AtalHind
गुरुग्राम हरियाणा

आखिर कौन है विकास और सुविधाओं का दुश्मन

आखिर कौन है विकास और सुविधाओं का दुश्मन

शौचालय, पानी की टंकी, कुर्सी, सौफा बैंच, सौर लाईटें तहशनैश

हैरान करने वाली घटना फर्रूखनगर क्षेत्र के गांव मुसैदपुर की

Advertisement

फतह सिंह उजाला
पटौदी। 
जहां एक ओर देहात के लोग विकास नहीं होने को लेकर अपने जनप्रतिनिधियों को कोसने पर मजबूर हो रहे है , वहीं गांव मुशैदपुर में इसके विपरित हो रहा है। हुआ यू कि शुक्रवार-शनिवार की रात्रि गांव के विकास विरोधी असमाजिक तत्तों ने  पंचायत फंड व सरकार की अन्य योजनाओं के तहत कराये गए विकासात्मक काम पर तोड़फोड़ का तांडव किया।

विकास विरोधी तत्वों ने सरपंच रचना यादव द्वारा लगवाए गए दो प्लास्टीक के शौचालय, 500 लीटर पानी की टंकी, उसका स्टेंड, आधा दर्जन प्लास्टीक की कुर्सी, 3 सिमेंट से बने सौफा बैंच, 15 सौर उर्जा लाईटों की बैटरी, पैनल को न केवल तोड दिया गया बल्कि सड़क के बीच फैंक कर विकासकारी योजनाओं को नकार दिया। इस प्रकार की घटना की गांव व गुहांड में कडे शब्दों में निंदा की जा रही है। पुलिस ने एसईपीओ सुरजीत सिंह द्वारा दी गई शिकायत पर मौका मुआयना करके जांच शुरु कर दी है।

Advertisement

सरपंच रचना यादव, समाजसेवी धर्मेंद्र यादव ने बताया कि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान जिला गुरुग्राम का सबसे सुंदर और स्वच्द गांव बनाने के लिए सांसद, विधायक के अलावा सरकार कि विभिन्न योजनाओं के तहत गांव के मुख्य मार्ग से काबली कीकर कटवा कर सड़क के दोनों छोर पर फूलदार पेड पौधे लगाए, पीने के पानी, शौचालय, ग्रामीणों के बैठने के लिए सिमेंट कर कुर्सीयां, रात्रि के समय दुधिया प्रकास के लिए सौर उर्जा सें संचलित स्र्टीट लाईटे लगाई और कार्यकाल समाप्त होने के उन्होंने सपने में भी नहीं सौंचा था कि जिस विकास कार्य को देख कर इलाके के ही नहीं पूरे जिले में मिशाल दी जाती थी आज उसकी गांव के असमाजिक तत्व विकास के नाम पर किए गए कार्यों और सुविधाओं को इस प्रकार नैस्ताबून कर देंगे। उन्होंने बताया कि असमाजिक तत्तवों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाने के लिए उन्होंने बीडीपओ कार्यालय , थाना फर्रुखनगर को सूचना दे दी थी। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने जांच के बाद कार्रवाई शुरु कर दी।

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

पीके दास ने  14 शिकायतों में से 11 शिकायतों का किया निपटारा किया 

admin

हरियाणा सरकार को खोरी गांव के एक लाख निवासियों को क्यों बेदखल नहीं करना चाहिए

admin

दिव्यांग बच्चों के लिए आयोजित शिविर में हुई धांधली की निष्पक्ष जांच हो – विकलांगता आयुक्त

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL