Sunday, March 24, 2019
BREAKING NEWS
10 के सिक्के नहीं लेने पर एफआईआर—-आरबीआई के टोल फ्री नंबर 144040फरीदाबाद पहुंचे प्रदेश के मुख्य चुनाव आयुक्त -लोकसभा चुनाव को लेकर अधिकारियों के साथ की समीक्षा दो दिवसीय वॉलीवाल प्रतियोगिता के पहले दिन लडकियों की प्रतियोगिता करवाईजिला अस्पताल में पड़पते आदमी की आवाज बनी कमला यादव, लेकिन उसके बाद क्या ?कुताना--शवों को रखकर धरना-प्रदर्शन करते हुए रिफाइनरी अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कीविकास उर्फ पिंटू हत्याकांड :- आज तक भी नही थमे परिजनों के आंसू, रो-रोकर पत्नी का भी हाल बेहालहर व्यक्ति में देश के प्रति सच्चा जनून होना चाहिए :-राजेश वशिष्ठ कुलदीप बिश्रोई की गैर-मौजूदगी सेचली भाजपा में जाने की चर्चाएंलिंग जांच की सूचना दे, दो लाख का ईनाम लेबिना दहेज केवल 1 रुपया लेकर भाजपा नेत्री के बेटे ने कर ली शादी

Uttar Pradesh

गोंडा -जिद पर अड़े बाबाजी कर रहे उपवास, तबियत बिगड़ी

December 24, 2018 05:24 PM
प्रदीप पांडे की रिपोर्ट

(प्रदीप पाण्डेय)

गोंडा -जिद पर अड़े बाबाजी कर रहे उपवास, तबियत बिगड़ी

----गौसेवा धाम में जिला प्रशाशन और जनप्रतिनधि का नही मिल रहा सहयोग

गोंडा।
बिकासखंड क्षेत्र इटियाथोक अंतर्गत सिंघवापुर में स्थित गौसेवा धाम हॉस्पिटल के संचालक बाबा संतोषी दास विगत कई माह से अपनी मांगो को लेकर जिद पर अड़े है और वह भोजन को त्यागकर हलके फलाहार व चाय के सहारे जीवन व्यतीत कर रहे है, जिस वजह उनकी तबियत इस वक्त खराब चल रही है। उनके गौसेवा केंद्र पर अनेक बीमार और लाचार गायो की निःशुल्क सेवा होती है जिसमे जनसहयोग भी रहता है। बाबा का कहना है की भीषण ठंढ में गाये खुले में रहकर मर रही है, जबकि जिला प्रशाशन और जन प्रतिनिधि कुछ सहयोग नही कर रहे है। बाबा कहते है की जन प्रतिनिधि वादा करके गायब है और यहाँ की स्थित काफी खराब है। इन्ही बातो को लेकर बाबा काफी नाराज है और वे कई माह से भोजन भी त्याग दिए है, इनका स्वास्थ्य भी इस वक्त खराब चल रहा है। इनका कहना है की जबतक सहयोग नही मिलेगा भोजन को हाथ नही लगाएंगे।
बाबा संतोषी दास के गौसेवा धाम में अनेक गायो का निःस्वार्थ इलाज होता है और उनकी सेवा की जाती है। यही नही बल्कि सूचना मिलने पर आस- पास के गांव- गांव में टीम सहित बाबा स्वयं जाकर ऐसी बीमार और लाचार या चोटिल गोवंशो का निःशुल्क इलाज भी करवाते है। यदि जरूरत हुई तो इन्हें साथ में गौसेवा धाम भी लाया जाता है। उक्त गौसेवा केंद्र के प्रबंधक बाबा संतोषी दास जब भी गौवंश के इलाज हेतु गांव में टीम सहित जाते है तो वे ग्रामीणों को गौसेवा का पाठ भी पढ़ाते है। सिंघवापुर ग्राम पंचायत के निकट शंकर सिंह चौराहा के पास मौजूद एक देवी मंदिर पर विगत कई वर्षों से बाबा संतोषी दास रहकर वहां पूजा अर्चना करते थे। उन्होंने देखा कि इलाके में तमाम गोवंश लोगों द्वारा छोड़ दिए जाते हैं जो बीमार और लाचार स्थित में इधर- उधर पड़े रहकर मौत के मुंह में चले जाते हैं। बाबा ने आसपास के कुछ समाजसेवीओं के साथ मिलकर इनके सेवा और मुफ्त इलाज हेतु एक हॉस्पिटल खोले जाने की योजना बनाई। जिसमें इलाके के तमाम लोगों ने सहयोग किया। अब से करीब दो साल पहले इन्होंने सिंघवापुर में सत्य ईश्वर श्रीपाल दास गौसेवा धाम हॉस्पिटल समिति का पंजीकरण करवाकर गौसेवा धाम का स्थापना करवाया। धीरे- धीरे लोगों के हाथ आगे बढ़े और जन सहयोग से इस गौसेवा धाम ने काफी तरक्की किया।
गौसेवा धाम के प्रबंधक बाबा संतोषी दास ने बताया कि क्षेत्र से बीमार और लाचार गायों और बछड़ों को यहां लाकर उनका निशुल्क इलाज किया जाता है और उनकी सेवा की जाती है। बाबा ने बताया कि इस वक्त यहां पर करीब 35 गाय है। कहा कि सूचना मिलने पर आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर मौके पर ऐसे गोवंशों का निशुल्क इलाज किया जाता है, जिसमें उनकी चिकित्सक टीम भी उपस्थित रहती है। उन्होंने बताया कि जरूरत पड़ने पर इनको गौ सेवा धाम भी लाया जाता है। प्रबंधक ने कहा कि अबतक ऐसे 100 से अधिक गोवंशो की सेवा की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि यहां पर तकरीबन 70 से 90 हजार रुपये प्रति माह व्यय हो रहे हैं, जो कड़ी मेहनत के बाद किसी तरह जनसहयोग से प्राप्त हो रहे हैं। जानकारी देते हुए बाबा ने बताया कि पूर्व में कुछ क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने सहयोग का वादा किया था जो अबतक पूरा नही हुवा और जिला प्रशाशन भी मौन है।
बाबा ने बताया की पूर्व में मेहनौन विधायक विनय द्विवेदी ने गौसेवा धाम को 51000 रुपये देकर अपना सहयोग प्रदान किया था। बाबा ने कहा की शासन- प्रशासन और जनप्रतिनिधियों द्वारा गौसेवा धाम को सहयोग की जरूरत है, क्योंकि आर्थिक संकट से गौसेवा धाम इन दिनों जूझ रहा है। बाबा ने बताया की मध्यनगर गांव निवासी पशु चिकित्सक रज्जन सिंह नियमित रूप से साथ में रहकर गोवंशो का निस्वार्थ इलाज करते हैं। बाबा ने कहा कि क्षेत्र में जितने भी गोवंश घायल अवस्था में मिलते है उनमे अधिकाँश खेतों में लगाए गए आरी ब्लेड से कटकर जख्मी हुए मिलते है। इनका कहना है कि खेतों की सुरक्षा के लिए कटीले तार लगाए जाएं तो ठीक हैं किंतु आरी ब्लेड लगाए जाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगना चाहिए। बाबा ने लोगो से अपील करते हुए कहा कि इलाके में अगर कहीं ऐसे गोवंश घायल और लाचार स्थित में पड़े हुए हैं तो उनकी सूचना लोग गौसेवा धाम को दे सकते हैं, ताकि उनका समय पर इलाज किया जा सके और उन्हें मौत से बचाया जा सके।

