Atal hind
Uncategorized

उम्मीदवार को नामाकंन पत्र भरने से पहले अलग से बैंक खाता खुलवाना अनिवार्य :  ए.के.दास

उम्मीदवार को नामाकंन पत्र भरने से पहले अलग से बैंक खाता खुलवाना अनिवार्य :  ए.के.दास
कैथल, 27 सितंबर ( ) खर्च पर्यवेक्षक ए.के.दास ने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। विधानसभा चुनाव प्रचार में उम्मीदवार 28 लाख रुपए तक खर्च कर सकता है। चुनाव लडऩे वाले सभी उम्मीदवारों को नामांकन पत्र भरने से पहले अलग से बैंक खाता खुलवाना अनिवार्य होगा और चुनाव से संबंधित हर प्रकार का खर्च इसी खाते से करना होगा। उम्मीदवार द्वारा 10 हजार रुपए तक नकद खर्च रोजाना किया जा सकता है, इससे अधिक खर्च के लिए पेमेंट चैक के माध्यम से करनी होगी।
खर्च पर्यवेक्षक ए.के.दास लघु सचिवालय स्थित कांफ्रैंस हॉल में चुनाव खर्च आंकलन के लिए बनाई गई सभी टीमों के अधिकारियों व कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। इससे पहले जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने चारों विधानसभा क्षेत्रों के लिए बनाई गई सहायक खर्च पर्यवेक्षक, वीडियो सर्विलैंस टीम, वीडियो व्यूविंग टीम, फ्लाईंग स्कवायड टीम आदि की विस्तृत जानकारी दी। खर्च पर्यवेक्षक ए.के.दास ने नामांकन पत्र दाखिल करते समय उम्मीदवार को खर्चा रजिस्टर दिया जाएगा, जिसमें उम्मीदवार द्वारा किए गए खर्च को दर्ज करना होगा। चुनाव प्रचार की अवधि के दौरान उम्मीदवार द्वारा 3 बार अपने खर्च के रजिस्टर की पड़ताल करवानी होगी। उन्होंने कहा कि कोई भी उम्मीदवार 50 हजार रुपए से अधिक की नकदी लेकर नही चले। अगर उनके पास इससे अधिक नकदी है तो उससे संबंधित दस्तावेज उनके पास होने चाहिए। चुनावी खर्च एवं मीडिया में विज्ञापन व पेड न्यूज के प्रकाशन इत्यादि पर कड़ी नजर रहेगी। चुनाव प्रचार में उम्मीदवार तथा राजनीतिक दलों द्वारा प्रचार के लिए पम्फलेट, लीफलैट्स इत्यादि सामग्री छपवाई जाती है तो उस पर प्रकाशक तथा मुद्रक की जानकारी दर्ज होनी चाहिए। उन्होंने निर्देश दिए कि एटीएम में नकद धनराशि डालने वाली एजैंसी के ऊपर भी निगरानी रखी जाए। आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. प्रियंका सोनी ने खर्च पर्यवेक्षक को बताया कि जिला में विधानसभा चुनाव को चुनाव आयोग द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशानुसार निष्पक्ष व शांति पूर्वक संपन्न करवाया जाएगा। हर विधानसभा क्षेत्र के लिए 3-3 वीडियो सर्विलैंस टीम बनाई गई हैं और 4 वीडियो व्यूविंग टीम का गठन किया गया है। इसके साथ-साथ 20 नाके लगाए गए हैं, जिसमें से 7 नाके दूसरे राज्यों के सीमा से लगने वाले हैं। इसी प्रकार 12 फ्लाईंग स्कवायड टीम गठित की गई है तथा 4 अकांउटिंग टीम और 4 सहायक खर्च पर्यवेक्षक लगाए गए हैं। मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मोनिटरिंग कमेटी गठित की जा चुकी है, जो निरंतर प्रिंट व इलैक्ट्रोनिक संचार माध्यमों पर कड़ी नजर बनाए हुए है। इसी प्रकार विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर नजर रखने के लिए सोशल मीडिया ट्रैकिंग टीम भी गठित की गई है। चुनाव के दौरान प्रत्याशियों द्वारा किए जाने वाले जनसभा व रैलियों पर वीडियो सर्विलैंस टीम द्वारा निगरानी की जाएगी। इसके बाद वीडियो व्यूविंग टीम खर्च का आंकलन करके निर्धारित किए गए खर्च के हिसाब से संबंधित प्रत्याशी के खाते में जोड़ा जाएगा।
इस मौके पर पूंडरी के रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त उपायुक्त राहुल , कैथल की रिटर्निंग अधिकारी एवं उपमंडलाधीश कमलप्रीत कौर, गुहला की रिटर्निंग अधिकारी एवं उपमंडलाधीश शशि वंसुधरा, कलायत के रिटर्निंग अधिकारी एवं उपमंडलाधीश विवेक चौधरी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेश राविश, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी जसविंद्र सिंह, चुनाव नायब तहसीलदार शमशेर सिंह, राजेंद्र कुमार, सहित अन्य संबंधित अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL