Friday, January 18, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
सामाजिक सस्थाओं के कार्यो से प्रभावित होकर कनाडा मे रह रहे सहरावत ने बच्चो को वितरित किये वस्त्र।घरौंडा में अविश्वास प्रस्ताव के 15 दिन बाद आज पत्रकारों के समक्ष रूबरू हुए नगरपालिका प्रधान। कमीशनखोरी के चक्कर में टैंडर के बावजूद भी शुरू नही हो रहे काम तरावड़ी मेंकन्या जन्म पर नांगलमाला में किया गया कुआं पूजन कार्यक्रम का आयोजनसमाजसेवी व पत्रकार प्रिंस लाम्बा ने गौशाला में सवामणी लगा मनाया अपना 16वां जन्मदिनभूपेंद्र हुड्डा जींद के चुनावी मैदान में दिखे सुरजेवाला के साथ ,चुनाव प्रचार भी किया तरावड़ी में सप्ताह में घटी चौथी चोरी की वारदात, पुलिस नाकामअमेठीः खेममऊ ग्रामसभा में समाजवादी कार्यकर्ताओं ने लगाया चौपाल
National

राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड कर घृणित अपराध कर रहे हैं राहुल गांधी----मनोहर लाल

राजकुमार अग्रवाल | December 18, 2018 08:58 PM
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का फ़ाइल फोटो
राजकुमार अग्रवाल

राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड कर घृणित अपराध कर रहे हैं राहुल गांधी----मनोहर लाल
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कांगे्रस अध्यक्ष की नीयत पर उठाए सवाल
हिटलर के प्रचार मंत्री जोसेफ गोयबल्स से की राहुल की तुलना

