Thursday, April 18, 2019
BREAKING NEWS
अखबार सप्लायर के साथ मारपीट व लूटपाट कर जान से मारने की धमकीकैथल-जब सिर पर छत ही नहीं रहेगी तो कैसा मतदान, कैसा लोकतंत्र ?चुनाव बहिष्कार की चेतावनीमंडी में गंदगी होने पर गेहूं उतारने में आ रही दिक्कत से परेशान किसानों में भारी रोषभिवानी-महेेंद्रगढ लोकसभा से आरपीआई पार्टी के प्रत्याशी कूंदन चौधरी ने अपना नामाकंन पर्चा दाखिल किया।प्राईवेट बस, ट्राला व कम्बाईन आपस में टकराय ,3 बच्चों सहित लगभग 2 दर्जनों लोग घायल बेटी से बड़ा कोई धन नहीं: गर्ग वर्ष का हर दिन कंजक पूजन के रूप में मनाएं: संदीप गर्गलोकसभा चुनाव से बिजेन्द्र और भव्य हिसार से रख रहे हैं राजनीति में पहला कदमसांसद रमेश कौशिक पत्रकारों और जनता के समर्थन के बिना आप कुछ भी नहीं हो बेशर्म राजनेता -मौतों पर दुःख प्रकट करने की बजाए सेंक रहे है राजीनितिक रोटियां

Literature

सरस्वती अन्नपूर्णा भण्डारा सेवा समिति द्वारा सरस्वती मंदिर मे भंडारे का आयोजन किया

April 04, 2019 06:55 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

पिहोवा।पिहोवा सरस्वती तीर्थ पर 3 से 5 अप्रैल तक चल रहे विश्व प्रसिद्ध चैत्र चौदस मेले मे माँ सरस्वती अन्नपूर्णा भण्डारा सेवा समिति द्वारा सरस्वती मंदिर मे भंडारे का आयोजन किया गया।जिसमे स्वामी संदीप ओंकार ने सरस्वती माँ की पूजा अर्चना कर भंडारे का शुभारंभ करते हुए कहा की इस मेले से लाखों लोगों की भावनाएं जुड़ी हुई हैं।
हर वर्ष देश के कोने-कोने से लाखों श्रद्धालु इस पवित्र भूमि पर पहुंचकर पुण्य कमाते है।
सरस्वती तीर्थ की विशेषताए बताते हुए स्वामी ओंकार ने कहा की पिहोवा को पवित्र तीर्थ माना जाता है क्योकी यहा गंगा, यमुना, नर्मदा, सिंधु इन चारों नदियों के स्नान का फल अकेले पिहोवा में ही प्राप्त हो जाता है। सरस्वती का जल पीने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। मंत्र शास्त्र के अनुसार सरस्वती का जल पीने का इतना महत्त्व है कि बारह मास तक नियम से जो श्रद्धालु सरस्वती का जल पीता है उसे वैसे ही शक्ति की प्राप्ति होती है, जैसे देवगुरु बृहस्पति को हुई थी।
उन्होने कहा की इसी तीर्थ स्थल पर हर वर्ष की भान्ति इस वर्ष भी 3अप्रैल से 5अप्रैल तक चलने वाले चैत्र चौदस मेले पर सरस्वती तीर्थ के पवित्र जल मे स्नान कर देश के हर नागरिक को पुण्य का भागीदार बनना चाहिए।
ओंकार ने लोगो को सरस्वती तीर्थ के महत्व के बारे मे जानकारी देते हुए कहा की महाभारत सहित अनेक पुराणों व ग्रंथों में पिहोवा को कुरुक्षेत्र, हरिद्वार, पुष्कर व गया बिहार से भी अधिक महत्व दिया है। भगवान श्रीकृष्ण के कथन पर महाराजा युधिष्ठिर ने महाभारत युद्घ में अपने परिजनों व मारे गए वीरों की आत्मिक शान्ति हेतु यहीं पर क्रियाक्रम, गति व पिंडदान किया था। इसी वजह से देश-विदेश से लाखों लोग अपने संबंधियों की आत्मिक शान्ति व मोक्ष प्राप्ति के लिए यहां आते हैं।इस मौके पर भाजपा नेता कैलाश भगत मां सरस्वती अन्नपूर्णा भंडारा सेवा समितिके सदस्य रोशन लाल गर्ग, रोशन लाल सिंगला, पंकज मित्तल, सुभाष मित्तल, ब्रिज भूषण गर्ग, मोहन लाल सिंगला, योगेश कुमार, शर्मा पवन गर्ग, जयपाल चावला, कुलदीप शर्मा, जयपाल सिंगला, संतलाल सिंगला, पवन राणा बीबीपुर व मां सरस्वती भंडारा मार्केट कमेटी के सदस्य , सुशील सिंगला, बगा सिंह, सुशील गर्ग,
चंनदास कर्नेल सिंह, प्रमोद कुमार, राजू अशोक कुमार, प्रवीण कुमार, सुरेंद्र कुमार, गौरव सिंगला, श्याम सिंगला, बलबीर, विकी, चनालहेडी, बंटी राणा चनालहेडी, साहिल शर्मा, संदीप पांचाल, विशाल दीक्षित, राजेश दहिया, तरुण बंसल, विक्की तंवर आदि सदस्य मौजुद रहे।

Have something to say? Post your comment

More in Literature

मिश्रित फल देगा नव विक्रम सम्वत-2076, होंगे राजनैतिक परिवर्तन मिथुन, तुला और कुम्भ राशि और लग्न वालों को लाभ होगा

सिद्ध श्री बाबा बालक नाथ जी प्रचार समिति फरीदाबाद भजनो भरी शाम बाबा जी के नाम का आयोजन किया

पिहोवा-पितरों की आत्मिक शांति के लिए सरस्वती तीर्थ पर पहुंचने लगे श्रद्धालु

6 अप्रैल से परिधावी नामक नवसंवत 2076 एवं चैत्र नवरात्रि आरंभ

होली आई रे .... होलिका दहन, 20 मार्च की रात्रि 9 बजे के बाद, रंग वाली होली 21 को।

गुरू मां सम्मेलन में मिलती है अनोखी अलौकिक शक्तियां : सुरेंद्र पंवार

खाटू श्याम में बाबा का मेला शुरू, श्याममय हुआ समूचा क्षेत्र, प्रतिदिन गुजरने लगे है श्याम प्रेमियों के जत्थे

शीश के दानी का सारे जग में डंका बाजे ने देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी एक अलग पहचान बनाई - लखबीर सिंह लख्खा

श्रीमद् भागवत कथा का प्रारंभ आज

मदहोश होकर लोग हुए आउट आफ कंट्रोल हरिनाम संकीर्तन में