Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

Haryana

सरकार को करोड़ों का चूना लगाने वाले VP Spaces के मालिकों पर हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे पाराशर

February 12, 2019 04:46 PM

फरीदाबाद 12 फरवरी (योगेश गर्ग ) नगर निगम ने सेक्टर 9,10. 11 में कई अवैध दुकानें तोड़ दीं और सील कर दिए लेकिन नगर निगम ने ही 12th एवेन्यू के VP Spaces के कई निर्माणों को तोड़ने का नोटिस दिया था लेकिन नगर निगम वहाँ अब तक नहीं पहुँच सका। बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर ने नगर निगम के अधिकारियों पर बड़ा आरोप लगाया है और कहा है कि इन अधिकारियों ने जानबूझकर 12th एवेन्यू पर कोई कार्यवाही नहीं की और ये अधिकारी उनसे मिले हुए हैं। वकील पाराशर ने मंगलवार को 12th एवेन्यू का दौरा किया और वहां चल रहे निर्माणों का जायजा लिया। वकील पाराशर ने कहा कि 12th एवेन्यू में अब भी दो नम्बरियों का खेल जारी है। उन्होंने कहा मैं हाल में खुलासा किया था कि एक एक स्टैम्प से दो बार रजिस्ट्री हुई थी और इस रजिस्ट्री में आशीष मंचन्दा मनचंदा का भी नाम है। उन्होंने कहा कि आशीष मंचन्दा VP Spaces कंपनी के तीनों मालिकों में एक है। पाराशर ने कहा कि कंप्लीशन काण्ड में सरकार को करोड़ों का चूना लगाने में VP Spacesके आशीष मंचन्दा, वरुण मंचन्दा और दीपक कुमार विर्मानी के खिलाफ मैं हाईकोर्ट में याचिका दर्ज करवाऊंगा और मांग करूंगा कि ये बड़े गड़बड़झाले की जांच करवाई जाये और नगर निगम के जिन अधिकारियों की मिली भगत से सरकार को करोड़ों का चूना लगाया गया है उन अधिकारियों पर भी एफआईआर दर्ज कर उन्हें सस्पेंड किया जाए।
आपको बता दें कि आरटीआई से मिली जानकारी के मुताबिक़ क्रमांक MCF/AE(S)/2018/469 DATED 05/12/2018 के जवाब में नगर निगम में दिखा रखा है कि प्लॉट नंबर 4825 व 4829 नंबर का कंप्लीशन 4/4/18 व 14/11/17 में आ चुका है!
इन बिल्डिंग की रजिस्ट्री प्लाट के रूप में 18-7-18 को फर्जी दस्तावेज प्रस्तुत कर सरकार के साथ धोखाधड़ी करते हुए स्टैंप ड्यूटी व इनकम टैक्स की चोरी करने की नियत से कंप्लीशन सर्टिफिकेट छुपाते हुए व संबंधित अधिकारियों से मिलीभगत करते हुए सरकार का रिवेन्यू अथवा इनकम टैक्स का नुकसान कर अपना करोड़ों का फायदा पहुंचाने के लिए धोखाधड़ी करते हुए खाली प्लॉट की रजिस्ट्री करवा ली गई!
150 गज के प्लॉट पर FAR 2900-sq ft व कवरेज एरिया पूरी बिल्डिंग का तकरीबन 4000-sq ft होता है जिस हिसाब से एवरेज 3 फ्लोर का रेट तकरीबन 4300/-per sq ft के हिसाब से 1,25,00,000/-के आसपास बैठता है!इस हिसाब से तकरीबन 87,50,000/-की स्टाम्प ड्यूटी की चोरी की गई है व दो नंबर के पैसे से बिल्डिंग बनाकर तकरीबन 87,50,000/- का ही इनकम टैक्स एक एक बिल्डिंग पर बचाने के लिए ,अधिकारियों के साथ मिलीभगत करते हुए खाली प्लॉट की रजिस्ट्री कंप्लीशन सर्टिफिकेट छुपाते हुए अपने ही रिश्तेदारों के नाम करवा दी गई!
इतना ही नही बाद में कंपलीशन सर्टिफिकेट को जो पहले छुपाकर खाली प्लॉट की रजिस्ट्री करा दी गई थी उसे पुन: प्रस्तुत करते हुए सरकार की आंख में धूल झोंक्ते हुए व धोखाधड़ी करते हुए फ्लैट की रजिस्ट्री करवा ली गई व उसमें भी कोई भी पेमेंट डिटेल नहीं दी गई इससे साफ साफ प्रतीत होता है पूर्व में खाली प्लॉट की रजिस्ट्री करवाना इनकी सोची समझी साजिश का एक हिस्सा थे व एक-एक करके पहले बने हुए सारे फ्लैट मिलीभगत करके बेच दिये गए व सरकार को करोड़ों रुपए का इन्कम टैक्स व स्टाम्प ड्यूटी का चूना लगा दिया गया!

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

हरियाणा विधानसभा में उठा नेता प्रतिपक्ष का मुद्दा, विधायक नैना चौटाला ने कहा कि हां हमारी अब है अलग पार्टी

पुलिस एसआई राजपाल ने ईमानदारी का दिया परिचय

गुरू रविदास जी द्वारा बताए समरसता और समभाव के मार्ग का अनुसरण करें- राज्यपाल

जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष राव कमलबीर सिंह कांग्रेस में शामिल

किसान सम्मान निधि योजना का प्रधानमंत्री 24 फरवरी को करेंगे शुभारंभ

अनपढ़ता है रिमोट कंट्रोल, शिक्षा से व्यक्ति जीवन का खुद ले सकता है फैसला : जया किशोरी

नलोई के वार्ड न0 8 मे सफाई व्यवस्था चरमराई , गदे पानी मे तबदील हुई गलिया

इनेलो के हल्का युवा प्रधान बने विशाल मिर्धा।

हरियाणा का एक और जवान हवलदार संदीप शहीद

खराब खड़े ट्रक में भिड़ा ट्रक, ओवरब्रिज पर तीन घंटे जाम