Thursday, April 18, 2019
BREAKING NEWS
अखबार सप्लायर के साथ मारपीट व लूटपाट कर जान से मारने की धमकीकैथल-जब सिर पर छत ही नहीं रहेगी तो कैसा मतदान, कैसा लोकतंत्र ?चुनाव बहिष्कार की चेतावनीमंडी में गंदगी होने पर गेहूं उतारने में आ रही दिक्कत से परेशान किसानों में भारी रोषभिवानी-महेेंद्रगढ लोकसभा से आरपीआई पार्टी के प्रत्याशी कूंदन चौधरी ने अपना नामाकंन पर्चा दाखिल किया।प्राईवेट बस, ट्राला व कम्बाईन आपस में टकराय ,3 बच्चों सहित लगभग 2 दर्जनों लोग घायल बेटी से बड़ा कोई धन नहीं: गर्ग वर्ष का हर दिन कंजक पूजन के रूप में मनाएं: संदीप गर्गलोकसभा चुनाव से बिजेन्द्र और भव्य हिसार से रख रहे हैं राजनीति में पहला कदमसांसद रमेश कौशिक पत्रकारों और जनता के समर्थन के बिना आप कुछ भी नहीं हो बेशर्म राजनेता -मौतों पर दुःख प्रकट करने की बजाए सेंक रहे है राजीनितिक रोटियां

Uttar Pradesh

जिला अस्पताल में पड़पते आदमी की आवाज बनी कमला यादव, लेकिन उसके बाद क्या ?

March 23, 2019 09:12 PM
सुरजीत यादव अमेठी

जिला अस्पताल में पड़पते आदमी की आवाज बनी कमला यादव, लेकिन उसके बाद क्या ?
आधे घण्टे बाद पहुॅची डॉक्टरों की टीम

जिला अस्पताल की कहानी सुनकर हर किसी का दिल मानवीय अनुकम्पा से द्रवित हो उठेगा। और डॉक्टरों की उदासीन रवैया उसे झकझोर देने के लिए काफी होगी। ऐसी ही घटना जिला अस्पताल सुल्तानपुर में घटित हुई जहॉ आग से पूरी तरह जले हुए बेवश आदमी की आवाज कोई नहीं सुनने आया। आखिर कार मानवीय अनुकम्पा की मिशाल कायम करती हुई प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी कमला यादव उस वेवश तड़पते हुए आदमी की आवाज बन ही गई। जिसकी आवाज को जिला अस्पताल के डॉक्टर अनुकम्पा नहीं कर सके। आवाज थी एक महिला की साहस भरे समाजसेवी इरादे की आवाज थी। जिसे भला डॉक्टर ने अनुकम्पा क्यों नही किया । डॉक्टरों की उदासीनता को कमला यादव की आवाज ने झकझोर दिया। और आधे घण्टे बाद सोशल मीडिया के माध्यम से उच्चाधिकारियों तक पहुॅचा आवाज ने डॉक्टरों को तड़पते आदमी के इलाज के लिए वेवश कर ही दिया । डॉक्टरों की टीम ने पहुॅच कर उस वेवश आदमी का उपचार करना शुरू कर दिया। यह समाज सेविका कमला याद की बुलन्द आवाज में वेवश पीड़ित की भारी आवाज थी। जिसने डॉक्टरों की मनमानी रवैया को कर्तव्य में बदल कर रख दिया।

आपको बता दें कि जिला अस्पताल सुल्तानपुर के वार्ड नं. 8 में मंझवारा का मूलचन्द्र रैदास पुत्र स्व. बाबूलाल रैदास जो आग से वेहद जल गया था जिसे उसकी मॉ ने भर्ती कराया । लेकिन इस तड़पते युवक की डॉक्टरों ने अपने असंवेदनशील का परिचय देते हुये इलाज नहीं किया। इसकी जानकारी जब प्रगतिशील समाजवादी की पार्टी की लोकसभा प्रत्याशी कमला को हुआ तो वह अपने दल बल के साथ जिला अस्पताल पहुॅच गयी। अस्पताल के उस वार्ड से ही फेसबुक पर लाइव वीडियो बनाया । जिलाधिकारी, मुख्यचिकित्साध्किरी से बात किया उसे बाद तड़पते पीड़ित की डॉक्टरों ने इलाज करना शुरू हुआ। 

अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से हुआ युवक की मौत
सुल्तानपुर जिला अस्पताल प्रशासन की लापरवाही रवैया से आखिरकार ये युवक जिन्दगी से जंग लड़ते-लड़ते मर गया। समाज सेवा कमला यादव उच्चाधिकारियों तक पीड़ित युवक की आवाज तो पहुॅचायी लेकिन जिला अस्पताल की लापरवाही रवैया से युवक की मौत हो गयी। अगर सुल्तानपुर जिला अस्पताल के डॉक्टर समय रहते युवक का इलाज करना शुरू कर दिये होते तो उसी जान बच सकती थी। लेकिन डॉक्टरों ने उस तड़पते अनुसूचित जाति के युवक को जिन्दा की मार डाला उस उसकी मॉ जो विधवा है उसके लिए सहारा कौन होगा।

Have something to say? Post your comment

More in Uttar Pradesh

योगी आदित्यनाथ 72 घंटे तक मायावती 48 घंटे तक चुनाव प्रचार नही करेंगे

10 दिन के अंदर मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस, आज से बदल जाएगी व्यवस्था

झूठी खबर फैलाने वाले बीएसपी एजेंट पर मुकदमा दर्ज।

यूपी-उत्तराखंड : गाजियाबाद, बिजनौर और बागपत से ईवीएम खराब होने की खबरें, मतदान प्रभावित

गठबंधन में पश्चिमी उत्तर प्रदेश–‘लाठी, हाथी और 786

नियमो को ताक पर रखकर मंदिर के बगल में खोल दी बियर शॉप

लोकतंत्र की रक्षा का हथियार है मताधिकार-ग्रीनमैन अजय क्रान्तिकारी

आचार संहिता का उल्लंघन कर बैठे भाजपा के सीनियर नेता,आयोग करेगा राष्ट्रपति से शिकायत

बहकाना और भटकाना ही भाजपा का एजेण्डा - अखिलेश यादव

शाहजहांपुर-जिला अस्पताल में मरीज को आठ-आठ दिन तक भूखा रख कर किया जाता है इलाज