Monday, January 21, 2019
Follow us on
Haryana

किसी बड़े उद्योग के बिना दक्षिण हरियाणा का उद्धार होना असंभव

January 10, 2019 08:32 PM

किसी बड़े उद्योग के बिना दक्षिण हरियाणा का उद्धार होना असंभव


मारूति उद्योग को स्थापित करवाने के लिए कंसी कमर


गौमाता की रक्षा व सेवा के लिए संपूर्ण समाज को आना चाहिए आगे: बलवान सिंह फौजी

 


सतनाली मंडी (प्रिंस लांबा)।

गाय को हिंदु धर्म में सबसे श्रेष्ठ माना जाता है। गौमाता में 33 करोड़ देवी-देवता वास करते हैं। गाय के दूध अमृत के समान होता है। भारत में गाय को एक पवित्र पशु के साथ-साथ माता का दर्जा भी दिया जाता है। संपूर्ण भारत वर्ष में करोड़ों हिंदु गाय की पूजा करते हैं परंतु आज गाय अपनी दयनीय हालत पर आंसू बहा रही है। अब समय आ गया है कि गौमाता को बचाने के लिए आमजन को आगे आने की जरूरत है। उक्त विचार मानव कल्याण संगठन चेयरमैन बलवान सिंह फौजी झूक ने क्षेत्र के गांव माधोगढ़ स्थित बाबा गुदडिय़ा गौशाला में 19वें वार्षिकोत्सव पर आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम के दूसरे दिन व्यक्त किए। गौशाला में पहुंचने पर प्रधान व कमेटी द्वारा उनका पगड़ी व शॉल ओढ़ाकर स्वागत व सम्मान किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने 21 हजार रूपये की धनराशि गौमाता के चरणों में भेंट की।

 


कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए बलवान सिंह फौजी ने गौसंरक्षण व गौसंवर्धन पर जोर दिया तथा कहा कि हमारे समाज में यह मान्यता है कि कोई भी शुभ कार्य करने से पहले गौमाता के दर्शन करना शुभ होता है तो फिर जब गौमाता की रक्षा का सवाल आता है तब सब पीछे हट जाते हैं। यह संपूर्ण समाज का कत्र्तव्य बनता है वह गौरक्षा व गौसेवा के लिए आगे रहें। उन्होंने कहा कि आज गौशालाओं के हालात बद से बदतर है फिर भी अगर ईश्वर ने चाहा तो हम प्रयासरत हैं कि यहां मारूति उद्योग को महेंद्रगढ़ में स्थापित करवाएंगें। जिसको 1300 एकड़ जमीन की आवश्यकता है तथा एक वर्ष में 12 हजार करोड़ का ट्रनओवर होता है। अगर इस उद्योग को महेंद्रगढ़ जिला के सतनाली, नांगल चौधरी, नारनौल, ढहीना, कनीना, अटेली या दादरी जिला में कहीं स्थापित करवा दिया जाता है तो यहां का उद्धार हो जाएगा तथा इस क्षेत्र के युवाओं को रोजगार के लिए अन्य क्षेत्रों में भटकना नहीं पड़ेगा। वे यहीं रहकर रोजगार प्राप्त कर सकते हैं साथ ही आसपास लगते सभी ग्राम पंचायतों के खातों में एक से डेढ़ करोड़ रूपये हमेशा रहेंगे जो गांवों के विकास हेतु मददगार होंगे।

 


उन्होंने कहा कि उद्योग स्थापित होने से यहां के युवाओं को रोजगार तो मिलेगा साथ ही गौशालाओं को भी लाभ पहुंचेगा। प्रत्येक व्यक्ति अपनी आय से अगर 10 प्रतिशत भी गौशाला को दान देता है तो गौशालाएं काफी विकसित होंगी और गौमाता की स्थिति में सुधार होगा। इससे गौमाताएं की सेवा भी होगी और समाज को एक नई दिशा मिलेगी। फौजी ने लोगों को यह आश्वासन दिया है कि हम पूरी तरह से प्रयासरत है तथा किसी भी सूरत मारूति उद्योग को हमारे क्षेत्र में लाकर रहेंगे। यहां की जनता व युवाओं के लिए चाहे हमें कुछ भी करना पड़े। अब जरूरी हो गया है किसी बड़े उद्योग को इस क्षेत्र में लाना। जब तक हमारे क्षेत्र में कोई उद्योग नहीं आता है तब तक यहां का उद्धार संभव नहीं है यह पिछड़ा था और पिछड़ा ही रहेगा।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
कमीशन खाने वालों को दिखाएंगे बाहर का रास्ता : सुरेंद्र कमांडो
विकिरण से आम जन को बहुत कम खतरा : संदीप पाल
कार ने महिला को कूचला, महिला की मौके पर ही दर्दनाक मौत
विधायक जसविंदर सिंह का पार्थिव शरीर पंचतत्व में हुआ विलिन
घरौंडा नगरपालिका के आदेशों को ठेंगा दिखाते हुये निजी स्कूल में 65 फुट ऊँची बिल्डिंग का अवैध निर्माण जारी
डी ग्रुप भर्ती के परिणाम में कैथल जिले के 1037 लोगों का हुआ चयन
पंचायत में युवक हुए उग्र, सरपंच पर ही बोल दिया हमला गांव गुमथला में
किसानों के धैर्य को कमजोरी समझने की भूल ना करे सरकार: भाकियू
देश व समाज के उत्थान के लिए सभी लोगों को साथ मिलकर आगे बढऩा होगा - राज्यपाल
सोनीपत जेल में विचाराधीन कैदी ने बाथरूम में फंदा लगाकर की आत्महत्या