Atal hind
टॉप न्यूज़ शिक्षा हरियाणा

ऑनलाइन क्लास की सुविधा दी है वही छात्रों से ट्यूशन फीस वसूल सकते : हाई कोर्ट

ऑनलाइन क्लास की सुविधा दी है वही छात्रों से ट्यूशन फीस वसूल सकते : हाई कोर्ट

चंडीगढ़।(अटल हिन्द ब्यूरो )

निजी स्कूलों (private school)द्वारा फीस वसूले के मामले में हाईकोर्ट(highcourt)ने गुरुवार को साफ कर दिया है कि जिन स्कूलों ने लॉकडाउन के दौरान ऑन-लाइन क्लास की सुविधा दी है सिर्फ वही स्कूल छात्रों से ट्यूशन फीस वसूल सकते हैं, इसके साथ ही हाईकोर्ट ने निजी स्कूलों से पिछले 7 महीनों की बैलेंस शीट वो भी किसी चार्टर्ड एकाउंटेंट से वेरिफाई करवा दो सप्ताह में सौंपे जाने के निजी स्कूलों को आदेश दे दिए हैं। जस्टिस राजीव शर्मा एवं जस्टिस हरिंदर सिंह सिद्धू की खंडपीठ ने यह आदेश सिंगल बेंच के फैसले के खिलाफ पंजाब सरकार सहित अभिभावकों द्वारा दायर अपील पर सुनवाई करते हुए दिए हैं। हाईकोर्ट ने सिंगल बेंच के 30 जून के फैसले में संशोधन करते हुए यह आदेश दिए हैं। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने निजी स्कूलों को यह भी आदेश दे दिए हैं कि वह अपने स्टाफ को चाहे वो रेगुलर हैं या कॉन्ट्रेक्ट पर या ऐड-हॉक पर उन्हें पूरा वेतन दिया जाएगा जो वह 23 मार्च को लॉकडाउन लगाए जाने के दिन से पहले लेते रहे हैं। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने यह भी साफ कर दिया है कि लॉकडाउन के दौरान छात्र स्कूल नहीं गए हैं ऐसे में निजी स्कूल छात्रों से कोई भी ट्रांपोर्टेशन फीस नहीं वसूल सकते हैं। इनकी आदेशों के साथ हाईकोर्ट ने इन सभी अपीलों पर अंतिम सुनवाई किए जाने के लिए इन्हे 12 नवंबर तक स्थगित कर दिया है। जस्टिस राजीव शर्मा ने इन सभी अपीलों पर सुनवाई करते हुए कहा लॉकडाउन के दौरान स्कूलों ने जो सुविधा नहीं दी है उसकी फीस वह कैसे वसूल सकते हैं हाई कोर्ट ने यह आदेश देते हुए साफ़ किया है कि यह आदेश दायर इन अपीलों पर हाई कोर्ट के अंतिम फैसले पर निर्भर होंगी यह आदेश पंजाब और हरियाणा के सभी निजी स्कूलों पर लागू होंगे इससे पहले इन अपीलों पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस की खंडपीठ ने कहा था कि अगर कोई छात्र फीस नहीं जमा करवा पाता है तो स्कूल छात्र का नाम नहीं काटेंगे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

क्या करता बेचारा 5 साल का बच्चा हो रही थी  बेल्ट से पिटाई,  और  नग्न कर जलाया जा रहा था बीड़ी से

admin

haryana- सरकार की अच्छी पहल कोटा से लेकर आया अपने 858 छात्र

Sarvekash Aggarwal

नकली भाभी की एंट्री, पीड़ित के परिवार संग कर रही थी ऐसा काम…!!!

admin

Leave a Comment

URL