Thursday, January 17, 2019
Follow us on
Literature

6 दिवसीय महाशिवपुराण कथा का हुआ शुभारंभ

संजय गर्ग | August 01, 2017 05:54 PM
संजय गर्ग
6 दिवसीय महाशिवपुराण कथा का हुआ शुभारंभ 
शंकर भगवान भोले भंडारी हैं: पराशर
लाडवा, 1 अगस्त(संजय गर्ग): लाडवा-पिपली मार्ग पर स्थित बाबा बंसी वाला वृद्वाश्रम एवं अन्नक्षेत्र में 6 दिवसीय महाशिवपुराण कथा का आयोजन अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन की महिला विंग एवं नपा उपाध्यक्ष अनिल माटा के सहयोग से शुरू हुआ। जिसका विधिवत पूजन नगरपालिका के उपाध्यक्ष अनिल माटा एवं उनकी पत्नी सरीता माटा एवं महिला मंडल की प्रधान संतोष गुप्ता ने किया। 
महाशिवपुराण कथा के प्रसिद्व कथावाचक राजेन्द्र पराशर ने अपने प्रवचनों में कहा कि भगवान शंकर को श्रावण मास अति प्रिय है। इसलिए कावड़िए अनथक प्रयासों से नीलकंठ व हरिद्वार से गंगाजल लाकर अपने-अपने गांवो व शहरों  के शिव मंदिरों में शिवलिंगो पर जलाभिषेक करते हैं। उन्होंने कहा कि भगवान शिव शंकर बहुत ही सरल व भोले स्वरूप के देवता हैं। इसलिए वह यदि कोई थोड़ी सी भी उनकी अराधना करे तो वह जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। वहंी उन्होंने सरस तथा संगीतमयी कथा करते हुए। 18 पुराणों का उल्लेख करते हुए महाशिवपुराण की महिमा व महत्व का वर्णन किया। इस अवसर पर वृद्वाश्रम के प्रधान अशोक पपनेजा, महेश कांत, जसवंत अरोड़ा, सुभाष जिंदल, जगदीश प्रजापत, ममता अरोड़ा, संतोष गुप्ता सिंघल, शिल्पी गुप्ता, कौशल सिंगला, शशि गोयल सहित अनेक श्रद्वालु उपस्थित थे। 
Have something to say? Post your comment
More Literature News
अबकि बार मकर संक्रांति पर्व 14 जनवरी नहीं बल्कि 15 जनवरी को ही मान्य - पं. रामकिशन
सांई के जीवन से साधारण इंसान को अच्छा मनुष्य बनने में प्रेरणा मिलती है : सुमित पोंदा
कैथल में पूजा अर्चना के साथ हुआ श्री साई अमृत कथा का शुभारंभ
बोले सो निहाल-सत श्री अकाल धर्म हेत साका जिन किया, शीश दीया पर सिर न दिया
हजरत इलाही बू अली शाह कलंदर साहिब की दरगाह पर इन्द्री में चल रहें सालाना उर्स मुबारक व भंडारे पर आज एक विशेष शोभा-यात्रा
पूर्वाचलियों को छठ पूजा की बधाई देने आधा दर्जन स्थानों पर पहुंचे मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार
15 नवंबर को मनाया जाएगा शाह कलंदर का सालाना उर्स
5 नवंबर से दीवाली के पंच पर्व आरंभ
बुढ़ापा अनुभवों का वो पीटारा है जो बहुत चोटें खाने के बाद ही मिलता है: अचल मुनि 2
सोनीपत-बाबा जिन्दा मेले में हजारों भक्तों ने माथा टेका