Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

National

बंगाल में कानून का मज़ाक बना ,असवैधानिक संकट गहराया

February 03, 2019 08:18 PM

 

 बंगाल में  कानून का मज़ाक बना ,असवैधानिक संकट गहराया 
कोलकत्ता (अटल हिन्द संवाददाता )भारत के इतिहास में खासकर भारतीय कानून में आज का दिन काला दिन दर्ज किया जाएगा क्योंकि सीबीआई  संविधानिक संस्था, उसे पकड़ना भारत के खिलाफ युद्ध जैसा, बंगाल में सेना लगाने की जरुरत, मोमता बनर्जी ने छेड़ दिया है युद्ध पश्चिम बंगाल में अब स्तिथि सामान्य नहीं है, यहाँ की मुख्यमंत्री ने भारत के संविधान यानि सीधे भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया है ,ममता सरकार की आज की कार्यवाही देख कर लगता है की पश्चिम बंगाल अब भारत का हिस्सा नहीं रह गया है ,ममता सरकार की कोलकत्ता पुलिस ने जिस तरह भारत की सीबीआई टीम को गिरफ्तार कर देश में ननया अध्याय लिखा है यह भविष्य के लिए खतरनाक साबित होगा सीबीआई भारत की संविधानिक संस्था है, ये संविधान से बनाई और चलाई जाने वाली संस्था है, और सीबीआई ने ठीक क्या या नहीं ये सिर्फ और सिर्फ कोर्ट ही तय कर सकती है बाकि कोई नेता, कोई पुलिस नहींकोलकाता का पुलिस कमिश्नर चिट फण्ड घोटालों को लेकर फरार है, वो चुनाव आयोग की बैठक में भी नहीं आया, आज सीबीआई के 5 अधिकारी उसके सरकारी आवास पर उसे पकड़ने गए तो मोमता बनर्जी ने भगोड़े अधिकारी को बचाने के लिए पश्चिम बंगाल की पुलिस फाॅर्स को सीबीआई पर छोड़ दिया  
इतना ही नहीं सीबीआई के दफ्तर पर भारी मात्रा में पुलिस को भेजकर उसका घेराव करवा दिया, और सीबीआई के अधिकारीयों को कैद कर दिया
ये मामूली चीज नहीं है, बंगाल की मुख्यमंत्री संविधानिक संस्था पर सीधा हमला कर रही है, ये भारत के खिलाफ सीधा युद्ध है और अब केंद्र सरकार को बंगाल के अन्दर तुरंत राष्ट्रपति शासन घोषित कर भारतीय सेना को तैनात कर देना चाहिए
मोमता बनर्जी की गिरफ़्तारी की जानी चाहिए और उसके खिलाफ देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने का केस चलाया जाना चाहिए, बंगाल को मोमता बनर्जी अलग देश समझकर नहीं चला सकती, बंगाल की पुलिस को सेना की तरह इस्तेमाल करके भारत की किसी संविधानिक संस्था पर नहीं छोड़ा जा सकता, ये सीधा युद्ध है, भारत पर हमला है
भारत के संविधान ने सीबीआई को केस दर्ज करने और किसी की गिरफ़्तारी के लिए अरेस्ट वारंट निकालने के अधिकार दिए है, और सीबीआई ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर को गिरफ्तार करने के लिए संविधान द्वारा बनाये गए सिस्टम से अरेस्ट वारंट निकाला था

ये तो ऐसी ही स्तिथि हो गयी की अगर भारत की थल सेना की कोई टीम बंगाल में किसी आतंकी के खिलाफ कार्यवाही करने जाए, तो मोमता बनर्जी अधिक मात्रा में पुलिस को भेजकर भारतीय सेना के लोगो को ही गिरफ्तार कर ले, बंगाल में तुरंत राष्ट्रपति शासन की जरुरत है, और देश के खिलाफ हमला करने वाली मोमता बनर्जी को गिरफ्तार कर कानून के राज को स्थापित करने की आवश्यकता है

Have something to say? Post your comment

More in National

हरियाणा पुलिस कांस्टेबल के 500 पद अब सामान्य श्रेणी से भरे जाएंगे

चमत्कारी उम्मीदवारों के सहारे लोकसभा चुनाव की नैया पार करने की तैयारी में भाजपा

हरियाणा में एक साथ नहीं होंगे लोकसभा-विधानसभा चुनाव- सीएम

युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या

एसएमसी सदस्यों के प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया

डिपो धारकों का कमीशन 100 रूपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 150 रूपए प्रति क्विंटल

मनोज यादव ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) का पदभार ग्रहण किया

गुरुकुलों की परीक्षा अब हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड आयोजित करेगा

लाडवा विधानसभा क्षेत्र से शहीद परिवारों के लिए भेजेंगे मदद : गर्ग

शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाए 14 फरवरी का दिन