व मंत्री जोगेश्वर गर्ग सहित 17 को हाईकोर्ट का नोटिस

युवक को पेड़ से बांधकर जमकर पिटाई की

निर्माण विकास कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देवेंः- शिक्षा राज्यमंत्री

जिला न्यायाधीश ने किया जेल का निरीक्षण

सरजूदास महाराज बने अखिल भारतीय संत समिति के प्रदेशाध्यक्ष

शादी समारोह से लौटते वक्त कार और वैन में भिड़ंत, 12 लोगों की मौत

सम्भांग स्तरीय बैठक एक फरवरी को बीकानेर में