Thursday, January 17, 2019
Follow us on
Uttar Pradesh

लखनऊ-जज ने लडक़ी और लडक़ी ने जज की न्यूड फोटो की वायरल, पुलिस डरी

अटल हिन्द ब्यूरो | December 21, 2018 03:23 AM
अटल हिन्द ब्यूरो

लखनऊ-जज ने लडक़ी और लडक़ी ने जज की न्यूड फोटो की वायरल, पुलिस डरी

युवती का आरोप शादी का झांसा देकर करता रहा यौन शोषण
न्यूड तस्वीरों को वायरल करने की धमकी देता है आरोपी न्यायाधीश
गोमती नगर थाने में पीडि़त युवती ने दी तहरीर, मामला छिपाने में जुटी पुलिस
न्यायाधीश के खिलाफ शिकायत पर कार्रवाई करने से बच रही पुलिस

-----4पीएम न्यूज़ नेटवर्क-----
लखनऊ। जज साहब कानून का ज्ञान देते हैं। मगर जब फेसबुक पर एक लडक़ी से दोस्ती हुई तो सारा ज्ञान भूल गए। फेसबुक से दोस्ती व्हाट्सएप तक पहुंची और फिर सामान्य बातचीत अश्लीलता की हदें लांघ गई। दोनों ने एक दूसरे को न्यूड फोटो भेजे। मामला तब बिगड़ा जब लडक़ी ने जज साहब से शादी जल्दी करने को कहा। जज साहब ने आनाकानी की तो लडक़ी जज साहब के खिलाफ यौन शोषण का मामला लेकर थाने पहुंच गई।
थाने में मऊ में तैनात जज साहब का नाम सुनकर पुलिस के पसीने छूट गए। लडक़ी तीन घंटे तक थाने में रही, मगर इंस्पेक्टर साहब ने लडक़ी की एक नहीं सुनी। लडक़ी का कहना है कि वह अपने यौन शोषण के खिलाफ आवाज बुलंद करके रहेगी।
4पीएम ने जब जज साहब से इस मामले में पूछा तो उन्होंने लडक़ी के चरित्र पर सवाल खड़े करते हुए लडक़ी की न्यूड फोटो भेज दी, जबकि लडक़ी ने भी जज साहब की न्यूड फोटो और चैट भेज दी।
पुलिस के आला अफसर भी इस मामले में मुंह खोलने को तैयार नहीं है। क्योंकि मामला हाईप्रोफाइल है और न्यायपालिका से जुड़ा हुआ है। मगर दोनों पक्ष जिस तरह एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं उससे यह मामला और तूल पकड़ेगा ये बात तो तय है।
जज का नाम सुनकर पसीने-पसीने हो गए गोमती नगर के इंस्पेक्टर, लडक़ी को टरकाया
इस मामले में कोतवाल त्रिलोकी सिंह ने इस संवाददाता से पूछा कि क्य वह लडक़ी खुद आपको बता रही है। जब संवाददाता ने यह बताया कि नहीं उसे पता चला है तो उन्होंने कहा कि मामला यहां का नहीं है, न ही युवती यहां की है और न ही आरोपी न्यायाधीश यहां के हैं। इसके बाद भी तहरीर ले ली गई है। मामले की जांच की जाएगी। सवाल उठता है कि जब मामला उनके यहां का नहीं है तो उन्होंने जांच करने के लिए तहरीर क्यों ली। उन्होंने संबंधित थानाध्यक्ष से बात कर उसकी समस्या का समाधान क्यों नहीं किया, जबकि नियम यह भी है कि महिला की बात सुनने व कार्रवाई करने के लिए हर अधिकारी स्वतंत्र है। उन्होंने पीडि़ता का नम्बर भी देने से मना कर दिया।

क्या कहते हैं आरोपी न्यायाधीश
इस मामले में आरोपी न्यायाधीश ने कहा कि युवती से फेसबुक पर एक माह पहले मुलाकात हुई थी। वह ब्लैकमेल कर रही है। मेरी शादी तय हो गई है। जब उनसे यह पूछा गया कि आपने कहीं शिकायत की है तो उन्होंने कहा कि अभी मैंने शिकायत नहीं की है। उसने माफी मांग ली थी कि वह ऐसा नहीं करेगी।

Have something to say? Post your comment
More Uttar Pradesh News
गोंडा-टीम को उत्क्रिस्ट कार्यो के लिए किया गया सम्मानित
गोंडा-जिला निर्वाचन अधिकारी ने वोटर्स अवेयरनेस फोरम की किया लान्चिंग
लीपापोती -पीड़िता के पति को नहीं मिल रहा न्याय मृतक के पास 3 बच्चे भी
मोदी के 11 मंत्रियों में से 7 पर हार का खतरा ?2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तरप्रदेश में
सपा-बसपा गठबंधन पर बोले अखिलेश, 25 मिनट की मुलाकात ने मिटा दी 25 साल की दुश्मनी
सम्पूर्ण समाधान दिवस में नहीं पहुॅचे पूर्ति अधिकारी एवं अधिशासी अभियन्ता तो वेतन रोकने का हुआ आदेश
दर्दनाक हादसा यूपीः जलती हुई स्कूली वैन में तड़पते रहे बच्चे, गाड़ी का गेट लॉक छोड़कर भाग गया चालक
शुकुल बाजार बड़ौदा बैंक की साख गिराने में लगे खुद शाखा प्रबन्धक
थाना मान्धाता पुलिस का बड़ा कारनामा ग्रामीणों ने पिस्टल सहित पकड़वाया थानाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने 12 बोर कट्टे में चालान कर दिया 307 के आरोपी को पकड़ने के बाद नही लगाया गया धारा 307
IAS बी चन्द्रकला के आवास पर CBI का छापा...