Atal hind
करनाल क्राइम हरियाणा

अभी नहीं पता कितने माह का है गर्भ

तरावड़ी में सौतेले पिता ने बेटी से दुष्कर्म कर किया गर्भवती।
– गर्भवती किशोरी को तरावड़ी थाने लेकर पहुँचे रिश्तेदार।
– तरावड़ी पुलिस ने दर्ज की जीरो एफ.आई.आर, अब पानीपत पुलिस कर रही जांच।
taraori, 3 अक्तूबर (रोहित लामसर)। कस्बा तरावड़ी के थाने में बाप-बेटी के रिश्ते को तार-तार करने का एक मामला सामने आया। तरावड़ी पुलिस ने इस मामले में जीरो एफआईआर दर्ज करके मामला पानीपत भेज दिया है। अब मामले की जांच पानीपत पुलिस कर रही है। जानकारी के अनुसार पानीपत के सेक्टर-29 थाना क्षेत्र स्थित एक गांव की 15 साल की किशोरी को उसके सौतेले पिता ने हवस का शिकार बनाया आरोपित पिता छह माह तक किशोरी से दुष्कर्म करता रहा, जिस कारण वह गर्भवती हो गई। जब करीब 4 दिन पहले पिंडिता तरावड़ी रेलवे स्टेशन के पास अपनी रिश्तेदारी में पहुँची तो इसकी भनक उन्हें लग गयी। फिर पीड़िता ने आपबीती चाची और सौतेले भाई को बताई तो स्वजनों ने आरोपित पिता के खिलाफ तरावड़ी थाने में जीरो एफआइआर दर्ज कराई। यहां से मामला पानीपत भेज दिया गया। अब स्थानीय पुलिस आरोपित की तलाश में जुट गई है।

बॉक्स
स्वजनों ने बताया कि आरोपित पिता थाना क्षेत्र स्थित एक फैक्ट्री में पट्टे बनाने का काम करता है। मां की मौत के बाद आरोपित को खाना बनाने में परेशानी हुई तो सालभर पहले किशोरी को अपने पास ले आया। छह माह पहले आरोपित पिता ने किशोरी को तंग करना शुरू किया तो किशोरी नानके जाने की जिद करने लगी। आरोपित ने किशोरी को कमरे में बंद कर उसके साथ दुष्कर्म किया। फिर आरोपित बार-बार उसके साथ दुष्कर्म करने लगा। किशोरी ने किसी तरह तरावड़ी पहुंच पहले चाची और फिर सौतेले भाई को पिता की हैवानियत से अवगत कराया।

बॉक्स
अभी नहीं पता कितने माह का है गर्भ :- हैवानियत का शिकार हुई किशोरी को ये नहीं मालूम था कि वह गर्भवती हो चुकी है। पुलिस ने शुक्रवार को मेडिकल कराया तो किशोरी गर्भवती मिली। फिलहाल गर्भ कितने माह का है, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। स्वजनों ने जल्द आरोपित को गिरफ्तार करने की मांग की है।

वर्जन
पिंडिता के स्वजन तरावड़ी थाने में शिकायत लेकर पहुँचे थे। मामले की पूरी जानकारी लेने के बाद तरावड़ी थाना क्षेत्र में जीरो एफआईआर दर्ज करने के बाद मामले को पानीपत भेज दिया गया। इस मामले की जांच पानीपत पुलिस कर रही है।

– इंस्पेक्टर सचिन।
– थाना प्रभारी तरावड़ी।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

चिकित्सा सुविधा को लेकर हरियाणा की जनता चिंता ना करे ,क्योंकि हरियाणा में गठबंधन सरकार है। 

admin

नया मोड़ -यूनिवर्सिटी के वीसी सहित अधिकारियों पर दर्ज मामले में फार्मासिस्ट ने पुलिस पर लगाया आरोप

admin

कैथल जिला में अब तक 2 करोड़ 64 लाख रूपए की आर्थिक सहायता दी जा चुकी है : डीसी 

admin

Leave a Comment

URL