Tuesday, April 23, 2019
BREAKING NEWS
ललित के समर्थन में 84 पाल ने की पंचायत, टिकट काटने में षड्यंत्र रचा गया निजी स्कूलों को मिली चेतावनी, 23 अप्रैल तक सीटों की जानकारी दें, या अन्यथा होगी कार्रवाईबेकसूर धर्म पाल 3 साल से बंद हॉन्ग कॉन्ग की जेल मेंसैंकड़ों महिला पुरूषों ने एसडीएम कार्यालय का घेराव कर सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार किया प्रदर्शनकृपया किसी भी पार्टी के प्रत्याशी वोट मांगकर शर्मिंदा न करेंवर्तमान समय में कानूनी साक्षरता का महत्व बढ़ गया है-प्रियंका सोनीकृष्णपाल गुर्जर ने चुनावी सभा में मनमोहन गर्ग को दिया विधानसभा के लिये आशीर्वाद।रोहित लामसर बने बॉडी बिल्डिंग एवं फिटनेस एसोसिएशन के मीडिया प्रभारीकैथल एसपी के साथ कैथल के गणमान्य व्यक्तियों बैठक ,कहा यातायात व्यस्था सुधारने में जनता सहयोग करे ऐलनाबाद-स्कूल संचालिका द्वारा 11वर्षीय छात्र के साथ मारपीट करने का मामला

Fashion/Life Style

जींद प्रशासन ने रूकवाई नाबालिग लडके की शादी

January 21, 2019 06:20 PM
सन्नी मग्गू
जींद प्रशासन ने रूकवाई नाबालिग लडके की शादी
सन्नी मग्गू
जींद, 21 जनवरी
जिले के दिरोली खेडा गांव से बारात लेकर निकले दुल्हे की उम्र कम निकली जिसके बाद शादी रदद करनी पडी। इस शादी में दुल्हे की उम्र मात्र 15 वर्ष पाई गई। विभाग द्वारा परिजनों से लिखित में लडक़े  के बालिग होने तक शादी नहीं करवाने का ब्यान लिया गया। मामला जिले के कालवन गांव से सामने आया जहां जिला महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी सुनीता शर्मा को गुप्त सूचना मिली थी कि दिरोली खेडा गांव से एक लडक़े  की बारात कालवन गांव में पहुंच चुकी है जिसमें दुल्हा बनकर आया लडका नाबालिग है। सूचना मिलते ही सहायक बाल विवाह निषेध अधिकारी रवि लोहान, एएसआई राजबीर सिंह, महिला कांस्टेबल रेनू, नीलम देवी, एसपीओ सुरेशकुमार टीम के साथ मौके पर पहुंचे तो पाया कि लडक़े  की बारात आई हुई थी और सगाई की तैयारी चल रही थी। इस पर टीम ने लडक़े  के जन्म से संबंधित कागजात मांगे तो दिरोली खेडा से आई बारात में हडकँप मच गया। मौके पर लडके पक्ष के पास कोई कागजात नहीं मिला 
तो तीन घंटे बाद मोबाईल पर व्हाटसप के माध्यम से लडके के घर से कागजात मंगवाए गए तो उसमें लडके की उम्र मात्र 15 वर्ष मिली। इस पर टीम ने शादी न करने के लिए दोनों पक्षों को समझाया गया कि वह लडक़े के 21 वर्ष की उम्र पूरी होने के बाद ही उसकी शादी करें अन्यथा उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाही की जाएगी। इस पर दोनों परिवार सहमत हो गये और शादी को स्थगित कर दिया गया। इसके बाद परिजनों ने लिखित ब्यान दर्ज करवाए कि लडक़े के पिता की मौत हो चुकी है और उसकी माँ ज्यादातर बीमार रहती है और उनको किसी तरह के कानून की जानकारी ना होने के कारण वह गलती से ऐसा कर रहे थे लेकिन अब वह अपने लडक़े के बालिग होने पर ही उसकी शादी क रेंगे। इसके बाद दिरोली खेडा गांव से आई बारात बिना दुल्हन के ही वापिस गाँव लौट गई।

Have something to say? Post your comment