Saturday, February 16, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
आयकर विभाग ने किया जींद ,नरवाना ,और सफीदों में सर्वे पूर्व चेयरमैन यशपाल प्रजापति सहित 10 पार्षदों ने वीरवार को नगर परिषद परिसर में धरना दिया आप की खुट्टा पाड़ रैली की जगह होगी शहीद श्रद्धांजलि सभा : जयहिन्दशर्मनाक -44 जवानों को शहादत को भूल ,कांग्रेस के मंच पर लगे ठुमके आम आदमी पार्टी की खुट्टा पाड़ रैली की जगह होगी शहीद श्रद्धांजलि सभाबिल्डर ने पैसे के लालच में बरसाती नाले पर ही कब्जा कर काट दिए इंडस्ट्रियल प्लॉट !दीपेंद्र का विजयरथ रोकनें के लिए भाजपा में कशमकश,नहीं मिल पा रहा जिताऊ उम्मीदवारलोकसभा में पुराने चेहरे तो विधानसभा चुनावों में युवा चेहरों को मिल सकती है तव्वजो
 
 
Business

पुरानी पुस्तकें-खरीदने व बेचने के लिए दिया बेहतरीन मंच : डा. ज्योति जुनेजा

रणबीर रोहिल्ला | January 21, 2019 05:08 PM
रणबीर रोहिल्ला
पुरानी पुस्तकें-खरीदने व बेचने के लिए दिया बेहतरीन मंच : डा. ज्योति जुनेजा 
डीसीआरयूएसटी के तीन छात्रों ने वैबसाईट बनाकर पुस्तकों की समस्या की दूर
रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत। दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मुरथल (डीसीआरयूएसटी) के तीन छात्रों ने एक वैबसाईट बनाकर विद्यार्थियों के सामने आने वाली पुस्तकों की समस्या को दूर करने की दिशा में सफल कदम बढ़ाये हैं। अपनी वैबसार्ईट के विषय में इन छात्रों ने जीवीएम गल्र्ज कालेज की छात्राओं को जानकारी दी उन्होंने सहर्ष वैबसाईट को स्वीकार किया। इस मौके पर संस्था के प्रधान डा. ओपी परूथी व प्राचार्या डा. ज्योति जुनेजा ने कहा कि पुरानी पुस्तकों को खरीदने व बेचने के लिए यह बेहतरीन मंच है, जिसका छात्र-छात्राओं को पूरा लाभ उठाना चाहिए। प्राध्यापिका तारिका सेठी के निर्देशन में बीकॉम ऑनर्स तथा एमकॉम की छात्राओं के लिए कार्यशाला का आयोजन कर पुरानी पुस्तकों की खरीद व बेचने के लिए बनाई गई वैबसाईट (बुक्सबास्केट डॉट इन) की विस्तृत जानकारी दी गई। वैबसाईट निर्माता डीसीआरयूएसटी के तीनों छात्रों (बीएससी इलैक्ट्रिोनिक के पासआउट छात्र कौशल दवे तथा कैमिकल इंजीनियरिंग के छात्र अंकुर बंसल व सिद्धार्थ रोहिल्ला) ने जीवीएम की छात्राओं को वैबसाईट उद्देश्य व कार्यप्रणाली की पूर्ण जानकारी दी। कौशल दवे, अंकुर बंसल व सिद्धार्थ रोहिल्ला ने बताया कि अक्सर विद्यार्थियों को अच्छी पुस्तकें हासिल करने में परेशानियां उठानी पड़ती हैं। कई बार विद्यार्थियों को उनकी पसंदीदा पुस्तक नहीं मिल पाती। पाठ्यक्रम से जुड़ी किताबें लेने के लिए छात्रों को दूरदराज के धक्के खाने पड़ते हैं। फिर बहुत सी किताबों की कीमत आसमान को छूने वाली होती हैं। ऐसे में बहुत से विद्यार्थियों की चाहत होती है कि उन्हें पुरानी पुस्तकें मिल जाये। विद्यार्थियों की इस प्रकार की समस्याओं को दूर करने तथा पुस्तकों तक पहुंच का आसान बनाने के लिए ही वैबसाईट बनाई गई है। संबंधित वैबसाईट पर पुस्तक बेचने वाला तथा पुस्तक खरीदने वाला संपर्क साध सकता है। जिसे जिस कीमत पर अपनी पुरानी पुस्तक बेचनी हो वह पुस्तक के साथ कीमत अंकित कर सकता है। वहीं खरीदने वाला व्यक्ति बेचने वाले व्यक्ति से पुस्तक खरीद सकता है और मोलभाव भी कर सकता है। इस दौरान कालेज की छात्राओं ने वैबसाईट के विषय में बहुुत से प्रश्र भी किये, जिनके उन्हें संतोषजनक उत्तर मिले। इस मौके पर वैबसाईट निर्माता छात्रों का उत्साहवद्र्धन करते हुए प्राचार्या डा. ज्योति जुनेजा व प्राध्यापिका तारिका सेठी ने कहा कि निश्चित रूप से यह वैबसाईट विद्यार्थियों के लिए लाभकारी है। प्राथमिक कक्षाओं से लेकर स्नातक तथा स्नातकोत्तर कक्षाओं की पुस्तकें खरीदने-बेचने के लिए यह बढिय़ा प्लेटफार्म है
 
Have something to say? Post your comment
 
More Business News
आयकर विभाग ने किया जींद ,नरवाना ,और सफीदों में सर्वे
देश की 25 सर्वश्रेष्ठ कंपनियों में चुनी गई एब्रो इंडिया तरावड़ी
मैडम जी ओल्या नै मार दिए सारी फसल बर्बाद हो गी सै। म्हारा किमें समाधान करों
व्यापारियों को आयकर विभाग भेज देता है अनावश्यक टैक्स नोटिस, व्यापारियों ने अधिकारियों के समक्ष जताया ऐतराज
कपास, धान की आवक, भाव बढऩे से मार्केट फीस में हुई 26 प्रतिशत बढ़ोतरी
धराशायी हुआ शेयर,डीएचएफएल में 31,000 करोड़ रुपये के कथित फर्जीवाड़े का आरोप,
कपास के भाव 5500 पार होने के बाद कम हुए
खानक में शीघ्र ही लंबी अवधि के टेंडर जारी किए जाएंगे-विपुल गोयल
गेंहू उत्पादक किसान खुश तो आलू व सरसो उत्पादक किसानो के चेहरे पर चिंता की लकीरे
व्यापारियों के कारोबार खत्म होते जा रहे है:सुशील गुप्ता