Thursday, April 18, 2019
BREAKING NEWS
अखबार सप्लायर के साथ मारपीट व लूटपाट कर जान से मारने की धमकीकैथल-जब सिर पर छत ही नहीं रहेगी तो कैसा मतदान, कैसा लोकतंत्र ?चुनाव बहिष्कार की चेतावनीमंडी में गंदगी होने पर गेहूं उतारने में आ रही दिक्कत से परेशान किसानों में भारी रोषभिवानी-महेेंद्रगढ लोकसभा से आरपीआई पार्टी के प्रत्याशी कूंदन चौधरी ने अपना नामाकंन पर्चा दाखिल किया।प्राईवेट बस, ट्राला व कम्बाईन आपस में टकराय ,3 बच्चों सहित लगभग 2 दर्जनों लोग घायल बेटी से बड़ा कोई धन नहीं: गर्ग वर्ष का हर दिन कंजक पूजन के रूप में मनाएं: संदीप गर्गलोकसभा चुनाव से बिजेन्द्र और भव्य हिसार से रख रहे हैं राजनीति में पहला कदमसांसद रमेश कौशिक पत्रकारों और जनता के समर्थन के बिना आप कुछ भी नहीं हो बेशर्म राजनेता -मौतों पर दुःख प्रकट करने की बजाए सेंक रहे है राजीनितिक रोटियां

Crime

नाबालिग दोषी को कोर्ट ने सुनाई 14 साल की कैद, कहा- बन सकता है अच्छा इंसान

March 16, 2019 05:55 PM
राजकुमार अग्रवाल
 
 
 
नाबालिग दोषी को कोर्ट ने सुनाई 14 साल की कैद, कहा- बन सकता है अच्छा इंसान
कैथल(राजकुमार अग्रवाल )  कैथल में कोर्ट ने हत्या के एक मामले में नाबालिग दोषी को 14 साल की कैद की सजा सुनाई है। 4 अन्य बालिग आरोपी बरी कर दिए गए। कोर्ट ने यह फैसला चार्ज लगने के 45 दिन में सुनाया है। फैसले में कोर्ट ने कहा-दोषी करीब 17 साल का है। उसके पास जीने के लिए लंबी जिंदगी है और वह अच्छा इंसान बन सकता है, इसलिए उसे सुरक्षा दायरे में रखा जाएगा।21 अक्टूबर 2018 को दोस्तों के साथ डेरा बाबा राजपुरी मेले में जा रहे मंदीप के सिर में पाइप और चाकू मारकर हत्या कर दी थी। मंदीप के हमनाम दोस्त (मंदीप पुत्र सुरेश कुमार) की शिकायत पर एक नाबालिग के अलावा पवन, रमन, संदीप व विकास पर हत्या का केस दर्ज हुआ था।
 
 
 
उस वक्त नाबालिग की उम्र 16 साल से ज्यादा थी। दो अलग-अलग ट्रायल चले। बालिग आरोपियों पर इसी साल 18 जनवरी और नाबालिग के ट्रायल में 29 जनवरी को चार्ज लगा था। पवन, रमन, संदीप व विकास के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं मिले।पीडि़त पक्ष के वकील अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि कोर्ट ने दोषी को 14 साल की सजा सुनाई है। नाबालिग की सोशल बैकग्राउंड पता कराने के लिए बाल कल्याण अधिकारी/सोशल वर्कर की रिपोर्ट मांगी गई थी, जिसमें आरोपी को शरारती तत्वों में लिप्त बताया गया। इसके अलावा उसकी अपराध करने की मंशा पूर्व नियोजित थी। यह रिपोर्ट भी सजा का आधार बनी। नाबालिग की मां गांव में सफाई कर्मी थी। मंदीप ने घर के सामने सफाई करने को कहा था। इसको झगड़ा हुआ था। इसी रंजिश में नाबालिग ने बाबा लदाना में मेले के दिन वारदात को अंजाम दिया।चार्ज लगने के 45 दिन में ही अब एडिशनल सेशन जज हुकम सिंह की कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। अपने फैसले में कोर्ट ने कहा-दोषी करीब 17 साल का है। उसके पास जीने के लिए लंबी जिंदगी है और वह अच्छा इंसान बन सकता है, इसलिए उसे सुरक्षा दायरे में रखा जाएगा और समय-समय पर व्यवहार सुधार की काउंसिलिंग की जाएगी। 21 वर्ष का होने के बाद उसे जेल में शिफ्ट करना होगा। दोषी अपने परिवार पर निर्भर है, इसलिए उसे आर्थिक दंड नहीं दिया गया।
 

Have something to say? Post your comment

More in Crime

हैवानियत -पति ने पत्‍नी के तोड़े हाथ-पांव, कुल्‍हाड़ी से भी काटा

फरीदाबाद सेक्टर 22 में बेरहमी से तलवार से गला काटकर हत्या कर दी गयी।

मादक पदार्थ तस्कर को 10 वर्ष कारावास तथा एक लाख रुपए जुर्माना

नरवाना निवासी छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या पुरानी रंजिश के चलते बाइक सवारों युवकों ने चाकूओं से किया हमला

चाचा ही करता था तीनो बहनों से छेड़छाड़

कैथल पुलिस ने दो निर्दोष नागरीकों को नशा तस्करी मामले में फंसानें के प्रयास नाकामयाब किया

हरियाणा की डांसर से दिल्ली में गैंगरेप, तीन आरोपी गिरफ्तार

कैथल पुलिस की मुहीम नशा तस्करों की धरपकड़

पुलिस पर लाठी- डंडों से हमला, 6 पुलिसकर्मी घायल

माँ, बेटा और पौत्र सभी नशा तस्करी में शामिल ,कई मामले दर्ज