Thursday, January 17, 2019
Follow us on
Literature

प्रभु भक्ति बिना मनुष्य जीवन अधूरा: साध्वी मेरूदेवा

संजय गर्ग | May 23, 2017 06:20 PM
संजय गर्ग
प्रभु भक्ति बिना मनुष्य जीवन अधूरा: साध्वी मेरूदेवा 
हरि कथा से समस्याओं का निराकरण सम्भव
लाडवा, 23 मई (संजय गर्ग): दिव्य ज्योति संस्थान संचालक आशुतोष जी महाराज की परम शिष्या साध्वी सुश्री मेरूदेवा भारती ने कहा कि एस इंसान का जीवन प्रभु भक्ति के बिना अधूरा हैं। 
साध्वी सुश्री मेरूदेवा भारती संस्थान द्वारा आयोजित श्री मद्भागवत कथा के दूसरे दिन की कथा के दौरान अपने प्रवचनों में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि आज की गाथा में भक्त ध्रुव की गाथा का वर्णन करते हुए कहा कि हरियाणा मानव को सुख व आनन्द के मार्ग का अनुगामी बनाने का सर्वोतम माध्यम हैं। उन्होंने कहा कि बिना हरि कथा श्रवण के मनुष्य के भ्रमों का निराकरण नहीं हो सकता और इस भ्रम के कारण ही मनुष्य 84 लाख योनियों में भटकता रहता हैं। पंरतु जीवन में एक संत के प्रवेश मात्र में मुनष्य सारे काकटों से दूर जाता हैं। उन्होंने कहा कि जीवात्मा का वास्तविक कल्याण प्रभु की भक्ति के द्वारा ही सम्भव हैं, जो सत्संग की प्राप्ति के बिना सम्भव नहीं हैं। वहीं साध्वी द्वारा अपनी टीम के साथ गाए गए भजनों पर श्रद्वालु भाव विभोर हो उठे। इससे पूर्व श्री मद्भागवत कथा का विधिवत पूजन मुख्य यजमान समाजसेवी जोगध्यान, मुकेश गर्ग, अनिल माटा, प्रणव बंसल और सुधीर बंसल ने की। वहीं मुख्य संासदीय सचिव हरियाणा श्याम सिंह राणा ने मख्यतिथि के रूप में दीप प्रज्जवलित कर कथा का शुभारंभ कराया। रोजाना की भांति भंडारे की व्यवस्था की गई थी। इस अवसर पर डा. ऋषिपाल, नरेश फौजी, प्रदीप सहित भारी संख्या में श्रद्वालु उपस्थित थे। 
Have something to say? Post your comment
More Literature News
अबकि बार मकर संक्रांति पर्व 14 जनवरी नहीं बल्कि 15 जनवरी को ही मान्य - पं. रामकिशन
सांई के जीवन से साधारण इंसान को अच्छा मनुष्य बनने में प्रेरणा मिलती है : सुमित पोंदा
कैथल में पूजा अर्चना के साथ हुआ श्री साई अमृत कथा का शुभारंभ
बोले सो निहाल-सत श्री अकाल धर्म हेत साका जिन किया, शीश दीया पर सिर न दिया
हजरत इलाही बू अली शाह कलंदर साहिब की दरगाह पर इन्द्री में चल रहें सालाना उर्स मुबारक व भंडारे पर आज एक विशेष शोभा-यात्रा
पूर्वाचलियों को छठ पूजा की बधाई देने आधा दर्जन स्थानों पर पहुंचे मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार
15 नवंबर को मनाया जाएगा शाह कलंदर का सालाना उर्स
5 नवंबर से दीवाली के पंच पर्व आरंभ
बुढ़ापा अनुभवों का वो पीटारा है जो बहुत चोटें खाने के बाद ही मिलता है: अचल मुनि 2
सोनीपत-बाबा जिन्दा मेले में हजारों भक्तों ने माथा टेका