Saturday, February 16, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
आयकर विभाग ने किया जींद ,नरवाना ,और सफीदों में सर्वे पूर्व चेयरमैन यशपाल प्रजापति सहित 10 पार्षदों ने वीरवार को नगर परिषद परिसर में धरना दिया आप की खुट्टा पाड़ रैली की जगह होगी शहीद श्रद्धांजलि सभा : जयहिन्दशर्मनाक -44 जवानों को शहादत को भूल ,कांग्रेस के मंच पर लगे ठुमके आम आदमी पार्टी की खुट्टा पाड़ रैली की जगह होगी शहीद श्रद्धांजलि सभाबिल्डर ने पैसे के लालच में बरसाती नाले पर ही कब्जा कर काट दिए इंडस्ट्रियल प्लॉट !दीपेंद्र का विजयरथ रोकनें के लिए भाजपा में कशमकश,नहीं मिल पा रहा जिताऊ उम्मीदवारलोकसभा में पुराने चेहरे तो विधानसभा चुनावों में युवा चेहरों को मिल सकती है तव्वजो
 
 
Punjab

अकाली दल को छोड कर गए चार पार्षद अपने साथियों समेत मनप्रीत बादल की हाजरी में होगें कांग्रेस में शामिल

बठिंडा से परविंदर सिंह | January 16, 2019 06:25 PM
बठिंडा से परविंदर सिंह

अकाली दल को छोड कर गए चार पार्षद अपने साथियों समेत

मनप्रीत बादल की हाजरी में होगें कांग्रेस में शामिल

बठिंडा। अकाली दल में सुनवाई न होने के कारण पार्टी को अलविदा कहने वाले चार टकसाली अकाली पार्षद वीरवार को सूबे के वित मंत्री मनप्रीत सिंह बादल की हाजरी में कांग्रेस में शामिल होगें। इस संबंधी पार्षद रजिंदर सिंह ने पुष्टि कर दी है। उनका कहना था कि उनके साथ दो ओर पूर्व पार्षदों के अलावा सर्किल अध्यक्ष भी कांग्रेस में शामिल होने जा रहे है।


अकाली दल छोडने वाले मौजूदा पार्षदों में रजिंदर सिंह, मास्टर हरमंदर सिंह, निर्मल संधु और राजू सरां के नाम शामिल है जबकि दो पूर्व पार्षदों में एक महिला पार्षद परविंदर कौर के अलावा एक अन्य नाम शामिल है।

 

पार्षद रजिंदर सिंह ने बताया कि वो टकसाली अकाली वर्कर के तौर पर पार्टी के साथ पिछले तीन दहाकों से काम कर रहे थे। लेकिन अब शिअद में पीए कल्चर इतना भारी हो चुका है कि टकसाली अकाली वर्करों को नजरअंदाज करने के अलावा जलील किया जा रहा है। पार्षद ने बताया कि वीरवार को माल रोड पर स्थित सुभाष मार्किट में कांग्रेस पार्टी के होने वाले एक बडे समागम के दौरान वह अपने साथी पार्षदों समेत कांग्रेस में शामिल हो रहे है। पार्षद ने आरोप लगाया कि पहले पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल और उनके पुत्र सुखबीर सिंह बादल ने डेरा मुखी के खिलाफ केस करवाया जब चुनाव नजदीक आ गए तो डेरा सर्मथकों की वोट हासिल करने के लिए उस पर बादल पिता पुत्र ने दवाब बनाकर डेरा मुखी खिलाफ अदालत में चल रहे केस को वापिस करवाया । उन्होंने कहा कि इस के अलावा गुरू ग्रंथ साहिब की बेअदबी हुई तब भी बादलों ने कोई कदम नहीं उठाया ।जिस के चलते उनमें रोष था और वह पार्टी को छोडने का तो पहले ही मन बना चुके थे।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Punjab News
बिल्डर ने पैसे के लालच में बरसाती नाले पर ही कब्जा कर काट दिए इंडस्ट्रियल प्लॉट !
एवलांच की चपेट में मरने वाले डेरा बाबा नानक के दोनों युवकों का किया अतिंम संस्कार
जीजा की हत्या के मामले में नामजद आरोपी साला गिरफ्तार,भेजा जेल
सड़क हादसे में पिता-पुत्र की मौत, मां घायल
लिंग निधार्रिन टेस्ट करते हुये रंगे हाथों डॉक्टर समेत 6 लोग काबू
सचिव से किसान बोले- कॉरिडोर के लिये वह फ्री जमीन देने को तैयार मगर सरकार उनके हर सदस्य को सरकारी नौकरी दे
मामला श्री करतारपुर कॉरिडोर के लिये एकवाइर की जाने वाले जमीन की मुआवजा राशि का
बटाला पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाया- पिता ही निकला अपने बेटे का हत्यारा,आरोपी पिता गिरफ्तार
खरड़ की महिला ने पुलिस पर अपहरणकर्ता को छोड़ने के लगाए आरोप:
अकाली दल और भाजपा में हुआ समझौता ,सुखबीर बादल में की अमित शाह में मुलाक़ात