Tuesday, March 26, 2019
BREAKING NEWS
लव-अफेयर गाने का केस बना विवाद , कार्रवाई कैसे हो, पुलिस को धारा नहीं पतामनोहर की चुनावी गूंज, पानीपत की धरती में इस तरह हुआ स्वागतपार्टी उम्मीदवार की मृत्यु के बाद अगर नामांकन वापिस नहीं लिया जाता तो मतदान की प्रक्रिया स्थगित कर दी जाएगी।हरियाणा विधानसभा में नेता विपक्ष को लेकर कांग्रेस में गुटबंदी , किरण व कुलदीप सहित कई दावेदारगांव झुम्पा कलां का है मामला, ग्रामीणों का मर चुका जमीरवैश्य समाज ने फरीदाबाद से भी माँगी भाजपा की टिकटसीएम बनाओगे तो लडूंगा चुनाव -बीरेंद्र फरीदाबाद औषधि नियंत्रण विभाग ने छापा मारकर अवैध मेडिकल स्टोर का पर्दाफाश किया नोटबंदी और जी.एस.टी. ने देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ी : अजादकरनाल मेरठ रोड पर दर्दनाक सड़क हादसा,2 की मौत

Business

हत्या के मामले में दो आरोपियों सहित 6 को उम्र कैद की सजा

May 30, 2017 09:00 PM
एएच ब्यूरो
हत्या के मामले में दो आरोपियों सहित 6  को उम्र कैद की सजा
आरोपियों पर लगाया गया छह लाख रुपये का जुर्माना
जुर्माना ने देने पर तीन माह की अतिरिक्त सजा
नूंह: छह साल पुराने हत्या के एक मामले में 2 महिलाओं सहित 6 लोगों को दोषी ठहराते हुए नूंह अडिशनल सेशन जज शशि चौहान ने उम्र कैद की सजा सुनाई है। सभी दोषियों को छह लाख रुपये जुर्माना भी भरना होगा। जुर्माना न भरने की स्थिति में दोषियों को तीन माह की अतिरिक्त कारावाज की सजा भी भुगतने होगी। सजा सुनाए जाने के बाद सभी दोषियों को भोंडसी जेल भेज दिया गया है। छह साल बाद हत्या के मामले में न्याय मिलने के बाद जहां पीडित पक्ष ने अदालत का आभार जताया है। वहीं दोषी पक्ष ने सजा से असहमति जताते हुए आदेश की अपील करने की बात कही है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक 23 जून 2011 को फिरोजपुर झिरका के गांव नांगल मुबारिकपुर निवासी नूरुद्दीन पुत्र सुभान ने पुलिस को शिकायत दी कि उसने अपनी दो लड़कियों शबनम तथा शकूनत की शादी 22 जून 2011 को फिरोजपुर झिरका के गांव दोहा निवासी साजिद व इरशाद के साथ की थी। दोनों लडकियों का निकाह 22 जून को दोपहर दो बजे पूरे रीति रिवाज के साथ किया गया। जिसके बाद दोनों लडकियों को शाम साढ़े पंाच बजे विदा कर दिया गया। रात आठ बजे तक दोनों लडकियां दोहा अपने ससुराल में पहुंच गईं। लडकी के पिता ने आरोप लगाया कि उसकी लडकी शबनम को 22 जून की रात को आरोपियों ने मार दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि मृतक लडकी शबनम की गर्दन पर भी मारने के निशान मौजूद थे। उन्होंने पुलिस से मांग की कि उक्त मामले की पूरी जांच की जाए तथा आरोपियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया जाए। पुलिस ने मामले को प्रथम दृष्टया संदेहजनक मामते हुए मृतक शबनम की 174 सीआरपीसी के तहत कार्रवाई कर शव को जिला अस्पताल मांडीखेडा भिजवा दिया। जहां 24 जून को शव का पोस्टमार्टम किया गया। डाक्टरों द्वारा दी गई पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस द्वारा दो महिलाओं सहित सात लोगों साजिद, इरशाद, जमीला, असमीना, जुहुरुद्दीन, ताहिर तथा हासम को आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया। मामले की जांच के दौरान 15 जुलाई 2011 को आरोपियों को अरेस्ट किया गया। ट्रायल के दौरान फाईल आए सबूतों व गवाहों के आधार पर नूंह की अडिशनल सेशन जज शशि चौहान ने आरोपी हासम को बरी कर दिया, जबकि अन्य छह आरोपियों को आईपीसी की धारा 302 के तहत दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई। प्रत्येक दोषी पर एक-एक लाख जुर्माना भी लगाया गया।

Have something to say? Post your comment

More in Business

फ्री मोबाईल सर्विस कैंप का आयोजन

पतंजलि दूध न बेंचने के लिए दबाव बनाने लगे अमूल दूध वाले

बगैर लाईसैंस गोदाम में रखे थे 595 बैग यूरिया, कृषि विभाग ने किया सील

आठ करोड़ का देनदार एक्सपोर्टर काबू ,जेल भेजा

कृष्ण मित्तल ने सुरेश चौधरी को हरा कर नई अनाज मंडी कैथल की प्रधानगी मिली

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने किसानों का आह्वान किया कि सभी किसान प्रकृति से जुड़े और प्राकृतिक खेती को अपनाएं

आईटीआई पास छात्रों का 8 मार्च को होगा आईटीआई उमरी में कैम्पस साक्षात्कार का आयोजन 

सीए डी.सी.गर्ग चार्टर्ड एकाउटेन्टस की फरीदाबाद शाखा के चेयरमैन नियुक्त

बजट में सभी का ख्याल रखा गया है: राजन मुथरेजा

बजट की पक्ष ने की सराहना तो विषक्ष ने नकारा