क्या कहते है क्षेत्र के समाजसेवी
समाजसेवी शुक्ला प्रसाद शुक्ला ने कहा कि क्षेत्र में गौसेवा धाम के द्वारा बाबा बेहतर कार्य कर रहे हैं। इसकी जितनी भी सराहना की जाए कम है। उन्होंने कहा कि ऐसे गौसेवा धाम जिले के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में होने चाहिए। इन्होंने कहा की खेतो में पशुओ से फसल सुरक्षा हेतु लगने वाले कंटीले तार तो ठीक है परन्तु आरी ब्लेड लगाये जाने से अनेक जानवर कटकर घायल हो रहे है। कहा की इसपर शाशन- प्रशाशन को पूर्ण रूप से प्रतिबन्ध लगाना चाहिए। क्षेत्र के समाजसेवी प्रदीप शुक्ला ने कहा कि इस गौसेवा धाम द्वारा क्षेत्र के बीमार, लाचार और चोटिल गोवंशो का निस्वार्थ सेवा और इलाज किया जाता है। यह अत्यंत सराहनीय कार्य है। क्षेत्र के शिक्षक मनोज मिश्र और संतोष सिंह ने कहा की बाबा द्वारा यह एक अच्छी पहल की गई है। जन-जन को इस पुनीत कार्य में अपना सहयोग करना चाहिए। इसके अलावा जिला प्रशासन सहित जनप्रतिनिधियों को इसमें पूरी निष्ठा से अपनी सहायता देनी चाहिए। समाजसेवी दिनेश शुक्ल ने कहा की यह एक सराहनीय कार्य है। जिले में ऐसे अनेक गौसेवा धाम होने चाहिए, जहाँ बीमार, घायल और लाचार गोवंशो की मुफ़्त इलाज और सेवा हो।

Have something to say? Post your comment

More in Uttar Pradesh

जिला अस्पताल में पड़पते आदमी की आवाज बनी कमला यादव, लेकिन उसके बाद क्या ?

एक बार फिर मान्धाता में पीने के पानी के लिए मचा हाहाकार

राशन कार्ड पंजीकरण में धांधली, गरीबों तक नहीं पहुंच रहा राशन

सेण्टर आफ एक्सिलेंस’ —प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत का सपना साकार हुआ है —मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

यूपी के 80 लोकसभा सीट पर 7 चरणों मे होंगे चुनाव ,चुनाव आयोग ने की तारीखों का एलान अचार सहिता लागू

एमिटी यूनिवर्सिटी में चित्रकारों का अपमान चित्रकारों ने उतरवाई अपनी पेंटिंग

भयहरणनाथ धाम के 19वें महाकाल महोत्सव का हुआ भव्य समापन

अमेठी पहुॅचे प्रधानमंत्री मोदी, विकास के लिए दिये करोड़ो का सौगात, जनसभा को भी किया सम्बोधित, विरोध में लगे पोस्टर्स

स्वच्छता को मुंह चिढाता शाहजहांपुर का जिला अस्पताल

ऐसा गांव जहां आज तक नहीं बनी सड़क जिस कारण टूट जातीं हैं शादियां