Thursday, January 17, 2019
Follow us on
Uttar Pradesh

यू.पी में यह कैसा नारी सशक्तिकरण,जहां बरामद नहीं हो रही किशोरियां

अटल हिन्द ब्यूरो | December 22, 2018 07:34 PM
अटल हिन्द ब्यूरो
यू.पी में यह कैसा नारी सशक्तिकरण,जहां बरामद नहीं हो रही किशोरियां
 
लखीमपुर खीरी(अटल हिन्द न्यूज )नारी सशक्तिकरण का कार्यक्रम जनपद भर में भले ही जोर शोर से चलाया जा रहा हो और यू.पी सरकार के द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लाख प्रयास किए जा रहे हो किन्तु जनपद खीरी में इस कार्यक्रम का कोई महत्व नहीं है।विभिन्न थाना क्षेत्रों में करीब दो माह से अधिक समय से नाबालिक किशोरियां घर से गायब हैं और पुलिस जांच के नाम पर खानापूर्ति कर रही है।पीड़ितों का आरोप है कि उनके द्वारा थाना कोतवाली में मुकदमा भी पंजीकृत कराया गया है लेकिन पुलिस उनकी नाबालिक बेटियों को तलाश नहीं कर सकी है जिसके चलते अब पीड़ितों का धैर्य भी काम करना बन्द कर दिया है तथा हर समय पीड़ित पुलिस विभाग के अधिकारीयों को कोसते रहते हैं।कोतवाली मोहम्मदी क्षेत्र के एक गांव निवासी नाबालिक किशोरी के पिता शिव प्रताप सिंह ने बताया है कि उसकी नाबालिक किशोरी घर से शौंच के लिए गयी थी लेकिन वह वापस नहीं लौटी।परिवार के लोगों ने काफी खोजबीन की लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला जिसके बाद पीड़ित ने गांव के ज्ञानेन्द्र सिंह तथा छोटे सिंह के खिलाफ कोतवाली मोहम्मदी में अभियोग दर्ज कराया है। जिसकी जांच पुलिस कर रही है।घटना मैलानी थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी की है जहां इसी थाना क्षेत्र के गांव पूरनपुर निवासी सतीश मिश्रा नाम के एक युवक द्वारा नाबालिक लडकी को बहला फुसलाकर लेकर फरार हो गया है।घटना की सूचना पीड़ित पिता के द्वारा 6 अक्टूबर 18 को मैलानी थाने पर दी जिसके आधार पर मैलानी पुलिस ने अभियोग पंजीकृत किया और जांच संसारपुर पुलिस चौकी के प्रभारी निरीक्षक को सौपी थी।उक्त घटना को घटित हुए दो माह बीत गये है लेकिन अभी तक आरोपितों को पुलिस गिरिफ्तार नहीं कर सकी है जिससे मैलानी थाने की पुलिस पर गम्भीर आरोप लग रहे हैं।इस मामले को लेकर पीड़ित ने सी.ओ गोला से मिलकर कार्रवाई की मांग की थी लेकिन सीओ गोला के आश्वासन के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई जिससे बेबस पिता अपनी नाबालिक पुत्री को बरामद कराने के लिए दो माह से पुलिस के आला अधिकारियों तक की चौखट पर दौड लगाकर थक चुका है वहीं खीरी पुलिस ऐसे मामले पर कार्रवाई करना तो दूर पीड़ित की शिकायतों को भी पुलिस गम्भीरता से नहीं ले रही है।पीड़ित ने डी.एम खीरी,यूपी राज्य महिला आयोग,मानवाधिकार आयोग सहित मुख्यमंत्री तक शिकायत भेजी फिर भी कार्रवाई नहीं हुई और पुलिस ने मामले को ठण्डे बस्ते में डाल दिया।यहां तक कि मामले को ट्वीटर के माध्यम से यू.पी डीजीपी,यू.पी पुलिस,एस.पी खीरी,खीरी पुलिस,डी.एम खीरी,महिला एवं बाल विकास मंत्री,पीएमओ भारत सहित ग्रह मन्त्री के साथ साथ कई जिम्मेदार अधिकारियों तक नाबालिक की बरामदगी के लिए शिकायत भेजी गयी किन्तु कार्रवाई शून्य रह गयी।इस सम्बन्ध में जब प्रभारी जांच अधिकारी धर्मदास सिद्धार्थ से बात की गयी तो उनके द्वारा बताया गया कि मामला न्यायालय में विचाराधीन है इसलिए इस मामले पर जो न्यायालय का निर्णय होगा उस पर विधिक कार्रवाई की जायेगी।
Have something to say? Post your comment
More Uttar Pradesh News
गोंडा-टीम को उत्क्रिस्ट कार्यो के लिए किया गया सम्मानित
गोंडा-जिला निर्वाचन अधिकारी ने वोटर्स अवेयरनेस फोरम की किया लान्चिंग
लीपापोती -पीड़िता के पति को नहीं मिल रहा न्याय मृतक के पास 3 बच्चे भी
मोदी के 11 मंत्रियों में से 7 पर हार का खतरा ?2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तरप्रदेश में
सपा-बसपा गठबंधन पर बोले अखिलेश, 25 मिनट की मुलाकात ने मिटा दी 25 साल की दुश्मनी
सम्पूर्ण समाधान दिवस में नहीं पहुॅचे पूर्ति अधिकारी एवं अधिशासी अभियन्ता तो वेतन रोकने का हुआ आदेश
दर्दनाक हादसा यूपीः जलती हुई स्कूली वैन में तड़पते रहे बच्चे, गाड़ी का गेट लॉक छोड़कर भाग गया चालक
शुकुल बाजार बड़ौदा बैंक की साख गिराने में लगे खुद शाखा प्रबन्धक
थाना मान्धाता पुलिस का बड़ा कारनामा ग्रामीणों ने पिस्टल सहित पकड़वाया थानाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने 12 बोर कट्टे में चालान कर दिया 307 के आरोपी को पकड़ने के बाद नही लगाया गया धारा 307
IAS बी चन्द्रकला के आवास पर CBI का छापा...