Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

Business

व्यापारियों को आयकर विभाग भेज देता है अनावश्यक टैक्स नोटिस, व्यापारियों ने अधिकारियों के समक्ष जताया ऐतराज

February 08, 2019 07:37 PM

व्यापारियों को आयकर विभाग भेज देता है अनावश्यक टैक्स नोटिस, व्यापारियों ने अधिकारियों के समक्ष जताया ऐतराज
बैठक में आयकर विभाग के अधिकारियों ने व्यापारियों को दी योजनाओ की जानकारी
रादौर, 8 फरवरी (रविन्द्र सैनी): आयकर विभाग की ओर से स्थानीय पंजाबी धर्मशाला में एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें व्यापारी वर्ग से जुड़े दुकानदारो ने भाग लिया। बैठक में आयकर विभाग के अधिकारियों ने क्षेत्र की विभिन्न व्यापारी संगठनो से आए प्रतिनिधियों व सदस्यों को आयकर से सबंधित आवश्यक जानकारी उपलब्ध करवाई और उन्हें विभिन्न योजनाओ की जानकारी भी दी। इस अवसर पर आयकर अधिकारी सुनील सिंघाल व विजय कुमार ने सयुक्त रूप से सभी व्यापारियों की टैक्स से सम्बंधित समस्याओं को भी सुना व उनका मौके पर ही समाधान किया। कार्यक्रम में स्थानीय व्यापारियों ने उन्हें आयकर विभाग द्वारा भेजे गए अनावश्यक टैक्स नोटिस पर ऐतराज जताया और भविष्य में इस तरह के नोटिस दोबारा न भेजे जाने की मांग की।
इस अवसर पर उद्योग व्यापार मंडल के प्रधान अमित कांबोज ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि आयकर विभाग व व्यापारी एक दूसरे के पूरक हैं । व्यापारी राष्ट्र की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है। आम व्यापारी दिन रात कड़ी मेहनत से अपना व्यवसाय चलाता है और ईमानदारी से अपना टैक्स समय पर भर कर राष्ट्र की उन्नति में अपना योगदान देता है। उन्होंने सभी व्यापारियों से समय पर टैक्स भरने की अपील भी की व आयकर अधिकारियो से अनाप शनाप पुराने टैक्स के नोटिस भेजकर व्यापारियों को परेशान करने का विरोध भी किया। इस अवसर पर आईटीओ सुनील सिंघाल, विजय कुमार, अचल गुप्ता, आयकर विभाग के इंस्पेक्टर सलीम, इंपेक्टर संदीप, राजकुमार गुप्ता सीए, अशोक गुंबर, मंगतराम भठला, सुशील बतरा, प्रवीन अग्रवाल, अमित चोपड़ा, गुरदयाल सैनी, अशोक आहूजा, सन्नी ग्रोवर, प्रवीण कांबोज, प्रदीप मिड्ढा, सतीश भठला, विनोद सिंगला इत्यादि मौजूद थे।

Have something to say? Post your comment

More in Business

ब्रास की सुनहरी नक्कासी से बने सोफा सेट से दें घर को शाही अंदाज

आयकर विभाग ने किया जींद ,नरवाना ,और सफीदों में सर्वे

देश की 25 सर्वश्रेष्ठ कंपनियों में चुनी गई एब्रो इंडिया तरावड़ी

मैडम जी ओल्या नै मार दिए सारी फसल बर्बाद हो गी सै। म्हारा किमें समाधान करों

कपास, धान की आवक, भाव बढऩे से मार्केट फीस में हुई 26 प्रतिशत बढ़ोतरी

धराशायी हुआ शेयर,डीएचएफएल में 31,000 करोड़ रुपये के कथित फर्जीवाड़े का आरोप,

कपास के भाव 5500 पार होने के बाद कम हुए

खानक में शीघ्र ही लंबी अवधि के टेंडर जारी किए जाएंगे-विपुल गोयल

गेंहू उत्पादक किसान खुश तो आलू व सरसो उत्पादक किसानो के चेहरे पर चिंता की लकीरे

पुरानी पुस्तकें-खरीदने व बेचने के लिए दिया बेहतरीन मंच : डा. ज्योति जुनेजा