Sunday, April 21, 2019
BREAKING NEWS
फुरलक गांव में जोहड़ के घाट में धांधली लोकसभा आम चुनाव जीतने के लिए बनी भाजपा नेताओं की रणनीति -23 मई का चुनाव परिणाम विस चुनाव की पटकथा लिखेगा 23 कन्याओं के विवाह का साक्षी बनेगा शहर नरवानाचेतावनी- गली में कोई लीडर वोट मांगने न आये, नोटा का बटन दबाकर नेताओं का करेंगे विरोधलोकसभा चुनाव को लेकर बाबैन में निकाला फ्लग मार्चमिस ब्यूटीफुल का ताज सजा वैशाली व अंशप्रीत के सिर परनहर में कूदे देश के तीसरे बड़े चावल एक्सपोर्टर रोहित गर्ग का शव मिला ,रोहित और साक्षी के बीच हुआ था झगड़ा?हरियाणा के सभी वकीलों का टोल फ्री हो: जयहिन्दकलायत-सरकारी स्कूलों में पढ़ेंगे शिमला गांव के बच्चे पंचायत ने शुरू किया अभियानकलायत सोसाइटी सदस्यों का आरोप, कैथल सोसाइटी को लाभ पहुंचाने के लिए प्रबंधक कर रहा अपनी शक्तियों का दुरुपयोग

Punjab

एवलांच की चपेट में मरने वाले डेरा बाबा नानक के दोनों युवकों का किया अतिंम संस्कार

February 11, 2019 08:02 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

एवलांच की चपेट में मरने वाले डेरा बाबा नानक के दोनों युवकों का किया अतिंम संस्कार 

दोनों दोस्तों की मौत श्रीनगर के जिले कुलगाम में हुई थी

 

(रघुवंशी/विनोद सोनी)
बटाला/डेरा बाबा नानक । कुलगाम जिले में वीरवार को एवलांच की चपेट में आने से हुई डेरा बाबा नानक के दो दोस्तों की मौत के बाद सोमवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया है। बता दें कि मृतक दोनों दोस्त श्री नगर में घूमने के लिए 3 फरवरी को डेरा बाबा नानक गए थे। जहां एवलांच गिरने से उनकी मौत हो गई। रविवार देर शाम को मृतकों के शव को डेरा बाबा नानक उनके परिजनों को सौंपा गया था। सोमवार को बलजीत सिंह का अंतिम संस्कार डेरा बाबा नानक के पास रावी दरिया के पास किया गया। बलजीत सिंह जोकि शादीशुदा नहीं था, इसलिए उसके परिजनों ने सेहरा बांधकर उसका संस्कार किया। बलजीत सिंह के पिता हरी सिंह ने चिखा को अग्नि दी। वहीं, पूरे परिवार में शोक की लहर देखने को मिली। वहीं विक्की का अंतिम संस्कार गांव उधमपुर के शमशानघाट में किया गया। बलजीत सिंह की माता जसपाल कौर की 2004 में ही मौत हो गई थी।
बता दें कि बलजीत सिंह पुत्र हरी सिंह (33) और विक्की पुत्र कुलविंदर सिंह (35) निवासी डेरा बाबा नानक जो दोनों दोस्त थे, श्री नगर घूमने के लिए 3 फरवरी को डेरा बाबा नानक से रवाना हुए थे। 7 फरवरी को श्री नगर से घूमकर वह वापस आ रहे थे। जब वह कुलगाम जिले की पुलिस चौकी जवाहर टनल के पास पहुंचे तो उन्हें पुलिस कर्मियों ने रोक लिया कि आगे रास्ता खराब है, वह न जाएं। उसी दिन रात के समय ही चौकी के उपर एवलांच हो गया, जिसमें दबने से 7 पुलिस कर्मियों और उक्त दोनों की मौत हो गई। हालांकि कईयों को रेस्कयू के जरीए बाहर भी निकाला गया था। मृतकों के शवों को कुलगाम जिले के काजीकुंड अस्पताल में रखा गया, जहां उनकी पड़ताल करने के बाद रविवार को उनके शवों को हेलीकॉप्टर के जरीए डेरा बाबा नानक पहुंचा गया और वारिसों के हवाले किया गया था।

Have something to say? Post your comment

More in Punjab

चेतावनी- गली में कोई लीडर वोट मांगने न आये, नोटा का बटन दबाकर नेताओं का करेंगे विरोध

अकाली दल ने बठिंडा के डीपीआरओ तथा मानसा के एपीआरओ के खिलाफ भी शिकायत दी

महिलाओं से अवैद्घ संबंधों से तंग आकर पत्नी और बेटे ने मिलकर करवाया था कत्ल,पत्नी,बेटे समेत आठ लोग गिरफ्तार

पंजाब में 118 नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक

मामला कांग्रेसी सरपंच नवदीप सिंह की हत्या का मृतक सरपंच के अभिभावक अस्पताल में चार घंटे पोस्टमार्टम होने का इंतजार करते रहे

कांग्रेसी सरपंच पर बार-बार कार चढ़ाकर मौत के घाट उतारा,दो घायल

हथियारों के साथ सोशल मीडिया पर फोटो अपलोड करने वालों की अब खैर नही

इमीग्रेशन कंपनी के मालिक ने पत्नी व दो बच्चों सहित की खुदकशी

यू-ट्यूब पर ‌असलाह बनाने की तकनीक सीखी फिर खुद हथियार बना डाले

पिता अपने दोनों बच्चों समेत ट्रेन के आगे कूदा, पिता-पुत्र की मौत