Tuesday, March 19, 2019
BREAKING NEWS
व्हाट्स योर मोबाइल नंबर ? बता रहे है मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद्,छतरपुर आरटीओ ने मिश्रा बस को किया जप्तइनेलो और आप के सपने हुए तार -तार चुनावी गठबंधन नहीं होने का भुगतना पड़ेगा बड़ा खामियाजाप्रदेश में हुड्डा ही पार्टी का बड़ा चेहरा होंगे , कांग्रेस ने हुड्डा की कप्‍तानी में बनाई हरियाणा की खास टीम 15 भृष्ट संकुल प्राचार्य पर लगे शिक्षक व शिक्षिकाओं से को परेशान करने के आरोपभारतीय पत्रकार कल्याण मंच ने मनाया होली मिलन समारोह, प्रदेश भर से शामिल हुए पत्रकार*कर्मगढ़ गांव में शहीद रमेश कुमार लाइब्रेरी का उद्घाटन शिक्षा ही सबसे बड़ा धन-रामनिवास सुरजाखेड़ा हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों पर खिलेगा कमल-कृष्ण बेदीकाग्रेस नेत्री विद्या रानी दनोदा ने किए गांवों के दौरे ेदेश व प्रदेश में काग्रेस लहराएगी परचम-विद्या रानी दनोदा क्षमता से अधिक भंडारण पाए जाने पर राजस्व बिभाग की टीम ने की कार्यवाही

Haryana

प्राईमरी स्कूल में थी शिक्षको की कमी, अब स्कूल टीचर की पत्नी दे रही निशुल्क शिक्षा

March 13, 2019 01:45 PM
रविंद्र सैनी की रिपोर्ट

महिला शक्ति का सराहनीय फैसला---
प्राईमरी स्कूल में थी शिक्षको की कमी, अब स्कूल टीचर की पत्नी दे रही निशुल्क शिक्षा
बच्चों की नींव मजबूत हो इसके लिए उठाया कदम-प्रियंका
रादौर, 13 मार्च (रविन्द्र सैनी): प्राईमरी स्कूल, 6 कक्षाएं। टीचर केवल 2। जिसमें से एक अक्सर विभागीय कार्याे में व्यस्त। स्थिति गांव घेसपुर के प्राईमरी स्कूल की है। शिक्षको की कमी के कारण बच्चो की शिक्षा प्रभावित होने का सिलसिला चल पड़ा था। बच्चो की शिक्षा प्रभावित होती देख स्कूल में ही कार्यरत जेबीटी अध्यापक देवेन्द्र शर्मा की पत्नी प्रियंका शर्मा ने हाथ बढ़ाया और खुद ही बिना किसी मानदेय के निशुल्क बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा उठा लिया। अब पिछले तीन महीने से लगातार प्रियंका बच्चों को शिक्षित करने में स्कूल के स्टाफ का हाथ बटा रही है।
बॉक्स
स्कूल में थे 3 अध्यापक, करीब 4 माह पहले एक का हो गया था एक का तबादला
घेसपुर के प्राईमरी स्कूल में करीब 5० छात्र छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे है। पहले यहां 3 अध्यापको की डयूटी थी। लेकिन करीब 4 माह पहले एक अध्यापक का यहां से तबादला हो गया। जिसके बाद अब स्कूल में केवल 2 ही टीचर रह गए। उनमें से भी एक अक्सर विभागीय कार्यो में व्यस्त रहता था। जिससे स्कूल में शिक्षक की कमी महसूस होने लगी थी।
बॉक्स
इस प्रकार हुई शुरूआत
गांव घेसपुर के प्राईमरी स्कूल से करीब 4 माह पहले एक अध्यापक का तबादला हो जाने से यहां शिक्षको की कमी महसूस की जा रही थी। दो अध्यापक तो थे लेकिन सही मायने में एक ही उचित प्रकार से शिक्षण कार्य कर पा रहा था। ऐसे में अब केवल एक अध्यापक का बच्चों को प्रर्याप्त शिक्षा देना मुश्किल सा हो रहा था। एक दिन जब स्कूल में कार्यरत जे.बी.टी अध्यापक देवेन्द्र शर्मा ने अपनी पत्नी प्रियंका के साथ यह समस्या सांझा की तो प्रियंका ने स्कूल के बच्चों को शिक्षित करने का निर्णय लिया। उन्होंने बिना किसी मानदेय के स्कूल में पढ़ रहे बच्चों को पढ़ाना शुरू कर दिया। तीन महीने से लगातार वह स्कूल आ रही है और बच्चों को शिक्षित करने में हाथ बटा रही है।
बॉक्स
बी.एससी, बी.एड पास प्रियंका ने दिया यह तर्क
बच्चो को बिना किसी मानदेय के शिक्षा देने बारे जब प्रियंका शर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि
शुरूआती शिक्षा से ही बच्चो के भविष्य की नींव मजबूत होती है। अगर शुरूआती शिक्षा की नींव ही कच्ची रह जाएं तो भविष्य का महल कभी मजबूत नहीं रह सकता। उनके पति ने जब स्कूल में शिक्षको की कमी के बारे उन्हें बताया तो वह एकाएक तैयार हो गई। क्योंकि बच्चे देश का भविष्य है और इस भविष्य को संवारने में वह इस प्रकार की मदद कर सकते है। उन्होंने बी.एससी, बी.एड तक की शिक्षा ली है। ऐसे में उनकी शिक्षा बच्चों के काम आएं यह उनके लिए सौभाग्य की बात है।
बॉक्स
दो शिक्षको के सहारे स्कूल में बच्चो को नियमित अच्छी शिक्षा देने में दिक्कत आ रही थी। इसी घड़ी में प्रियंका उनके लिए सहारा बनी है। पिछले तीन महीने से वह लगातार बच्चों को पढ़ा रही है। बच्चे भी उनसे कुछ नया सीख रहे है। जिसका उन्हें व बच्चों को काफी लाभ मिल रहा है।
मीना देवी
स्कूल इंचार्ज

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

भारतीय पत्रकार कल्याण मंच ने मनाया होली मिलन समारोह, प्रदेश भर से शामिल हुए पत्रकार*

कर्मगढ़ गांव में शहीद रमेश कुमार लाइब्रेरी का उद्घाटन शिक्षा ही सबसे बड़ा धन-रामनिवास सुरजाखेड़ा

हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों पर खिलेगा कमल-कृष्ण बेदी

काग्रेस नेत्री विद्या रानी दनोदा ने किए गांवों के दौरे ेदेश व प्रदेश में काग्रेस लहराएगी परचम-विद्या रानी दनोदा

देश में 53 जवान शहीद हो गए और बीजेपी सरकार उनकी शहादत पर गौरव यात्रा निकल रही है, जोकि बड़ी ही निंदनीय बात है-दुष्यंत चौटाला

लोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी पूरी तरह तैयार: गौरव गोयल

गेस्ट टीचरों के 58 साल तक स्थायीत्व व छह माह में महंगाई भत्ता देने की मांग को सरकार ने गंभीरता से लिया है।

लुहारी गांव में 109 परिवारों ने जताई भाजपा में आस्था, मोदी को बताया सशक्त प्रधानमंत्री

स्क्रीन से मिलेगी वोट की जानकारी, पहली मशीन का किया गया उद्घाटन

शोक समाचार