Tuesday, March 19, 2019
BREAKING NEWS
व्हाट्स योर मोबाइल नंबर ? बता रहे है मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद्,छतरपुर आरटीओ ने मिश्रा बस को किया जप्तइनेलो और आप के सपने हुए तार -तार चुनावी गठबंधन नहीं होने का भुगतना पड़ेगा बड़ा खामियाजाप्रदेश में हुड्डा ही पार्टी का बड़ा चेहरा होंगे , कांग्रेस ने हुड्डा की कप्‍तानी में बनाई हरियाणा की खास टीम 15 भृष्ट संकुल प्राचार्य पर लगे शिक्षक व शिक्षिकाओं से को परेशान करने के आरोपभारतीय पत्रकार कल्याण मंच ने मनाया होली मिलन समारोह, प्रदेश भर से शामिल हुए पत्रकार*कर्मगढ़ गांव में शहीद रमेश कुमार लाइब्रेरी का उद्घाटन शिक्षा ही सबसे बड़ा धन-रामनिवास सुरजाखेड़ा हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों पर खिलेगा कमल-कृष्ण बेदीकाग्रेस नेत्री विद्या रानी दनोदा ने किए गांवों के दौरे ेदेश व प्रदेश में काग्रेस लहराएगी परचम-विद्या रानी दनोदा क्षमता से अधिक भंडारण पाए जाने पर राजस्व बिभाग की टीम ने की कार्यवाही

Haryana

महेंद्रगढ़ डीएसपी के होते हुए डीएसपी नारनौल को क्यों सौंपा गया सदर थाना?

March 15, 2019 09:50 PM
सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट

आज तक नहीं भरा जिला मुख्यालय का घाव और प्रशासन ने सदर थाना महेंद्रगढ़ को सौंप दिया डीएसपी नारनौल के अधीन


जिला बहा रहा है अपनी बदहाली पर आंसू, हमेशा होता रहा है सौतेला व्यवहार


प्रतिनिधियों का विकास से नहीं कोई वास्ता, उन्हें चाहिए तो सिर्फ झूठे आश्वासनों के सहारे जनता के वोट

 


महेंद्रगढ़ (प्रिंस लांबा)। महेंद्रगढ़ के साथ हमेशा सौतेला व्यवहार होता रहा है। आज जिला अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है क्योंकि यहां मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं हैं। लोगों को अपनी छोटी-छोटी समस्याओं व राजस्व संबंधी कार्यों के लिए 70 से 80 किमी. दूर नारनौल के चक्कर लगाने पड़ते हैं। जिला मुख्यालय यहां न होने का घाव अभी भरा भी नहीं था कि प्रशासन द्वारा महेंद्रगढ़ सदर थाने को डीएसपी नारनौल के अधीन कर दिया गया, जो यहां की जनता के हकों के साथ सरासर भेदभाव है। उक्त बातें शुक्रवार को सरताज जनसेवा ग्रुप पीआरओ कुलदीप यादव ने प्रैस विज्ञप्ति जारी करते हुए कही।

 


यादव ने बताया कि महेंद्रगढ़ में डीएसपी के होते हुए भी यहां के सदर थाना को डीएसपी नारनौल के अधीन दे दिया गया है जिससे यहां की सभी समस्याओं की सुनवाई नारनौल में की जाएगी। अब सभी व्यक्ति जो महेंद्रगढ़ थाना क्षेत्र के अधीन आते हैं, उन्हें अन्य कार्यों के लिए तो नारनौल जाना ही पड़ता था परंतु अब थाना संबंधी कार्यों के लिए भी धन व्यय तथा कीमती समय बर्बाद करके नारनौल जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि आज महेंद्रगढ़ सिर्फ नाम का जिला रह गया है क्योंकि यहां सुविधाओं के नाम पर सबकुछ शून्य है। इसके साथ हमेशा से भेदभाव होता रहा है, जिसके उदाहरण के रूप में जिला मुख्यालय, मेडिकल कॉलेज, हाईवे, उद्योग-धंधा आदि को ले सकते हैं।

 


उन्होंने कहा कि शुरूआत से ही कमजोर प्रतिनिधित्व के चलते हरियाणा के अस्तित्व से भी पहले बना महेंद्रगढ़ जिले की पहचान लुप्त होने की कगार पर पहुंच चुकी है। स्थानीय प्रतिनिधियों को इससे कोई लेना-देना नहीं होता। उन्हें चाहिए तो सिर्फ झूठे जुमलों व आश्वासनों के सहारे जनता के वोट, जिसे पाकर वे 5 वर्ष तक सत्ता हथिया लेते हैं तथा विकास करवाने की बजाए अपना घर भरने में जुट जाते हैं। उनका जनता की दु:ख, तकलीफों व समस्याओं से दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं होता। कुलदीप यादव ने कहा कि सरकार व प्रशासन महेंद्रगढ़ की जनता के साथ बहुत गलत कर रहे हैं, जिसका खामियाजा उन्हें आने वाले चुनाव में भुगतना पड़ेगा तथा ऐसे ही चलता रहा तो नेताओं का महेंद्रगढ़ में घुसना भी मुश्किल हो जाएगा।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

भारतीय पत्रकार कल्याण मंच ने मनाया होली मिलन समारोह, प्रदेश भर से शामिल हुए पत्रकार*

कर्मगढ़ गांव में शहीद रमेश कुमार लाइब्रेरी का उद्घाटन शिक्षा ही सबसे बड़ा धन-रामनिवास सुरजाखेड़ा

हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों पर खिलेगा कमल-कृष्ण बेदी

काग्रेस नेत्री विद्या रानी दनोदा ने किए गांवों के दौरे ेदेश व प्रदेश में काग्रेस लहराएगी परचम-विद्या रानी दनोदा

देश में 53 जवान शहीद हो गए और बीजेपी सरकार उनकी शहादत पर गौरव यात्रा निकल रही है, जोकि बड़ी ही निंदनीय बात है-दुष्यंत चौटाला

लोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी पूरी तरह तैयार: गौरव गोयल

गेस्ट टीचरों के 58 साल तक स्थायीत्व व छह माह में महंगाई भत्ता देने की मांग को सरकार ने गंभीरता से लिया है।

लुहारी गांव में 109 परिवारों ने जताई भाजपा में आस्था, मोदी को बताया सशक्त प्रधानमंत्री

स्क्रीन से मिलेगी वोट की जानकारी, पहली मशीन का किया गया उद्घाटन

शोक समाचार