Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

Haryana

कैथल की सीवरेज व्यवस्था रामभरोसे, करनाल रोड पर सीवरेज ओवरफ्लो

February 11, 2019 09:01 AM

कैथल की सीवरेज व्यवस्था रामभरोसे, करनाल रोड पर सीवरेज ओवरफ्लो

सीएम विंडो में दी गई शिकायत का बिना हल किए बंद किए जाने का मामला भी गहराया

कैथल, 10 फरवरी (कृष्ण प्रजापति): कैथल का स्वच्छता सुधार कैसे हो, यह अपने आप में बड़ा सवाल बनता जा रहा है ? मौजूदा समय में पब्लिक हेल्थ विभाग स्वच्छता सुधार करने में नाकामयाब इसलिए बनता जा रहा है, क्योंकि विभाग के पास न कोई नीति है, न ही नियत और न ही फरियादी की फरियाद का निराकरण करने का समय।
पिछले सप्ताह करनाल रोड पर ओवरफ्लो और जर्जर सीवरेज को उपायुक्त ने पब्लिक हेल्थ के अधिकारियो को दुरुस्त करने के आदेश दिये थे, लेकिन अधिकारियो ने उनके आदेशो पर गौर न करने कारण समस्या जस की तस है। शहर के सीवरेज व्यवस्था बद्द से बदतर होने पर भी विभाग के कर्मचारी किसी बड़े चमत्कार होने के इंतज़ार में है। विभाग के पास सीवरेज खोलने के लिये एक बस जो कहने को बस है,पर जब भी सीवरेज सफाई की बात करे तो अधिकारियो का उत्तर होता है आज बस ठीक होने गई है, या बस गुहला,पूंडरी,कलायत,राजौंद और अब तो जींद में भी भेज दी गयी की बात कह फोन काट देते है।
करनाल रोड पर विभाग का शिकायत केंद्र में कोई कर्मी शिकायत लिखने वाला नही। जो रजिस्टर शिकायत के लिये रखा है उसकी किसी अधिकारी ने पेजिंग कर सत्यापित नही किया।शिकायतकर्ता स्वयं शिकायत लिख कर जाता है। बिना पेजिंग के शिकायत का कोई रिकार्ड रहेगा यह भी अपने आप में बड़ा सवाल है। गौरतलब है कि करनाल रोड मिनी सेक्ट्रेट के सामने मिलजुल ढाबे के सामने का सीवरेज पिछले कई माह से बंद होने से सीवरेज के ओवरफ्लो और बैक मारने से कई घरों और दुकानों के भवनों को जर्जर बनाने और गिराने का कारण बनता जा रहा है। स्थानीय निवासी विक्रम,रघबीर,संतलाल, पवन,मनोज ने सीवर बंद होने और ओवरफ्लो की सुचना विभाग के आला अधिकारियो को मौखिक और लिखित में देने के बाद भी सीवर को खोला नही गया। यह सीवर लाइन पिहोवा चौक तक जाती है। सारी लाइन बंद व गन्द से अटी पड़ी होने से बदबू और बीमारियो का फ़ैलाने का कारण बनने पर भी विभाग आँखे मूंदे और हाथ पर हाथ धरे बैठा है। बंद सीवर और जर्जर मेन होलो से होने वाले नुकसान की शिकायत सीएम विंडो पर की गई। लेकिन मजे की बात यह है कि बिना सीवर खोले और शिकायत कर्ता को सन्तुष्ट किये बिना अधिकारियो ने सीएम विंडो पर जवाब भेज दिया कि सीवर लाइन खोल दी है। इस बाबत जब शिकायतकर्ता पर सीएम विंडो से फोन कर पूछा गया कि क्या आप का सीवर लाइन खुल गई है तो शिकायतकर्ता ने कहा कि न तो सीवर लाइन खुली है और न ही मेंनहोल रिपेयर किये गए हैं। सीएम विंडो ने शिकायत को रीओपन कर पुनः कैथल पब्लिक हेल्थ विभाग को भेजा गया।
विभाग के पास शहर के लोड के हिसाब से कोई प्लानिंग नही, जहां सीवरेज का लोड ज्यादा है, उनकी पाइप लाइन को चौड़ा कर बिछाया जाना चाहिए। सीवर खोलने के लिये बसों की संख्या और साधनों की संख्या भी बढ़ाई जानी चाहिये। सीवर खोलने वाले कर्मियों को अत्याधुनिक साधन भी उपलब्ध करवा कर शहरवासियो का विश्वास जीतना चाहिये।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

हरियाणा विधानसभा में उठा नेता प्रतिपक्ष का मुद्दा, विधायक नैना चौटाला ने कहा कि हां हमारी अब है अलग पार्टी

पुलिस एसआई राजपाल ने ईमानदारी का दिया परिचय

गुरू रविदास जी द्वारा बताए समरसता और समभाव के मार्ग का अनुसरण करें- राज्यपाल

जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष राव कमलबीर सिंह कांग्रेस में शामिल

किसान सम्मान निधि योजना का प्रधानमंत्री 24 फरवरी को करेंगे शुभारंभ

अनपढ़ता है रिमोट कंट्रोल, शिक्षा से व्यक्ति जीवन का खुद ले सकता है फैसला : जया किशोरी

नलोई के वार्ड न0 8 मे सफाई व्यवस्था चरमराई , गदे पानी मे तबदील हुई गलिया

इनेलो के हल्का युवा प्रधान बने विशाल मिर्धा।

हरियाणा का एक और जवान हवलदार संदीप शहीद

खराब खड़े ट्रक में भिड़ा ट्रक, ओवरब्रिज पर तीन घंटे जाम