Atal hind
Uncategorized

आरोपी की माँ ने कही बड़ी बात -डॉक्टर प्रियंका हत्याकांड में मेरा बेटा दोषी है तो उसे कड़ी सजा मिलनी चाहिए 

हैदराबाद रेप और मर्डर केस में बड़ा खुलासा, आरोपियों की मां ने की ये बड़ी मांग
हैदराबाद(atal hind)हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस ने बुधवार को 22 साल की पशु चिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में शुक्रवार को चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि चारों दरिंदों ने प्रियंका रेड्डी को योजना बनाकर मारी है। बता दें कि गवाहों और सीसीटीवी के विवरण एकत्र करने के लिए 10 टीमों का गठन किया गया था। मामले में सभी आरोपियों के मां ने एक सूर अलापा है। तथा कड़ी सजा की मांग की है। प्रियंका रेड्डी की हत्या कैसे की गई है, अगर वैसी ही सजा मेरे बेटे की भी दी गई तो मुझे कोई गम नहीं है। आरोपी चेन्नकेशवुलु की मां जयम्मा ने मीडिया से यह बात कही।

बहरहाल, आरोपियों के कबूलनामे और एकत्र किए गए सबूतों के आधार पर, यह पता चला है कि युवती लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को जला दिया गया है। हिरासत में लिए गए लोगों में एक ट्रक ड्राइवर और एक क्लीनर शामिल हैं। पुलिस आयुक्त वी सी सज्जनर ने पत्रकारों से कहा कि चार आरोपियों ने बुधवार की शाम छह बजे पीड़िता को अपना दोपहिया वाहन शमशाबाद के तोंदुपल्ली टोलगेट में पार्क करते हुए देखा, उसी समय सभी ने अपराध करने की योजना बनाई थी। अपनी योजना के अनुसार, उन्होंने जानबूझकर पीड़िता की स्कूटी के पिछले टायर से हवा निकाल दी और उस समय सभी आरोपी नशे में थे।वहीं, सीसीटीवी विश्लेषण और चश्मदीद गवाहों की मदद से पुलिस ने इस जघन्य कांड से पर्दा उठाया है। आरोप है कि इन चारों ने मिलकर पशु चिकित्सक की हत्या से पहले उनके साथ सामूहिक बलात्कार भी किया।
पुलिस ने कहा कि अभियुक्तों को अधिकतम सजा दिलाने और उनके खिलाफ तेजी से मुकदमा चलाने के लिए महबूबनगर फास्ट-ट्रैक अदालत को मामला सौंपने का अनुरोध किया जाएगा। सभी आरोपी नारायणपेट जिले के मकतल मंडल के निवासी हैं

आपको बता दें कि वेटरनरी डॉ प्रियंका रेड्डी की हत्या के बाद पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया गया और जारी है। साथ ही प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाये। इसी क्रम में आरोपियों की मां ने बलात्कार और हत्या की घटना पर संदेह भी व्यक्त किया है। उन्होंने भी गांव वालों के साथ रास्ता रोको भी किया। इस आंदोलन में गांव के लोग और आरोपियों की माताओं ने भी भाग लिया। जब पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करके ले जा रही थी, लोगों ने रास्ता रोक फांसी की सजा की मांग कर रहे थे, लोगों में इतना आक्रोश था कि लोग रास्ता रोक खुद आरोपियों की जान लेने तक तूल गए थे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL