Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

Haryana

दिल्ली दूरदर्शन, मुबंई से संस्कार चैनल सहित जी खाना खजाना पर कर चुकी हैं अपनी कलाओं का प्रदर्शन

January 22, 2019 07:39 PM

समाजसेवा का दूसरा नाम है कंचन जैन


नाटक, लेखन कार्य, लोक संगीत, पंजाबी व हिंदी गाने, भजन गायन सहित समाजसेवा के क्षेत्र में काफी समय से अग्रसर


दिल्ली दूरदर्शन, मुबंई से संस्कार चैनल सहित जी खाना खजाना पर कर चुकी हैं अपनी कलाओं का प्रदर्शन


पंचकूला (प्रिंस लांबा)।

अगर मन में कुछ कर गुजरने की तमन्ना हो तो रास्ते अपने आप ही बन जाते हैं। ऐसा ही कुछ कर रही है पंचकूला निवासी कंचन जैन। इन्हें समाजसेवा का दूसरा नाम भी कहा जा सकता है क्योंकि ये समय-समय पर विभिन्न सामाजिक कार्यों में बढ़-चढक़र भागीदारी निभाती हैं और काफी लंबे समय अनेक सामाजिक संस्थाओं से भी जुड़ी हुई हैं। अपनी आवाज व समाजसेवा के कारण विभिन्न अवार्डों से सम्मानित कंचन जैन का जन्म पंजाब स्थित लुधियाना में 9 सितंबर 1956 को हुआ था।


लुधियाना में जन्मी कंचन जैन की बचपन से ही पढ़ाई के साथ-साथ संगीत में भी रूची थी। उन्होंने स्कूली शिक्षा ग्रहण करने के बाद जैन कॉलेज लुधियाना से बी.ए. की डिग्री हासिल की। अपनी माता से विरासत में मिली संगीत शिक्षा के चलते वे बचपन से ही अनेक मंचों से जुड़ गई तथा नाटक, लेखन कार्य, लोक संगीत, पंजाबी व हिंदी गाने, भजन गायन से जुड़ी रही तथा अपनी प्रतिभा के दम पर अनेक बार विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से सम्मानित हो चुकी हैं। इनकी शादी चंडीगढ़ के जाने-माने उद्योगकर्ता अरूण जैन से वर्ष 1978 में अनंत राम एवं बिमला रानी के एक संयुक्त परिवार में हुई।

 


अपनी संगीत यात्रा के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कंचन जैन ने बताया कि प्रारंभ में संगीत के लिए उन्हें दिल्ली दूरदर्शन में गाने व मुंबई में संस्कार चैनल पर भजन गायन का मौका मिला। शादी के बाद पाक कला में अपनी निपुणता के चलते जी खाना खजाना पर भी अपनी कला का प्रदर्शन करने का मौका मिला तथा उन्हें कई बड़े-बड़े शेफ से जुडऩे के अवसर भी प्राप्त हुए। इसके बाद वह अनेक लड़कियों को भी कुकिंग की ट्रेनिंग दे चुकी हैं। अपनी कलाओं के साथ-साथ वे वूमेन पावर सोसाइटी जिसका मकसद महीलाओं का उत्थान करना है सहित अनेक सामाजिक संस्थाओं से लंबे समय से जुड़ी हुई हैं।


कंचन जैन वूमेन टी.वी. इंडिया व उमंग अभिव्यक्ति मंच की सदस्य हैं जिनका कार्य महिलाओं को जागरूक करना है। इसके अलावा उन्होंने अनेक बार वृद्ध आश्रमों में बुजुर्गों के मनोरंजन के लिए गायन-वादन का कार्य किया है। साथ ही वह स्वयं भी लायनेस क्लब पंचकूला प्रीमियर की प्रेसिडेंट हैं। आपको बता दें कि वे मोहम्मद रफी, किशोर दा, इंडिया आइडोल, वूमेन प्राइड व हाल ही के दिनों में भारतीय प्रतिभा गौरव अवार्ड, 2019 सहित अनेक अवार्डों से सम्मानित हो चुकी हैं तथा जिदंगी के इस पड़ाव पर भी निरंतर अपने लक्ष्य प्राप्ति की ओर अग्रसर हैं।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

हरियाणा विधानसभा में उठा नेता प्रतिपक्ष का मुद्दा, विधायक नैना चौटाला ने कहा कि हां हमारी अब है अलग पार्टी

पुलिस एसआई राजपाल ने ईमानदारी का दिया परिचय

गुरू रविदास जी द्वारा बताए समरसता और समभाव के मार्ग का अनुसरण करें- राज्यपाल

जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष राव कमलबीर सिंह कांग्रेस में शामिल

किसान सम्मान निधि योजना का प्रधानमंत्री 24 फरवरी को करेंगे शुभारंभ

अनपढ़ता है रिमोट कंट्रोल, शिक्षा से व्यक्ति जीवन का खुद ले सकता है फैसला : जया किशोरी

नलोई के वार्ड न0 8 मे सफाई व्यवस्था चरमराई , गदे पानी मे तबदील हुई गलिया

इनेलो के हल्का युवा प्रधान बने विशाल मिर्धा।

हरियाणा का एक और जवान हवलदार संदीप शहीद

खराब खड़े ट्रक में भिड़ा ट्रक, ओवरब्रिज पर तीन घंटे जाम