----राजकुमार अग्रवाल ---


चंडीगढ। राफेल सौदे में देश की सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय पर सवाल उठा रहे कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि उनके आरोप कल्पना पर आधारित, गलत और पूरी तरह से झूठ हैं, जिसके लिए उन्हें देश की जनता के सामने सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह उनकी कमजोर नीतियों का ही नतीजा है कि वर्ष 2007-14 के लंबे अंतराल में कांगे्रस सरकार इस रक्षा सौदे को सिरे नहीं चढा पाई, जो राष्ट्रीय सुरक्षा में गंभीर चूक साबित हो सकता था।
गुजरात के प्रमुख शहर और सिल्क-डायमंड सिटी के तौर पर मशहूर सूरत में मीडिया से मुखातिब हो रहे हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कांगे्रस अध्यक्ष राहुल गांधी की तुलना हिटलर के प्रचार मंत्री जोसेफ गोयबल्स से की, जो कहते थे कि किसी झूठ को इतनी बार कहो कि वो सच बन जाए और सब उसपर यकीन करने लगें। उन्होंने राहुल गांधी के राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड करने की कोशिश को घृणित अपराध की संज्ञा दी। उन्होंने कहा कि राष्ट्र की गरिमा संसद और प्रधानमंत्री जैसे ओहदों की बेइज्जती करने के अभ्यस्त व्यक्ति देश ही नहीं समाज के लिए भी खतरनाक हैं। उन्होंने याद दिलाया कि आज सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय पर सवाल उठाने वाले राहुल गांधी ने सितंबर 2013 में मनमोहन सिंह कैबिनेट से पारित एक अध्यादेश को फाडकर दर्शा दिया था कि व्यवस्था के प्रति वह कितने जिम्मेदार हैं और उनके दायित्वबोध का स्तर क्या है। देश की रक्षा को मजाक बनाना भी इनकी आदत में शुमार है। सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगने से लेकर कश्मीर में आतंकियों के हित में बोलकर कांगे्रसी बार-बार साबित कर रहे हैं कि देश की अखंडता से ज्यादा उनको अपने हितों की चिंता है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने स्पष्ट तौर पर निर्णय प्रक्रिया, डील की कीमत और आफसेट पार्टनर के चुनाव से संबंधित याचिकाओं को खारिज करते हुए राष्ट्रहित को सर्वोपरि मानते हुए जांच की गुंजाइश से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के निर्णायक फैसले में भी गांधी गलत ढंग से कहानियां घड कर देश की जनता को भ्रम में डालना चाहते हैं, ताकि यह देश और सवा सौ करोड आबादी उनसे रक्षा सौदों में देरी पर सवाल न पूछे। कांगे्रस शासन के दौरान सौदे बिना बिचैलिए पूरे नहीं होते थे और आज तक एक सरकार से दूसरी सरकार के स्तर पर सीधा रक्षा समझौता हो रहा है तो कांगे्रस तिलमिला रही है।
उन्होंने कहा कि सत्य की एक आवाज होती है और आज वह आवाज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, जिन्होंने देश की सुरक्षा को तरहीज देते हुए इस रक्षा सौदे की गंभीरता को समझ कर इस प्रक्रिया को आगे बढाया। मई 2015 से अप्रैल 2016 के बीच भारतीय वार्ता दल की 74 बैठकें हुई, जिसमें 26 बैठकें फ्रंासीसी पक्ष के साथ थी। जबकि गांधी परिवार के इशारे पर इस रक्षा सौदे को वर्ष 2007 से वर्ष 2014 मे अटकाए रखा गया। ऐसे में देश की जनता के लिए समझना आसान है कि कांगे्रस राहुल गांधी को स्थापित करने के लिए देश के मान-सम्मान को छलनी करने के किसी भी मौके को नहीं छोडना चाहती। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद एक कोरे झूठ के आधार पर पूरे देश को गुमराह करने का इससे बडा प्रयास कभी नहीं हुआ। उन्होंने कांगे्रस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपनी झूठ को स्वीकार करने तथा देश की जनता से माफी मांगने की नसीहत दी, अन्यथा भारतीय जनता पार्टी देश के एक-एक नागरिक तक कांगे्रस के देश की अखंडता के खिलाफ इस बडी साजिश को बेनकाब करने जाएगी।
बाक्स
राहुल से सवाल, जिम्मेदारी से दें जवाब
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे पर जितना झूठ देश की जनता के सामने बोला, सोर्स आफ इन्फार्मेशन क्या था, यह देश की जनता जानना चाहती है।
वर्ष 2007 में कांगे्रस की यूपीए सरकार ने डील की प्रक्रिया को फाइनल करने की शुरूआत की तो फिर 2007 से 2014 मे राफेल डील क्यों सोनिया-मनमोहन सरकार फाइनल नहीं कर पाई? क्या इसमें कमीशन का अमाउंट तय होना बाकी था या फिर दलालों की भूमिका निर्धारित करनी थी?
राफेल मुद्दे पर हम संसद में चर्चा के लिए तैयार हैं। हम कांगे्रस के नेताओं को चुनौती देते हैं कि वे सदन में इस मुद्दे पर चर्चा करें। सदन में चर्चा होगी तो देश की जनता को सारा सच मालूम हो जाएगा। आखिर कांगे्रस पार्टी चर्चा में भाग क्यों रही है? राफेल पर झूठ फैलाने वाले संसद में क्यों नहीं बोलते हैं?
आज झूठ का पर्दाफाश हुआ है, जो कांगे्रस की तरफ से देश को गुमराह करने के लिए रखा गया था। अगर कांगे्रस कहती है कि हम इस फैसले को नहीं मानते, तो क्योंकि झूठ का निर्माण एक परिवार ने किया है, तो क्या ये परिवार सुप्रीम कोर्ट ने उपर है?

Have something to say? Post your comment
More National News
डेरा सिरसा प्रमुख राम रहीम को कोर्ट ने दी उम्रकैद की सजा ,आखिर पूरा सच जीत ही गया
हिंदु नेता विष्णु हरि डालमिया के निधन पर अग्रवाल वैश्य समाज ने शोक प्रकट किया
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह एम्स में भर्ती, स्वाइन फ्लू का चल रहा इलाज
ढींगड़ा आयोग का गठन संवैधानिक - हाई कोर्ट
सत्ता की धरती बनेगा जींद- सुरजेवाला अंतरात्मा की आवाज पर जनता करे वोट का फैसला
मतदान के दिन चुनावी विज्ञापनों पर लग सकती है रोक
मॉडर्न मदर्स प्राइड स्कूल में हो रहा सैंकड़ों बच्चों के सुनहरी भविष्य का निर्माण
धार्मिक कार्यक्रमों से बढ़ता भाईचारा : गर्ग
पढ़े ---देशद्रोह के आरोप में फंस सकते हैं आप छोटी-छोटी बांतो से ---
फेसबुकिया नेताओं की राजनीति, जमीन पर नहीं दिखता इनका असर