Thursday, April 18, 2019
BREAKING NEWS
अखबार सप्लायर के साथ मारपीट व लूटपाट कर जान से मारने की धमकीकैथल-जब सिर पर छत ही नहीं रहेगी तो कैसा मतदान, कैसा लोकतंत्र ?चुनाव बहिष्कार की चेतावनीमंडी में गंदगी होने पर गेहूं उतारने में आ रही दिक्कत से परेशान किसानों में भारी रोषभिवानी-महेेंद्रगढ लोकसभा से आरपीआई पार्टी के प्रत्याशी कूंदन चौधरी ने अपना नामाकंन पर्चा दाखिल किया।प्राईवेट बस, ट्राला व कम्बाईन आपस में टकराय ,3 बच्चों सहित लगभग 2 दर्जनों लोग घायल बेटी से बड़ा कोई धन नहीं: गर्ग वर्ष का हर दिन कंजक पूजन के रूप में मनाएं: संदीप गर्गलोकसभा चुनाव से बिजेन्द्र और भव्य हिसार से रख रहे हैं राजनीति में पहला कदमसांसद रमेश कौशिक पत्रकारों और जनता के समर्थन के बिना आप कुछ भी नहीं हो बेशर्म राजनेता -मौतों पर दुःख प्रकट करने की बजाए सेंक रहे है राजीनितिक रोटियां

Business

कैथल आढ़तियों की हड़ताल तुड़वाने के लिए एस डी एम ईशा कम्बोज हुई सक्रिय

April 12, 2019 08:24 PM
राजकुमार अग्रवाल
कैथल आढ़तियों की हड़ताल तुड़वाने के लिए एस डी एम ईशा कम्बोज हुई सक्रिय 
कैथल(अटल हिन्द ब्यूरो )प्रदेश में आढ़तियों द्वारा चल रही हड़ताल को तोडऩे के लिये कैथल की एस डी एम ईशा कम्बोज शुक्रवार को कैथल की अनाज मंडी में आई और किसानों की गेहूं की बोली करवाने के लिये मंडी प्रधान कृष्ण मितल व शमशेर मितल को फोन करके कमेटी में आने को कहा। जिस पर मंडी की एसोसिएशन के दोनों धड़े कमेटी में एस डी एम व अन्य अधिकारियों के सामने ही आपस में भीड़ गये। जिला अधिकारियों ने भी इस गुटबाजी का फायदा उठाना चाहा और चल रही हड़ताल तोडऩे के लिये गेहूं की सरकारी खरीद शुरू करवा दी। गेहूं में तय नमी की मात्रा ज्यादा पाई जाने पर सरकारी एजेंसियां मंडी से खरीद नही सकी। दोपहर बाद भी अधिकारी गेहूं की ढ़ेरियों में नमी की मात्रा देखते रहे, परन्तु नमी ज्यादा पाई गई।   शुक्रवार को कैथल जिले की विभिन्न मंडियों से आये आढ़तियों , प्रधानों व कैथल की नई व पुरानी अनाज मंडी के आढ़तियों की बैठक मंडी स्थित मंदिर में चल रही थी। एकाएक कमेटी के अधिकारियों के द्वारा प्रधान को बोली के लिये कमेटी में बुलाया गया तो शमशेर मितल गुट की ओर जिला अनाज मंडी के प्रधान अश्वनी शोरेवाला अपने गुट के साथ कमेटी में गये। मंडी के दुसरे प्रधान कृष्ण मितल के बाहर होने के कारण उनकी अनुपस्थित में मांगे राम खुरानिया अपने गुट के साथ कमेटी में पहुंचा। जब एस डी एम ईशा कम्बोज ने उनसे मंडी में गेहूं की बोली करवाने के बारे में कहा तो प्रदेश में आन लाइन के  बारे में चल रही हड़ताल के कारण अश्वनी शोरेवाला गुट ने बोली करवाने से जबाव दे दिया, परन्तु मांगे राम ने कहा कि यदि गेहूं की बोली जिला प्रशासन करवाना चाहता है तो जिला प्रशासन करवा ले। बस इसको लेकर दो गुट आपस में भीड़ गये। लगभग आधा घंटा के अंतराल के बाद दोनों गुट बाहर आ गये तो कमेटी चेयर मैन राजपाल तवंर ने कहा कि मंडी में दो गुट है और एसोसिएशन भी दो है। इस पर एस डी एम ईशा कम्बोज ने कहा की उनको इससे क्या। एक प्रधान बोली करवाना चाहते है तो क्यों न बोली शुरू करवाई जाये। इस पर वह सभी एजेंसियों के खरीद अधिकारी व कमेटी सचिव दलेल सिंह के साथ किसानों की फसल की ढेरियों की निलामी करवाने मंडी में गई और चार पांच ढेरियां देखी तो उनमें नमी की मात्रा 13.5 व ज्यादा पाई गई। इस पर उसने कहा कि दोपहर बाद सबकी नमी चैक करना शायद धूप में सुख कर कम हो जाये, परन्तु बाद दोपहर भी बात नही बनी। जिस कारण से आज नमी के चलते किसानों की फसल की निलामी नही हो सकी।

Have something to say? Post your comment

More in Business

10 लाख 35 हजार का चेक बाउंस होने पर 6 महीने की सजा

लाइसेंस रिन्यू नही हुये तो शनिवार 13 अप्रैल से सरकार के खिलाफ कमेटी प्रांगण में अनिश्चितकालीन धरना

टूटे प्रधानगिरी के दो धड़े, उद्योगपत्तियों ने नाथीराम को घोषित किया मंडी प्रधान

लोकसभा चुनाव 2019: वोट डालकर आने पर पेट्रोल पंप पर मिलेगी छूट, जानें पूरा ऑफर

1 रुपये में रेडमी नोट 7 प्रो खरीदने का शानदार मौका

कर्मचारियों की ड्यूटी चुनाव में ,क्या गेहूं की खरीद सीधे हो पाएगी

ओटीटी क्षेत्र में क्षेत्रीय सामग्री की कमी ,दर्शक अब टीवी की तुलना में मीडिया स्ट्रीमिंग पर अधिक समय दे रहे हैं

करोड़ों की जीएसटी की चोरी, कारोबारी गिरफ्तार

फ्री मोबाईल सर्विस कैंप का आयोजन

पतंजलि दूध न बेंचने के लिए दबाव बनाने लगे अमूल दूध वाले