Tuesday, April 23, 2019
BREAKING NEWS
ललित के समर्थन में 84 पाल ने की पंचायत, टिकट काटने में षड्यंत्र रचा गया निजी स्कूलों को मिली चेतावनी, 23 अप्रैल तक सीटों की जानकारी दें, या अन्यथा होगी कार्रवाईबेकसूर धर्म पाल 3 साल से बंद हॉन्ग कॉन्ग की जेल मेंसैंकड़ों महिला पुरूषों ने एसडीएम कार्यालय का घेराव कर सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार किया प्रदर्शनकृपया किसी भी पार्टी के प्रत्याशी वोट मांगकर शर्मिंदा न करेंवर्तमान समय में कानूनी साक्षरता का महत्व बढ़ गया है-प्रियंका सोनीकृष्णपाल गुर्जर ने चुनावी सभा में मनमोहन गर्ग को दिया विधानसभा के लिये आशीर्वाद।रोहित लामसर बने बॉडी बिल्डिंग एवं फिटनेस एसोसिएशन के मीडिया प्रभारीकैथल एसपी के साथ कैथल के गणमान्य व्यक्तियों बैठक ,कहा यातायात व्यस्था सुधारने में जनता सहयोग करे ऐलनाबाद-स्कूल संचालिका द्वारा 11वर्षीय छात्र के साथ मारपीट करने का मामला

Rajasthan

हत्या के मुकदमे में मुझे साजिशन नाजायज फंसाया: अकबर खान

February 09, 2019 04:58 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

हत्या के मुकदमे में मुझे साजिशन नाजायज फंसाया: अकबर खान
सद्भावनानगर में स्थित नशामुक्ति केन्द्र में युवक की संदिग्ध मौत के मामले में आया नया मोड़
श्रीश्याम नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र के संचालक का दावा
श्रीगंगानगर, 9 फरवरी। ग्राम पंचायत साहूवाला में स्थित अनमोल नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र में एक मरीज की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में बेशक पुलिस ने अदालत के इस्तागासा के आधार हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया हो, लेकिन इस मामले में अब नया मोड़ आ गया है। इस मामले में एक ऐसे व्यक्ति को भी नामजद किया गया है, जिसका उक्त प्रकरण से दूर-दूर का वास्ता नहीं है। यह खुलासा मुकदमे में नामजद और श्री श्याम नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र के संचालक अकबर खान ने आज एक वक्तव्य जारी करते हुए किया। अकबर खान ने कहा कि उनकी श्री श्याम नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र के नाम से अलग संस्था है, जबकि जिस युवक की मौत नशामुक्ति केन्द्र में हुई है, वह अनमोल नशामुक्ति केन्द्र अलग है। उन्होंने कहा कि ना तो वे अनमोल नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र के प्रबंधकों में शामिल है और ना ही स्टाफ में। जिस दिन युवक की मौत हुई थी, उस दिन भी वे संस्था अथवा संस्था के पदाधिकारियों व स्टाफ के संपर्क में नहीं थे। श्री खान ने कहा कि युवक की मौत नशा नहीं मिलने के कारण हुई अथवा उसको यातनाएं दी गई, इससे उनका व श्री श्याम नशामुक्ति केन्द्र का कोई लेना-देना ही नहीं है। खान के मुताबिक मुकदमे में बेवजह नामजद करके उनकी संस्था को बदनाम करने की साजिश रची गई हो सकती है। यह भी हो सकता है कि गलतफहमी या फिर गलती से उन्हें इस मामले में घसीटा गया है। अकबर खान ने पुलिस से भी आग्रह किया है कि वे इस मामले की निष्पक्ष रूप से जांच करे और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करे और उनका नाम इस मुकदमे से हटाया जाए। साथ ही पुलिस पर विश्वास जताते हुए श्री खान ने विश्वास दिलाया कि पुलिस की जांच-पड़ताल में वे निर्दोष साबित होंगे। उन्होंने कहा कि श्रीश्याम नशामुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्र एक खुली किताब है, जिसमें चिकित्सीय व अध्यात्मिक पद्धति व योग से लोगों को नशे से छुटकारा दिलाकर उन्हें जीवन की मुख्य धारा से जोड़ा जाता है।

Have something to say? Post your comment