Tuesday, April 23, 2019
BREAKING NEWS
ललित के समर्थन में 84 पाल ने की पंचायत, टिकट काटने में षड्यंत्र रचा गया निजी स्कूलों को मिली चेतावनी, 23 अप्रैल तक सीटों की जानकारी दें, या अन्यथा होगी कार्रवाईबेकसूर धर्म पाल 3 साल से बंद हॉन्ग कॉन्ग की जेल मेंसैंकड़ों महिला पुरूषों ने एसडीएम कार्यालय का घेराव कर सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार किया प्रदर्शनकृपया किसी भी पार्टी के प्रत्याशी वोट मांगकर शर्मिंदा न करेंवर्तमान समय में कानूनी साक्षरता का महत्व बढ़ गया है-प्रियंका सोनीकृष्णपाल गुर्जर ने चुनावी सभा में मनमोहन गर्ग को दिया विधानसभा के लिये आशीर्वाद।रोहित लामसर बने बॉडी बिल्डिंग एवं फिटनेस एसोसिएशन के मीडिया प्रभारीकैथल एसपी के साथ कैथल के गणमान्य व्यक्तियों बैठक ,कहा यातायात व्यस्था सुधारने में जनता सहयोग करे ऐलनाबाद-स्कूल संचालिका द्वारा 11वर्षीय छात्र के साथ मारपीट करने का मामला

Punjab

अकाली दल को छोड कर गए चार पार्षद अपने साथियों समेत मनप्रीत बादल की हाजरी में होगें कांग्रेस में शामिल

January 16, 2019 06:25 PM
बठिंडा से परविंदर सिंह

अकाली दल को छोड कर गए चार पार्षद अपने साथियों समेत

मनप्रीत बादल की हाजरी में होगें कांग्रेस में शामिल

बठिंडा। अकाली दल में सुनवाई न होने के कारण पार्टी को अलविदा कहने वाले चार टकसाली अकाली पार्षद वीरवार को सूबे के वित मंत्री मनप्रीत सिंह बादल की हाजरी में कांग्रेस में शामिल होगें। इस संबंधी पार्षद रजिंदर सिंह ने पुष्टि कर दी है। उनका कहना था कि उनके साथ दो ओर पूर्व पार्षदों के अलावा सर्किल अध्यक्ष भी कांग्रेस में शामिल होने जा रहे है।


अकाली दल छोडने वाले मौजूदा पार्षदों में रजिंदर सिंह, मास्टर हरमंदर सिंह, निर्मल संधु और राजू सरां के नाम शामिल है जबकि दो पूर्व पार्षदों में एक महिला पार्षद परविंदर कौर के अलावा एक अन्य नाम शामिल है।

 

पार्षद रजिंदर सिंह ने बताया कि वो टकसाली अकाली वर्कर के तौर पर पार्टी के साथ पिछले तीन दहाकों से काम कर रहे थे। लेकिन अब शिअद में पीए कल्चर इतना भारी हो चुका है कि टकसाली अकाली वर्करों को नजरअंदाज करने के अलावा जलील किया जा रहा है। पार्षद ने बताया कि वीरवार को माल रोड पर स्थित सुभाष मार्किट में कांग्रेस पार्टी के होने वाले एक बडे समागम के दौरान वह अपने साथी पार्षदों समेत कांग्रेस में शामिल हो रहे है। पार्षद ने आरोप लगाया कि पहले पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल और उनके पुत्र सुखबीर सिंह बादल ने डेरा मुखी के खिलाफ केस करवाया जब चुनाव नजदीक आ गए तो डेरा सर्मथकों की वोट हासिल करने के लिए उस पर बादल पिता पुत्र ने दवाब बनाकर डेरा मुखी खिलाफ अदालत में चल रहे केस को वापिस करवाया । उन्होंने कहा कि इस के अलावा गुरू ग्रंथ साहिब की बेअदबी हुई तब भी बादलों ने कोई कदम नहीं उठाया ।जिस के चलते उनमें रोष था और वह पार्टी को छोडने का तो पहले ही मन बना चुके थे।

Have something to say? Post your comment

More in Punjab

चेतावनी- गली में कोई लीडर वोट मांगने न आये, नोटा का बटन दबाकर नेताओं का करेंगे विरोध

अकाली दल ने बठिंडा के डीपीआरओ तथा मानसा के एपीआरओ के खिलाफ भी शिकायत दी

महिलाओं से अवैद्घ संबंधों से तंग आकर पत्नी और बेटे ने मिलकर करवाया था कत्ल,पत्नी,बेटे समेत आठ लोग गिरफ्तार

पंजाब में 118 नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक

मामला कांग्रेसी सरपंच नवदीप सिंह की हत्या का मृतक सरपंच के अभिभावक अस्पताल में चार घंटे पोस्टमार्टम होने का इंतजार करते रहे

कांग्रेसी सरपंच पर बार-बार कार चढ़ाकर मौत के घाट उतारा,दो घायल

हथियारों के साथ सोशल मीडिया पर फोटो अपलोड करने वालों की अब खैर नही

इमीग्रेशन कंपनी के मालिक ने पत्नी व दो बच्चों सहित की खुदकशी

यू-ट्यूब पर ‌असलाह बनाने की तकनीक सीखी फिर खुद हथियार बना डाले

पिता अपने दोनों बच्चों समेत ट्रेन के आगे कूदा, पिता-पुत्र की मौत