Friday, January 18, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
घरौंडा में अविश्वास प्रस्ताव के 15 दिन बाद आज पत्रकारों के समक्ष रूबरू हुए नगरपालिका प्रधान। कमीशनखोरी के चक्कर में टैंडर के बावजूद भी शुरू नही हो रहे काम तरावड़ी मेंकन्या जन्म पर नांगलमाला में किया गया कुआं पूजन कार्यक्रम का आयोजनसमाजसेवी व पत्रकार प्रिंस लाम्बा ने गौशाला में सवामणी लगा मनाया अपना 16वां जन्मदिनभूपेंद्र हुड्डा जींद के चुनावी मैदान में दिखे सुरजेवाला के साथ ,चुनाव प्रचार भी किया तरावड़ी में सप्ताह में घटी चौथी चोरी की वारदात, पुलिस नाकामअमेठीः खेममऊ ग्रामसभा में समाजवादी कार्यकर्ताओं ने लगाया चौपालघरौंडा -असन्तुष्ट 7 पार्षद आज एसडीएम घरौंडा से आगामी कारवाही के लिए मिले।
Sports

कैथल,पीने के पानी को तरस रही हैं कबड्डी में सोना जीतने वाली बेटियां !

कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट | April 20, 2018 04:24 PM
कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट

कैथल,पीने के पानी को तरस रही हैं कबड्डी में सोना जीतने वाली बेटियां !

जहां खिलाड़ी खेल का अभ्यास करती है वह ग्राउंड भी पूरी तरह से है बदहाल

डीसी को सौंपेंगे ज्ञापन, समस्या का समाधान नहीं हुआ तो उठाएंगे कठोर कदम

कैथल, 20 अप्रैल (कृष्ण प्रजापति): राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर कबड्डी में सोना जीतने वाली बेटियां पीने के पानी को तरस रही हैं। पाई गांव के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में ग्राउंड के गेट पर ताला लगा रहने के कारण पड़ोसियों के घर से पानी लाना पड़ता है। जिस ग्राउंड में बेटियां अभ्यास कर रही हैं, वह भी ऊबड़-खाबड़ है।
खिलाड़ियों ने बताया कि वह कई बार विद्यालय गेट पर ताला खुलवाने को लेकर स्कूल प्रिंसीपल से मिल चुके हैं, लेकिन उनकी ओर से इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

बॉक्स--डीसी को दिया जाएगा ज्ञापन

कबड्डी खिलाड़ियों ने बताया कि 27 अप्रैल को डीसी सुनीता वर्मा गांव में रात्रि ठहराव कार्यक्रम में आ रही है। पीने के पानी और खेल मैदान में आ रही दिक्कतों को लेकर डीसी को मांग पत्र दिया जाएगा।

नहीं मिल रहा पानी

खिलाड़ी नर्मता ने बताया कि खेल मैदान में पानी की बेहद गंभीर समस्या है। इससे लड़कियों को अभ्यास करने में काफी दिक्कत आती है। उनकी मांग है कि मैदान में खिलाड़ियों को पीने के पानी की सुविधा दी जाए। इसके अलावा मैदान को भी समतल करने की आवश्यकता है

ग्राउंड की मिले सुविधा

खिलाड़ी निशू ने बताया कि गांव में 100 के करीब बेटियां खेलती है। खेल का मैदान नहीं है। जिस मैदान में अब अभ्यास कर रही हैं वहां चाहर-दीवारी तक नहीं है।

टूटा पड़ा है रास्ता
खिलाड़ी पिंकी ने बताया कि स्कूल को आने वाला रास्ता टूटा पड़ा है। गहरे गड्ढों के चलते हादसे का डर बना रहता है। बरसात के समय काफी दिक्कत आती है।

पीने के पानी की है दिक्कत

कबड्डी खेल प्रशिक्षक राजबीर सिंह ने बताया कि स्कूल में पीने के पानी की सुविधा तो है, लेकिन गेट पर ताला जड़ने के कारण लड़कियों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है।

जहां खिलाड़ी खेल का अभ्यास करती हैं वह ग्राउंड भी पूरी तरह से बदहाल है। तालाब के नजदीक होने के कारण बदबू आती है। इसके अलावा आसपास की गंदगी यहीं पर ही डाली जा रही है। इसके अलावा खिलाड़ियों को उबड़ खाबड़ मैदान में अभ्यास करने में दिक्कतें उठानी पड़ रही है। इसके बावजूद खिलाड़ी खेल की तैयारी में पूरी एकाग्रता के साथ जुडी़ं हुईं हैं। अभी तक जितना ग्राउंड तैयार किया गया है उसमें भी कोच की अहम भूमिका रही है।

Have something to say? Post your comment
More Sports News
रेनू ने राष्ट्रीय जूडो प्रतियोगिता में जीता रजत पदक
21वीं नार्थ इंडिया बॉक्सिंग चैंपियनशीप में सतनाली के खिलाड़ी विकेंद्र ने जीता गोल्ड मेडल
दिवेश ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए ओपन वेट पुरुष वर्ग में रजत पदक प्राप्त किया
नई खेल नीति से मिला युवाओं को प्रोत्साहन- मनोहर लाल
बालू गांव में कबड्डी टूर्नामेंट का हुआ आयोजन, अनीता ढुल बढसिकरी ने किया शुभारंभ
संस्था का मुख्य लक्षय शिक्षा व खेलों के स्तर को उच्चा उठाना- डॉ महेन्द्र सिंह मलिक
पाई की बेटियों का राष्ट्रीय स्कूली कबड्डी प्रतियोगिता के लिए हरियाणा की टीम में चयन
किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता में रजत पदक विजेता तनिष्क वालिया का गांव फतेहपुर में पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत
खेलों से व्यक्ति का सर्वांगीण विकास होता : राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य
हरियाणा प्रदेश सरकार की खेल नीति का अनुसरण दूसरे प्रदेशों की सरकारें भी कर रही हैं-मुख्यमंत्री