आजाद प्रत्याशी संदीप ओंकार के ऐजेंटों ने लगाया इवीएम मशीनों से छेड़छाड़ व पुलिस द्वारा उनके साथ मारपीट का आरोप

आजाद प्रत्याशी संदीप ओंकार के ऐजेंटों ने लगाया इवीएम मशीनों से छेड़छाड़ व पुलिस द्वारा उनके साथ मारपीट का आरोप
पिहोवा 24 अक्टूबर
विधानसभा चुनावों को लेकर कुरूक्षेत्र रोड स्थित निजी स्कूल में चल रही मतगणना के दौरान आजाद प्रत्याशी के ऐजेंटों द्वारा ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ के मामले में विरोध करने पर पुलिस द्वारा उनके साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है। काबिलेगौर है कि लगभग दो वर्षों से अंतर्राष्ट्रीय जय ओंकार सेवाश्रम संघ के अध्यक्ष संदीप ओंकार भाजपा की टिकट की चाहत में पिहोवा हल्के में प्रचार प्रसार कर रहे थे, लेकिन ऐन मौके पर भाजपा द्वारा पिहोवा से अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी संदीप सिंह को टिकट देने के कारण उन्होने पार्टी से बगावत कर दी और अपने कार्यकर्ताओं की मीटिंग में आजाद प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लडऩे का निर्णय किया। कुरूक्षेत्र रोड स्थित एक निजी स्कूल में मतगणना चल रही थी जहां पर आजाद प्रत्याशी संदीप ओंकार के ऐजेंट भी मौजूद थे। लेकिन मतगणना के दौरान मीडिया कर्मिंयों को दूर रखा गया जिसका मीडिया ने खुलकर विरोध भी जताया। मतगणना केंद्र में एजेंट के तौर पर मौजूद लक्की अरोड़ा ने पत्रकारों को बताया और आरोप लगाया कि मतगणना के दौरान इवीएम मशीनों की सील टूटी हुई थी, जिस कारण उन्होंने ऐतराज जताया और मीडिया के सामने इसकी जांच करने के लिए कहा, लेकिन अधिकारियों ने उनकी एक ना सुनी बल्कि उनके इशारे पर सुरक्षा कर्मियों ने उनके साथ मारपीट की तथा उन्हें बाहर ले आए। जब मीडिया के सामने भी आजाद प्रत्याशी के ऐजेंटों के साथ जबरदस्ती की जा रही थी तो ये सब मीडिया के कैमरे में कैद हो गया। पुलिस की मौजूदगी में भी लक्की अरोड़ा ने आरोप लगाया कि सरेआम मतगणना के दौरान अनियमितताएं दिखाई दे रही थी और पोलिंग मशीन की सील टूटी हुई थी। जब उन्होने ऐतराज किया तो मौजूदा अधिकारियों ने इस मामले की जांच नहीं की और जब उन्होंने इस मामले को लेकर विरोध जताना शुरू किया तो सुुरक्षा कर्मियों ने उन्हे धक्के मारे और उनसे मारपीट करते हुए उन्हें बाहर ले आए और जबरदस्ती पुलिस जिप्सी में बिठाकर मतगणना स्थल से दूर ले गए। आजाद प्रत्याशी संदीप ओंकार के कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों के इस रवैये पर गहरा रोष व्यक्त किया और अधिकारियों व स्थानीय प्रशाासन के भाजपा सरकार के साथ मिलीभगत होने का आरोप लगाया और इसकी जांच की मांग की। खबर लिखे जाने तक पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई थी।पुलिस अधीक्षक पहुंची मौके पर पहुंची और हालात का जायजा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: