Sunday, March 24, 2019
BREAKING NEWS
10 के सिक्के नहीं लेने पर एफआईआर—-आरबीआई के टोल फ्री नंबर 144040फरीदाबाद पहुंचे प्रदेश के मुख्य चुनाव आयुक्त -लोकसभा चुनाव को लेकर अधिकारियों के साथ की समीक्षा दो दिवसीय वॉलीवाल प्रतियोगिता के पहले दिन लडकियों की प्रतियोगिता करवाईजिला अस्पताल में पड़पते आदमी की आवाज बनी कमला यादव, लेकिन उसके बाद क्या ?कुताना--शवों को रखकर धरना-प्रदर्शन करते हुए रिफाइनरी अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कीविकास उर्फ पिंटू हत्याकांड :- आज तक भी नही थमे परिजनों के आंसू, रो-रोकर पत्नी का भी हाल बेहालहर व्यक्ति में देश के प्रति सच्चा जनून होना चाहिए :-राजेश वशिष्ठ कुलदीप बिश्रोई की गैर-मौजूदगी सेचली भाजपा में जाने की चर्चाएंलिंग जांच की सूचना दे, दो लाख का ईनाम लेबिना दहेज केवल 1 रुपया लेकर भाजपा नेत्री के बेटे ने कर ली शादी

Entertainment

चार माह तक नही गूंजेेंगी शहनाइयां

July 03, 2017 09:13 PM
एएच ब्यूरो

चार माह तक नही गूंजेेंगी शहनाइयां
( पोहड़का)

ऐलनाबाद
इस वर्ष मांगलिक कार्यों की खूब धूम रही। जून माह मेेंं सबसे अधिक विवाह हुए है। जुलाई में विवाह के कार्यक्रम देवशयनी से पूर्व तक रहेंगे। ऐसे मेंं विवाह के कार्य तीन दिन शेष है। इस के बाद देवउठनी ग्यारस तक मांगलिक कार्यो मेंं विराम लग जाएगा। पंडित रामरतन सारस्वा एवं पंडित महावीर शर्मा ने बताया कि देवशयनी एकादशी चार जुलाई को है। इसके साथ ही मांगलिक कार्यक्रमों पर विराम लग जाएगा। इस दिन विशाखा नक्षत्र, सिद्ध योग मेंं तुला, वृृश्चिक के मध्य से वृश्चिक राशि मेंं गमन चन्द्र मेेंं विष्णु शयनोत्सव होगा। क्षीर सागर मेंं चार मास तक विष्णु भगवान विश्राम के लिए जाएंगे। इसके साथ ही सभी देवी देवता भी विश्राम करेंगे। उन्होंने बताया कि ऐसी मान्यता है कि देवशयन के दौरान प्रभु विश्राम करते है। किसी भी शुभ व मांगलिक कार्यक्रम मेंं देवी-देवताओं की उपस्थिति से कार्य की सम्पन्नता मानी जाती है। इस लिए देवशयन में कार्यक्रम नहीं किए जाते। 31 अक्टूबर को देवउठनी एकादशी के दिन भगवान जागेगें। इस चार माह में मांगलिक व शुभ कार्य वर्जित होगें। इस दौरान पूजन भजन कीर्तन एवं कथाश्रवण का विशेष महत्व माना जाता है। इस समय भगवान की कथा के कार्यक्रम होगें। उन्होंने बताया कि इन चार माह में श्रावण मास मेंं शिव पूजन इसके बाद जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी, नवरात्रि जैसे महत्वपूर्ण पर्व व त्योहार मनाए जाएंगे।
बॉक्स:-
नवंबर व दिसंबर में है ये सावे :-
देवउठनी एकादशी के बाद वैवाहिक कार्यक्रम पुन: शुरू हो जाएंगे। इस वर्ष के अंतिम दो माह मेें भी खूब शहनाइयां बजेंगी। नवंबर में छह 19, 20, 23, 28 एवं 29 तथा दिसंबर मेंं सात 3, 4, 8, 9, 10, 11 एवं 12 विवाह के मुहुर्त है। इन तिथियों मेंं विवाह के कार्यक्रम होगें।

Have something to say? Post your comment

More in Entertainment

बिना दहेज केवल 1 रुपया लेकर भाजपा नेत्री के बेटे ने कर ली शादी

स्टूडेंट बिना बुलाए शादी या पार्टियों में खाना खाने पहुंचे तो कार्रवाई होगी

दो युवतियों ने आपस में समलैंगिक शादी

प्रयास मैंटली चिल्ड्रन स्कूल एंव ओपन शैल्टर होम मेंहोली उत्सव मनाया

होली खुशी और रंगों का त्यौहार, मनाएं सादगी से : उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी

युवा बोले : जोर जबरदस्ती नही बल्कि प्यार और शालीनता का त्यौहार है होली

देवर-भाभी के रिश्तो की मिठास का प्रतीक होली,

जीवीएम में बरसे होली के रंग, छात्राओं संग शिक्षिकाएं हुई रंगों से सराबोर

कवि कुमार विश्वास ने खूब कसे नेताओं पर व्यंग

रोहतक में चल रहा था सैक्स रकेट,विदेशी युवती सहित 5 गिरफ्तार