Tuesday, March 19, 2019
BREAKING NEWS
व्हाट्स योर मोबाइल नंबर ? बता रहे है मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद्,छतरपुर आरटीओ ने मिश्रा बस को किया जप्तइनेलो और आप के सपने हुए तार -तार चुनावी गठबंधन नहीं होने का भुगतना पड़ेगा बड़ा खामियाजाप्रदेश में हुड्डा ही पार्टी का बड़ा चेहरा होंगे , कांग्रेस ने हुड्डा की कप्‍तानी में बनाई हरियाणा की खास टीम 15 भृष्ट संकुल प्राचार्य पर लगे शिक्षक व शिक्षिकाओं से को परेशान करने के आरोपभारतीय पत्रकार कल्याण मंच ने मनाया होली मिलन समारोह, प्रदेश भर से शामिल हुए पत्रकार*कर्मगढ़ गांव में शहीद रमेश कुमार लाइब्रेरी का उद्घाटन शिक्षा ही सबसे बड़ा धन-रामनिवास सुरजाखेड़ा हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों पर खिलेगा कमल-कृष्ण बेदीकाग्रेस नेत्री विद्या रानी दनोदा ने किए गांवों के दौरे ेदेश व प्रदेश में काग्रेस लहराएगी परचम-विद्या रानी दनोदा क्षमता से अधिक भंडारण पाए जाने पर राजस्व बिभाग की टीम ने की कार्यवाही

Crime

निलंबित एसडीओ को कोर्ट ने सुनाई सात साल की सजा,पत्नी की हत्या का दोषी पाया

March 14, 2019 07:06 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

निलंबित एसडीओ को कोर्ट ने सुनाई सात साल की सजा, पत्नी की हत्या का दोषी पाया
हिसार (अटल हिन्द ब्यूरो )हिसार की जिला कोर्ट ने हरियाणा पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन के निलंबित एसडीओ को सात साल की सजा सुनाई है वहीं दो हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट ने दो हजार रुपये का जुर्माना ना भरने पर तीन महीने की अतिरिक्त जेल में रहने की सजा सुनाई है। निलंबित एसडीओ को गत 12 मार्च को ही कोर्ट ने दोषी ठहराया था।

 

 



आरोपी नवदीप सिंह हरियाणा पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन में एसडीओ के पद पर तैनात था. विभाग ने आरोपी को सस्पेंड कर दिया था।जानकारी के मुताबिक हिसार के एडीएसजे डॉ. पंकज की अदालत ने पत्नी यादपाल की हत्या के आरोप में निलंबित एसडीओ नवदीप सिंह को दोषी करार दिया था। आरोपी की पत्नी का शव 23 अप्रैल 2017 को सरकारी क्वार्टर के कमरे में खिड़की की ग्रिल से लटका हुआ मिला था जिसके बाद सिरसा के रानिया इलाके हरभेज सिंह की शिकायत पर बेटी की हत्या के आरोप में पति और ससुरालजनों के खिलाफ केस दर्ज करवाया था।

 

 


अदालत में मृतका के पिता हरभेज सिंह ने बताया कि उसकी बेटी यादपाल की शादी साल 2011 में फतेहाबाद के भूना स्थित शास्त्री नगर के नवदीप सिंह से हुई थी। उस दौरान आरोपी हरियाणा पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन में बतौर जूनियर इंजीनियर था, जोकि प्रमोशन के बाद बाद में एसडीओ बना था। आरोपी के तीन साल का बेटा भी है।

 



मृतका के पिता ने कोर्ट में बताया कि शादी के वक्त करीब 45 लाख रुपये खर्च किये थे उसके बावजूद यादपाल के ससुरालवाले खुश नहीं हुए और उसको तंग करना शुरु कर दिया था। उसको कैश की डिमांड करके परेशान किया जाता था। बाद में 2017 में यादपाल का शव लटका हुआ मिला था।

Have something to say? Post your comment