एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत  पंजाब में जहरीली शराब का कहर

Big Breaking : एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत  पंजाब में जहरीली शराब का कहर ,

सीएम ने दिए जांच के आदेश
चंडीगढ़(अटल हिन्द ब्यूरो ) पंजाब में जहरीली शराब पीनी से करीब एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत को गई है। जिसके चलते पंजाब में हाहाकार मंचा हुआ है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद्रर सिंह ने मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं।

Big Breaking:

More than a dozen people die, poisonous liquor in Punjab,

जानकारी के अनुसार, 24 घंटे के दौरान जहरीली शराब पीने से अमृतसर, बटाला, तरनतारन से करीब दो दर्जन लोगों जान गवां चुके हैं।

अमृतसर में 11 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि चार गंभीर हैं। बटाला में 7 लोगों की मौत, जबकि तरनतारन में अब तक चार लोगों की

जान जा चुकी है। तीनों जिलों के इनवेंटिगेशन एसपी जांच करेंगे।

 

कैप्टन ने मामले सख्त आदेश देते हुए कहा कि मामले किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। मामले संबंधित थाने के एसएचओ को निलंबित

कर दिया गया है।

गौरतलब है कि बुधवार को गांव मुच्छल में जहरीली शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो गई थी। मारे गए लोगों के परिजनों ने इस संबंध में

पुलिस को बिना सूचना दिए शवों का अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस को सूचना मिलने के बाद जांच शुरू कर दी गई है।

जानकारी के अनुसार, गांव मुच्छल में जहरीली शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो गई। मृतकों की पहचान दलबीर सिंह, बलविंदर सिंह,

गुरप्रीत सिंह, मंगल सिंह व बलदेव सिंह के रूप में हुई है। पीडि़त परिवारों ने पुलिस को सूचित किए बिना ही शवों का अंतिम संस्कार कर

दिया। साथ ही आरोप लगाया कि गांव के कई घरों में देसी शराब निकालकर बेची जाती है।

 

सब इंस्पेक्टर अनूप सिंह ने बताया था कि पुलिस पीडि़तों के बयान ले रही है। मुच्छल गांव निवासी जागीर कौर ने बताया कि उसका बेटा

गुरप्रीत सिंह पिछले तीन साल से शराब पी रहा था। मंगलवार को उसने काफी शराब पी। देर रात उसकी तबीयत बिगड़ गई। बुधवार को

उसने दम तोड़ दिया। वहीं मंगल सिंह, दलबीर सिंह, बलदेव सिंह और बलविंदर सिंह के स्वजनों ने बताया कि चारों ने मंगलवार को गांव में

ही शराब पी थी। सभी की मौत बुधवार को हुई। पीडि़त परिवारों ने आरोप लगाया कि गांव में अवैध शराब का धंधा पुलिस की मिलीभगत से

चल रहा है। यहां 30 से अधिक घर अवैध शराब का कारोबार कर रहे हैं।पुलिस ने बलविंदर कौर को गिरफ्तार किया है।और  थाना तरसिक्क

के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया है। इस मामले में एसआईटी बनाई गई है, जो सारे मामले की जांच करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Our COVID-19 India Official Data
Translate »
error: Content is protected !! Contact ATAL HIND for more Info.
%d bloggers like this: