Thursday, April 18, 2019
BREAKING NEWS
अखबार सप्लायर के साथ मारपीट व लूटपाट कर जान से मारने की धमकीकैथल-जब सिर पर छत ही नहीं रहेगी तो कैसा मतदान, कैसा लोकतंत्र ?चुनाव बहिष्कार की चेतावनीमंडी में गंदगी होने पर गेहूं उतारने में आ रही दिक्कत से परेशान किसानों में भारी रोषभिवानी-महेेंद्रगढ लोकसभा से आरपीआई पार्टी के प्रत्याशी कूंदन चौधरी ने अपना नामाकंन पर्चा दाखिल किया।प्राईवेट बस, ट्राला व कम्बाईन आपस में टकराय ,3 बच्चों सहित लगभग 2 दर्जनों लोग घायल बेटी से बड़ा कोई धन नहीं: गर्ग वर्ष का हर दिन कंजक पूजन के रूप में मनाएं: संदीप गर्गलोकसभा चुनाव से बिजेन्द्र और भव्य हिसार से रख रहे हैं राजनीति में पहला कदमसांसद रमेश कौशिक पत्रकारों और जनता के समर्थन के बिना आप कुछ भी नहीं हो बेशर्म राजनेता -मौतों पर दुःख प्रकट करने की बजाए सेंक रहे है राजीनितिक रोटियां

Fashion/Life Style

बेटियां समाज की सबसे बड़ी पूंजी, बढ़ाती है सम्मान : दीपक सहारण

February 05, 2019 03:47 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

बेटियां समाज की सबसे बड़ी पूंजी, बढ़ाती है सम्मान : दीपक सहारण
-साउथ अफ्रिका से लौटी पर्वतारोही मनीषा का प्रशासन ने भी किया सम्मान,
-एसपी ने दिया प्रशासनिक स्तर पर हरसंभव सहयोग का आश्वासन
फतेहाबाद, 5 फरवरी।
बेटी समाज की सबसे बड़ी पूंजी होती है और बेटी से ही नई पीढिय़ां आगे बढ़ती है। यह बात जिला पुलिस कप्तान दीपक सहारण ने लघु सचिवालय स्थित सभागार कक्ष में साउथ अफ्रिका की किलीमंजारो चोटी फतेह करके लौटी मनीषा पायल के प्रशासनिक सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कही। जिन्दगी संस्था के संयोजन में हुए इस कार्यक्रम को डीआरओ बालकिशन, जल संरक्षण अधिकारी शर्मा चंद लाली के अलावा जिला पार्षद राजेश कसवां, भाजपा महिला विंग प्रधान सीमा दत्ता, पूर्व पार्षद दुर्गेश अरोड़ा पुलिस कर्मचारी एसोसिएशन प्रधान रणधीर डबास, समाजसेवी जगदीश नायक, रोटेरियन डॉ रमेश सेठी व बनावली सरपंच राममूर्ति फौगाट ने मुख्य रूप से संबोधित किया। कार्यक्रम संचालन जिन्दगी संस्था अध्यक्ष हरदीप सिंह ने किया।
पुलिस अधीक्षक दीपक सहारण ने मनीषा पायल के हौंसले की सराहना करते हुए कहा कि आज बेटियों के प्रति समाज की सोच में बदलाव आ रहा है। बेटियों को बचाने, पढ़ाने और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किया जा रहा है। एक बेटी शिक्षित होती है, तो दो परिवार शिक्षित होते हैं और समाज व देश की तकदीर व तस्वीर बदलने में सार्थक होती है। उन्होंने कहा कि बेशक आज समाज में नशा जैसी बुराई को खत्म करना चुनौती है, लेकिन वे इससे भी बड़ी सामाजिक बुराई कन्या भ्रूण हत्या को मानते हंै। बेटियों को कोख में मारने या जन्म के बाद सडक़ पर छोड़ देने वालों के खिलाफ सामाजिक आंदोलन चलाए जाने की जरूरत है। बेशक प्रशासन व सरकार बेटियों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए काम कर रहे हैं, लेकिन बेटियों को बचाने और आगे बढ़ाने सहित आत्मनिर्भर बनाने के लिए समाज को भी चिंता करने की जरूरत है।
डीआरओ बालकिशन व जिला संरक्षण अधिकारी शर्माचंद लाली ने कहा कि बेटियों से समाज और परिवार का सम्मान बढ़ता है। इस भाव से स्वच्छ व समृद्ध समाज का निर्माण किया जा रहा है। मनीषा जैसी होनहार बेटियों की मेहनत से जागृत हुए समाज में महिलाओं व बेटियों के प्रति सम्मान भाव बढ़ा है। स्कूलों में बालकों की अपेक्षा बालिकाओं की दर्ज संख्या में लगातार बढ़ रही है। पर्वतारोही मनीषा को सम्मानित करते हुए एसपी दीपक सहारण व अन्य अधिकारिगणों ने आश्वस्त किया कि मनीषा को एवरेस्ट जैसी अगली चुनौती को बिना तनाव पार करने में प्रशासनिक स्तर पर हर संभव सहयोग किया जाएगा। इस अवसर पर पार्षद शम्मी धींगड़ा, पार्षद किरण नारंग, सरोज रानी, सतपाल पायल, विनोद काकड़, सतपाल डांगी सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment

More in Fashion/Life Style