Monday, March 18, 2019
BREAKING NEWS
कर्मगढ़ गांव में शहीद रमेश कुमार लाइब्रेरी का उद्घाटन शिक्षा ही सबसे बड़ा धन-रामनिवास सुरजाखेड़ा हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों पर खिलेगा कमल-कृष्ण बेदीकाग्रेस नेत्री विद्या रानी दनोदा ने किए गांवों के दौरे ेदेश व प्रदेश में काग्रेस लहराएगी परचम-विद्या रानी दनोदा क्षमता से अधिक भंडारण पाए जाने पर राजस्व बिभाग की टीम ने की कार्यवाहीदेश में 53 जवान शहीद हो गए और बीजेपी सरकार उनकी शहादत पर गौरव यात्रा निकल रही है, जोकि बड़ी ही निंदनीय बात है-दुष्यंत चौटालालोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी पूरी तरह तैयार: गौरव गोयलगेस्ट टीचरों के 58 साल तक स्थायीत्व व छह माह में महंगाई भत्ता देने की मांग को सरकार ने गंभीरता से लिया है।पिता अपने दोनों बच्चों समेत ट्रेन के आगे कूदा, पिता-पुत्र की मौतलुहारी गांव में 109 परिवारों ने जताई भाजपा में आस्था, मोदी को बताया सशक्त प्रधानमंत्रीचप्पे-चप्पे पर चप्पल की चर्चा: दुष्यंत चौटाला

Crime

रादौर में 5 दिनो में सुलझ गई घेसपुर में हुई युवक की हत्या की गुत्थी

December 29, 2018 05:06 PM
अटल हिन्द ब्यूरो
रादौर में 5 दिनो में सुलझ गई घेसपुर में हुई युवक की हत्या की गुत्थी 
पत्नी के साथ नाजायज संबंधो से परेशान होकर की गई थी संदीप की हत्या, रिश्ते में भांजा लगने वाले युवक ने दिया घटना को अंजाम
हत्या के बाद पूरी रात नहीं सोया था हत्यारा मनोज
रादौर, 29 दिसंबर (रविन्द्र सैनी): रादौर के गांव घेसपुर में पांच दिनो पहले हुई युवक की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। युवक का हत्यारा गांव में ही पड़ोस में रहने वाला युवक है, जो रिश्ते में मृतक युवक का भांजा लगता है। जिसने अपनी पत्नी के साथ रिश्ते में मामा लगने वाले मृतक युवक संदीप के साथ नाजायज संबंधो से परेशान होकर यह कदम उठाया। युवक की हत्या को अंजाम चाचा भतीजे ने मिलकर दिया और सुबह शव को गांव के बाहर फेंक दिया। सुबह जब ग्रामीणो ने संदीप के शव को गांव के पास पड़ा देखा तो किसी को हत्यारे मनोज पर शक न हो वह भी ग्रामीणो के साथ मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने 5 दिनों में ही हत्या की गुत्थी सुलझा ली और आरोपी चाचा-भतीजे को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उनका रिमांड मांगा जाएगा। 
शनिवार को प्रैस कांफ्रेस कर मामले जानकारी देते हुए डी.एस.पी अजय राणा व थाना प्रभारी रमेश चंद ने बताया कि हत्या के बाद उन्हें मुखबरी मिली थी कि संदीप का गांव के ही युवक मनोज के साथ एक दो बार झगड़ा हो चुका था। झगड़े का कारण मनोज की पत्नी के मृतक संदीप के साथ अवैध संबंध बताए जा रहे थे। शक के आधार पर पुलिस ने मनोज को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। शुरूआत में मनोज हत्या से मुकरता रहा लेकिन जब पुलिस ने थोड़ी सख्ती दिखाई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। मनोज को संदीप के साथ अपनी पत्नी के साथ नाजायज संबंध होने से परेशान था। इसी कारण उनका कई बार झगड़ा भी हो चुका था। मनोज का पिता घेसपुर में घर जमाई बनकर रह रहा है।  23 दिसंबर को मनोज की रिश्तें नानी लगने वाली महिला की क्रिया थी। जिसमें मनोज का सगा चाचा महक भी आया हुआ था जो कि फौज से सेवानिवृत है। मनोज शाम के समय अपने चाचा महक के साथ नहर की पटरी के पास घूम रहा था इससे पहले उसने अपने चाचा महक को शराब पिलाई। जिसके बाद जब वह घर लौट रहे थे तो उन्हें रास्ते में संदीप मिल गया। मौका पाकर मनोज ने संदीप को तुरंत मारने की योजना बना ली। मनोज के चाचा महक ने संदीप के पैर पकड़े और मनोज ने उसका गला दबाकर हत्या कर दी। जिसके बाद वह उसके शव को कंधे पर लादकर जलघर में ले आए। अल सुबह करीब 4 बजे उन्होंने संदीप के शव को बाहर फेेंक दिया। हत्या के बाद मनोज पूरी रात नहीं सोया और लाश को ठिकाने लगाने की सोचता रहा। सुबह जब संदीप का शव ग्रामीणो ने देखा तो मामले की सूचना पुलिस को दी। 
बॉक्स 
हत्या करने का नहीं है कोई पछतावा-हत्यारा मनोज 
युवक संदीप के हत्यारे मनोज ने बताया कि उसे संदीप की हत्या करने का कोई पछतावा नहीं है। वह रिश्ते में उसका मामा लगता था। लेकिन फिर भी उसके उसकी पत्नी के साथ नाजायज संबंध थे। गांव के अन्य युवको ने भी उसे कई बार इस बारे बताया। जिसको लेकर वह कई बार संदीप को समझा चुका था। लेकिन वह अपनी हरकतो से बाज नहीं आया। उसकी पत्नी व संदीप की हर दिन बात होती थी। 23 दिसंबर की शाम को उसे मौका मिल गया और उसने संदीप को मौत के घाट उतार दिया। जिसका उसे कोई भी पछतावा नहीं है। 

Have something to say? Post your comment

More in Crime

दिल्ली में हत्या का आरोपी भगौडा सचिन चढा कंडेला गांव में सीआइए के हत्थे

कर रहा था अफीम तस्करी पुलिस ने किया काबू

7 आरोपियों से 96 बोतल शराब बरामद

8 ग्राम स्मैक व तस्करी में प्रयुक्त बगैर नं. बाईक बरामद

नाजायज असला रखने वाले असामाजिक तत्वों की धरपकड़के लिए मुहीम

बैंक में पीओ की नौकरी के नाम पर हड़पे साढे 5 लाख रूपये

नाबालिग दोषी को कोर्ट ने सुनाई 14 साल की कैद, कहा- बन सकता है अच्छा इंसान

निजी बस ने स्कूली छात्रा को कुचला, मौके पर ही मौत

हमलावरो की गिरफ्तारी को लेकर सारन थाने में किया लोगों ने जोरदार प्रदर्शन

निलंबित एसडीओ को कोर्ट ने सुनाई सात साल की सजा,पत्नी की हत्या का दोषी पाया